घर पर Blood pressure कैसे check करे ?

घर पर Blood pressure कैसे check करे ? घर पर Blood pressure कैसे check करे ?
आज भारत में यह हालात है की लगभग हर घर मे किसी न किसी व्यक्ति को उच्च या निम्न रक्तचाप / Blood pressure की समस्या जरूर होती हैं। ब्लड प्रेशर की समस्या इतनी आम हो चुकी है की घर में किसी को ब्लड प्रेशर जांचना आना जरुरी बन चूका हैं। ज्यादातर मामलों में ब्लड प्रेशर की समस्या का पता तब चलता है जब इससे शारीरिक नुकसान हो चुका होता हैं।

जिस तरह डायबिटीज का रोगी इमरजेंसी में घर पर ही ग्लूकोमीटर की सहायता से आसानी से अपनी ब्लड शुगर लेवल की जांच कर लेता है और ब्लड शुगर अधिक बढ़ जाने या कम हो जाने का पता कर सकता है ठीक उसी तरह ब्लड प्रेशर का रोगी भी ब्लड प्रेशर मापने का यन्त्र (Sphygmomanometer) की सहायता से अपना ब्लड प्रेशर कितना है यह पता कर सकता हैं और जल्द डॉक्टर से संपर्क कर सकता हैं। 

आप घर पर ब्लड प्रेशर कैसे जांच सकते हैं इसकी सम्पूर्ण जानकारी विस्तार में निचे दी गयी हैं :

how-to-check-blood-pressure-at-home

घर पर ब्लड प्रेशर की जांच कैसे करे ? How to check Blood Pressure at Home in Hindi

घर पर ब्लड प्रेशर की जांच करने के लिए हमें दो चीजों की जरुरत होती हैं :
  1. Stethoscope : जिसे अक्सर डॉक्टर एक बाजु से अपने कान में लगाते है और दूसरी ओर diaphragm से आपके सीने पर लगाकर धड़कन सुनते हैं। इसकी कीमत 500 रूपए से 10 हजार तक हो सकती हैं। घरेलु उपयोग के लिए आप 500 से 1 हजार रूपए तक का स्टेथोस्कोप खरीद सकते हैं।  
  2. Sphygmomanometer : इससे ब्लड प्रेशर की जांच की जाती हैं। यह सामान्य और डिजिटल दोनों प्रकार में मिलता हैं पर डिजिटल में ब्लड प्रेशर कम ज्यादा बता सकता हैं। जो डिजिटल मशीन सटीक BP बताती है वो काफी महँगी आती हैं (लगभग 50 हजार रूपए) घरेलु उपयोग के लिए आप Mercury Spygmomanometer ले सकते है जो की 1 से 2 हजार के बिच स्टैण्डर्ड कंपनी का मिल जाता हैं। 

ब्लड प्रेशर की जांच कैसे की जाती हैं ? Steps of Measuring Blood pressure in Hindi

  • सबसे पहले व्यक्ति (रोगी) के बाए (Left) हाथ पर BP मशीन का कफ बांधे। कफ इस तरह बांधे के कफ का निचला हिस्सा कोहनी (Elbow) से थोड़ा सा ऊपर ख़त्म होगा। कफ बेहद टाइट या बेहद ढीला बंधा नहीं होना चाहिए। कफ इस तरह बांधे की कफ को लगी दो नली व्यक्ति के हाथ के अंदर की ओर यानि शरीर के साइड में होनी चाहिए। 
  • रोगी का हाथ और BP की मशीन दोनों समांतर होना चाहिए। रोगी खड़ा और BP मशीन निचे या BP मशीन ऊपर और रोगी निचे बैठा हुआ ऐसा नहीं होना चाहिए। 
  • अब स्टेथोस्कोप को कान में लगाकर रोगी के कोहनी के ऊपर diaphragm को रखे। 
  • BP मशीन के बॉल के वाल्व को घुमाकर टाइट करे और बॉल को दबाते हुए BP की मशीन का प्रेशर बढ़ाये। जिस प्रेशर पर आपको कोहनी में  pulse का आवाज स्टेथोस्कोप से सुनना बंद हो जाये उससे 10 अंक अधिक तक प्रेशर को बढ़ाये।  
  • अब वाल्व को धीरे से थोड़ा ढीला करे और BP की मशीन का प्रेशर कम करे। 
  • BP की मशीन में पारा (Mercury) के जिस अंक पर पहली बार आपको स्टेथोस्कोप से pulse की आवाज सुनाई देंगी वह नोट करे। इसे ऊपर का ब्लड प्रेशर यानि Systolic Blood pressure कहा जाता हैं। 
  • अब धीरे-धीरे बॉल का वाल्व को घुमाकर ढीला करते रहे और जब Pulse की आवाज सुनायी देना बंद कर देती है वह अंक नोट करे। इसे निचे का BP यानि Diastolic blood pressure कहा जाता हैं। 
  • अंत में पूरा वाल्व खोल दे और कफ को दबाकर पूरी हवा निकाल दे। 
  • अगर आपके पास स्टेथोस्कोप नहीं है तो आप BP मशीन और हाथ से केवल आप ऊपर का BP जांच सकते हैं। इसके लिए कलाई पर हाथ रख नस का परिक्षण करे और प्रेशर बढाकर कम करते समय जब आपको उंगली से कलाई में नस का एहसास पहली बार होता हैं वह ऊपर का BP हैं।  
Click करे और पढ़े - ब्लड प्रेशर कैसे कण्ट्रोल करे ? ब्लड प्रेशर के रोगी ने कैसा आहार लेना चाहिए ?

ब्लड प्रेशर की जांच करते समय किन बातों का ख्याल रखे ? Things to remember while measuring Blood Pressure in Hindi

  1. किसी भी व्यक्ति का ब्लड प्रेशर तुरंत नहीं लेना चाहिए। व्यक्ति को पहले 5 मिनिट शांति से लेटने दे और उसके बाद ही ब्लड प्रेशर जांचे। ब्लड प्रेशर लेते समय व्यक्ति शांत और संतुलित होना चाहिए। कोई व्यायाम, सीढ़ी चढ़ना, तेज चलना, तनाव या घबराहट के कारण भी कभी-कभी थोड़े समय की लिए ब्लड प्रेशर काफी बढ़ जाता हैं। 
  2. स्टेथोस्कोप से आपको आवाज न आये तो इसे निचे से diaphragm को घुमाकर देखे, diaphragm पर स्पर्श करने से कान में आवाज आना चाहिए तब उसे चालू समझे।  
  3. व्यक्ति का ब्लड प्रेशर 140/90 mmHg से अधिक या 90/60 mmHg आने पर 3 बार BP जांचे और तीनों का average निकाले। एक सामान्य वयस्क व्यक्ति का ब्लड प्रेशर 120/80 mmHg रहता हैं। 
  4. व्यक्ति के दोनों हाथों में ब्लड प्रेशर की जांच करे और जिस हाथ में अधिक ब्लड प्रेशर आता है वह सही ब्लड प्रेशर मानना चाहिए। 
  5. समय-समय पर ब्लड प्रेशर की मशीन और स्टेथोस्कोप सही है या नहीं या इनमे कुछ गड़बड़ी हैं इसकी डॉक्टर से दिखाकर जांच कराये।   
  6. अगर व्यक्ति का BP 140/90 mmHg या इससे अधिक है या 90/60 mmHg या इससे कम है तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 
  7. डिजिटल मशीन में BP जांचना आसान होता है। इसमें केवल ऊपर दिए हुए तरीके से आपको केवल कफ बांधना है और मशीन चालू करना होता हैं। Start दबाने पर मशीन अपने आप कफ में हवा भरता है और धीरे-धीरे प्रेशर कम करता हैं। अंत में मशीन में आपका BP दर्शाता हैं। अगर आपको सामान्य मशीन से BP करने में दिक्क्त होती है तो आप बेसिक डिजिटल BP की मशीन ले सकते है जो 2500 से 5000 तक आती है। इस मशीन में BP 10 से 20 अंक तक कम-ज्यादा दिखाता हैं।  
Click करे और पढ़े - Low Blood Pressure का घरेलु उपचार
ब्लड प्रेशर जांचने की यही जानकारी यहाँ पर हम पाठकों के लिए केवल इसलिए दे रहे है ताकि आप अपने या अपने घर के सदस्यों का समय-समय पर ब्लड प्रेशर का रिकॉर्ड रख सके और ब्लड प्रेशर की तकलीफ बढ़ जाने से पहले डॉक्टर से इसका ईलाज करा सकते हैं।  

अगर यह घर पर Blood pressure को check करने की जानकारी उपयोगी लगी है तो आपसे निवेदन है की इसे फेसबुक और Whatsapp पर शेयर अवश्य करे !
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 12k
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
loading...

Loading

Saturday, July 08, 2017 2018-06-15T09:11:12Z

No comments:

Post a Comment

Follow Us