अगर आपका पहला बच्चा सिजेरियन आपरेशन कराकर हुआ है और आप दुबारा माँ बनने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आपके मन में कई तरह के सवाल उठ रहे होंगे। सिजेरियन के बाद दुबारा माँ बनने की प्लानिंग करते समय आपके मन में यह सवाल आ रहे होंगे की, आपका दूसरा बच्चा सिजेरियन से होंगा या उसकी डिलीवरी नार्मल होंगी ? दूसरे बच्चे में कितने समय का अंतराल ठीक रहेगा ? आपको किन बातों का खास ख्याल रखना चाहिए और पहली प्रेगनेंसी के समय जिन समस्यों का आपने सामना किया उनसे बचने के लिए इस बार आपने क्या सावधानी बरतनी चाहिए ?

ऐसे कई सवाल आपके और आपके परिवार से जुड़े कई लोगों के मन में आ सकते हैं। प्रेगनेंसी हर माँ-बाप और परिवार के सदस्यों के लिए ख़ुशी का और साथ ही जिम्मेदारी का विषय होता हैं। हमारी कोशिश यही होती है की प्रेगनेंसी के समय और प्रेगनेंसी के बाद माँ और बच्चे का स्वास्थ्य ठीक रहे और उनकी ग्रोथ अच्छी रहे।

पहला बच्चा सिजेरियन से होने के बाद दुबारा माँ बनने की प्लानिंग करते समय उठने वाले सवालों का जवाब निचे दिया गया हैं :
pregnancy-cesarean-normal-diet-delivery-tips-hindi

गर्भवती महिला का आहार कैसा होना चाहिए ?
Diet Tips for Ladies during Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला ने अपने खान-पान में विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस समय समतोल पौष्टिक आहार लेवा आवश्यक होता हैं। आहार में प्रोटीन, फोलिक एसिड और विटामिन अवश्य होना चाहिए। इन तत्वों की कमी से माँ और गर्भ में पल रहे बच्चे को दिक्कत हो सकती हैं।
  • प्रोटीन : दाल, दूध, दही, अंडा, मूंगफली, पनीर अधिक ले। अगर आपको डायबिटीज नहीं है तो रोजाना आप एक रसगुल्ला भी खा सकते हैं। प्रोटीन हाई रिस्क प्रेगनेंसी फैक्टर जैसे की यूटेरस व शारीरिक कमजोरी को दूर करने में अहम भूमिका निभाता हैं। 
  • विटामिन ; विटामिन ए, ई, बी6 के लिए भोजन में हरी पत्तेदार सब्जी, फल और दूध का समावेश करे। 
  • आयरन : पालक, गुड़, मेथी, मूंगफली, बथुआ, तरबूज, ब्रोकोली, सोयाबीन, हरे मटर में आयरन प्रचुर मात्रा में होता हैं। 
  • कैल्शियम : कैल्शियम की पूर्ति दूध और उससे बने पदार्थों से करे। बच्चो के मजबूत हड्डी के विकास के लिए यह जरुरी हैं। 
  • फोलिक एसिड : फोलिक एसिड के लिए अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जी और दालों का समावेश करे। 
  • पानी : प्रतिदिन कम से कम 8 से 10 ग्लास उबला या फ़िल्टर पानी अवश्य पिए। आप घर पर बने हुए ताजे फलों का रस भी पि सकते हैं। जहा तक हो बाहर का पानी न पिए इससे इन्फेक्शन फैलने का खतरा रहता हैं। 
गर्भवती महिला के आहार के विषय में अधिक जानकारी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे - कैसा होना चाहिए गर्भवती महिला का आहार ?

गर्भवती महिला ने अपने आहार में क्या परहेज करना चाहिए ?
Foods to avoid during pregnancy in Hindi

  • गर्भवती महिला ने अपने आहार में पपीता, अनानास, अधिक मिर्च-मसाले वाले पकवान और फास्टफूड से दुरी बनाकर रखना चाहिए। 
  • जो चीजे आपके प्रकृति को सूट न करे ऐसा आहार नहीं लेना चाहिए। 
  • अगर आपका ब्लड प्रेशर सामान्य से अधिक रहता है तो आहार में अधिक नमक वाले पदार्थ जैसे अचार, पापड़, आइसक्रीम, चिप्स और सॉस जैसे पदार्थों को शामिल न करे। 
  • डायबिटीज होने पर मीठी चीजो से परहेज करे। 
  • एक साथ अधिक आहार लेने की जगह हर 2 से 3 घंटों पर हल्का आहार लीजिये। 

गर्भवती महिला ने क्या व्यायाम करना चाहीए? Exercise during pregnancy in Hindi 

  • गर्भावस्था के दौरान मॉर्निंग वाक और योग जैसे हलके व्यायाम करे। 
  • अधिक परिश्रम वाले व्यायाम नहीं करना चाहिए। 
  • ध्यान रखे की अगर आपको अस्थमा, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज,ब्लीडिंग या अन्य कोई परेशानी हैं तो कोई भी व्यायाम शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर की राय अवश्य लेना चाहिए। 

अगर पहला बच्चा सिजेरियन (Cesarean) से हुआ हैं तो क्या दूसरी डिलीवरी भी सिजेरियन ही होगी ? 

अगर आपका पहला बच्चा सिजेरियन से हुआ है और यदि इस डिलेवरी के समय कोई बड़ी दिक्कत नहीं है तो यह डिलीवरी नार्मल हो सकती हैं। लेकिन यदि आपकी पहली दो डिलीवरी सिजेरियन हुई है तो तीसरी डिलीवरी सिजेरियन ही होगी। 

सिजेरियन डिलीवरी करना कब जरुरी होता हैं ?

प्रेगनेंसी के समय महिला या बच्चे को कोई समस्या होने पर सिजेरियन आवश्यक होता हैं। डिलीवरी की तारीख निकलजाना, बच्चे की ह्रदय गति कम होना, गर्भवती शारीरिक रूप से कमजोर होना, ब्लड प्रेशर और यूरिक एसिड का बढ़ जाना, गर्भसथ शिशु के पोजीशन में बदलाव, बच्चे का सामान्य से अधिक वजन या प्लासेंटा का निचे की ओर होना ऐसी समस्या होने पर सिजेरियन करवाना आवश्यक हो जाता हैं। 

पहली डिलीवरी सिजेरियन होने के बाद दूसरी डिलीवरी नार्मल होने के लिए क्या आवश्यक हैं ? Tips for Normal Delivery in Hindi

पहली डिलीवरी सिजेरियन होने के बाद दूसरी डिलीवरी नार्मल होने के लिए निचे दी हुई बातें आवश्यक हैं :
  1. पहले सिजेरियन के बाद इन्फेक्शन न हो 
  2. प्रेगनेंसी में कोई दिक्कत न हो 
  3. सभी प्रकार की जांच नार्मल हो 
  4. बच्चे का वजन 3.5 किलो से अधिक न हो 
  5. महिला की लंबाई 154 सेंटीमीटर से अधिक होना चाहिए 
  6. महिला को अधिक मोटापा नहीं होना चाहिए 
ऊपर दिए हुए बातों के साथ महिला ने गर्भावस्था के समय पौष्टिक आहार और नियमित व्यायाम करना आवश्यक हैं। 

पहली डिलीवरी सिजेरियन होने के बाद दूसरी डिलीवरी प्लानिंग करने में कितना गैप / समय अंतराल रखना चाहिए ?

पहली डिलीवरी सिजेरियन होने के बाद दूसरी डिलीवरी के बिच कम से कम दो से तीन साल का अंतर अवश्य रखना चाहिए। पहला बच्चा सिजेरियन से होने के बाद माँ में शारीरिक कमजोरी आ जाती हैं जिसकी पूर्ति के लिए कम से कम दो साल तक का समय चाहिए। ऐसा करने से पहले बच्चे की परवरिश भी अच्छी तरह से होती हैं।

यह जानकारी हमें स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ निर्मला सिंग ने ईमेल द्वारा भेजी हैं। निरोगिकाया परिवार और हमारे पाठकों की तरफ से उन्हें बहुत-बहुत धन्यवाद। अगर आपके मन में प्रेगनेंसी से जुड़े अन्य कोई सवाल है तो निचे comment में पूछे।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !  
loading...
Labels:

Post a Comment

  1. mam abhi 14 feb 2017 me mujhe operation se ek beti hui thi 5 minute bad vo mar gyi mai bahut hi tension me hu ............janna chahti hu ki mai aur mere pati sexual relation kitne mahine bad bananyen? aur agla baby kb plan karen? plz help me....

    ReplyDelete
    Replies
    1. Anamikaji,
      Aapke sath jo hadsa hua hai uska hame behad dukh hai. Apko abhi complete rest ki jarurat hain. Aap agle baby 6 months ke baad hi plan kare. Itne samay me apko mentally aur physically strong hona chahie. Take care.

      Delete
  2. Namste,
    Meri wife ko 1 July 2017 ki raat ko operation se ladka paida hu tha.or vo death tha,or meri wife ko b.p.high ka problem Hai.to Mene abhi tak use bataya nahi hai k hamara bacha Mar gaya or kaha ke baby abi kach ki peti me hai.to sir me kya Kru please..aap muje bataiye .or kitne saal baad pregnancy rakhne se normal delivery mumkin hai.opration ka karan bady ki Hart bit bahot kam ho gai thi or andar ka pani shukh gya tha...baby weight 2.2 kg, meri wife ki height 5 foot hai.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Apke wife ki height kam hai isliye normal delivery hona thoda mushkil hai. Aap ab doctor ki salah lekar hi pregnancy planning kare.

      Delete
  3. Sir meri ek beti 22. Month Ki aur abhi 4/5/2017 ko pregnancy ruk Gaya hai to normal ho sakta hai kya please comment sir

    ReplyDelete
    Replies
    1. Bina marij ki sari jaanakri kuch salah dena kathin hai. Unki reports 8511748301 par whatsapp kare

      Delete
  4. mera beta 3 june 2017 ko hua tha lekin 29 July ko expire ho gya c-section se hui thi delivery ab muje kitna time wait krni.chahiye next baby plank liye

    ReplyDelete
    Replies
    1. Apko abhi apne health ki acche se care karni chahie aur physically aur mentally stable hona chahie. Pregnancy ke liye 1 saal baad try care.

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.