जिंदगी के हर क्षेत्र में अनुशासन का होना बेहद जरुरी होता हैं। अगर आपके आहार में किसी प्रकार का अनुशासन नहीं है तो कई स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। यह स्वास्थ्य समस्या ही दिल की बीमारी, ब्लड प्रेशर की समस्या, कैंसर और डायबिटीज जैसे भयावह बिमारियों को जन्म देती हैं।

आज हम इस लेख में रक्तचाप / Blood Pressure को नियंत्रण में रखने के लिए आहार में क्या परिवर्तन करना चाहिए इसकी जानकारी दे रहे हैं। डॉक्टर उच्च रक्तचाप के रोगीयों को DASH diet लेने की सलाह देते हैं। DASH का मतलब Dietary Approach to Stop Hypertension होता हैं। आहार में योग्य बदलाव कर रक्तचाप को नियंत्रित करना ही DASH कहलाता हैं। ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने के लिए निचे दिए हुए आहार tips का पालन करे !

  • नमक / Salt : नमक में अधिक प्रमाण में सोडियम होता है जिसकी वजह से शरीर में अतिरिक्त पानी जमा होकर ब्लड प्रेशर बढ़ जाता हैं। ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने के लिए आहार में नमक का प्रमाण कम रखना चाहिए। रक्तचाप से पीड़ित व्यक्तिओं ने दिनभर में 2400 mg से अधिक नमक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। खाने के एक चमच्च में लगभग 2500 mg नमक आता हैं। 
  1. ज्यादा नमक वाले खाद्य पदार्थों का उपयोग न करे जैसे की - अचार, पापड़, चिप्स, सॉस, कोल्ड ड्रिंक्स इत्यादि। 
  2. खाने की मेज पर अपने पास नमक की डिबिया न रखे। 
  3. आपके आहार में नमक का इस्तेमाल कम करे। नमक के कमी के कारण खाने में स्वाद की कमी महसूस होने पर निम्बू का रस छिड़क दे। 
  4. आप चाहे तो अपने डॉक्टर की सलाह लेकर आहार में Low Sodium (LONA) Salt का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • लहसुन / Garlic : रोज सुबह लहसुन की 2-3 ताजी कलियां चबाने से ह्रदय को बेहद लाभ मिलता हैं। लहसुन के अंदर प्रचुर मात्रा में Anti-Oxidants, Selenium, Vitamin C, Alicin जैसे घटक रहते है जो हृदय की धमनियों को सख्त होने से रोकते है और बुरे कोलेस्ट्रॉल को रक्त वाहिनी में जमने से रोकते हैं। लहसुन को पकाने या भुनने की जगह कच्चा चबाना अधिक फायदेमंद होता हैं। 
  • अदरक / Ginger : आपको अपने आहार में अदरक का इस्तेमाल करना चाहिए। अदरक में मौजूद आवश्यक तत्व ह्रदय में रक्त संचारण को बढ़ाता हैं, रक्त के थक्के नहीं जमने देता है और ह्रदय की मांसपेशियों को आराम देता हैं। 
  • फ़ास्ट फ़ूड / Junk Foods : अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थ को सिमित करे। अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थ कम प्रोटीन, विटामिन या खनिज युक्त होते हैं लेकिन नमक, चीनी, वसा से भरे होते हैं और इनमे Calories का प्रमाण अधिक होता हैं। चॉकलेट, कोल्ड ड्रिंक्स, आलू के चिप्स, आइसक्रीम, फ्रेंच फ्राइज, पिज्जा, समोसा, वडा पाँव, ब्रेड पकोड़ा, बर्गर आदि कुछ इसके उदहारण हैं। 
  • फल और सब्जी / Fruits & Vegetables : खाने में नियमित रूप से ताजे फलों और हरी सब्जियों का सेवन ज्यादा करना चाहिए। पालक, गोभी, बथुआ जैसे हरी सब्जियों का सेवन करने से रक्तचाप सामान्य रहता हैं। लौकी, निम्बू, तुरई, पुदीना, कद्दू, टिंडा और करेला आदि सब्जियों का सेवन करना चाहिए। फलों में मौसमी, अंगूर, अनार, पपीता, सेब, संतरा, अनानस, अमरुद आदि का सेवन कर सकते हैं। फलों में पोटैशियम, मैग्नीशियम और फाइबर अधिक होने से यह रक्तचाप कम करने में सहायक होते हैं। रोजाना एक मौसमी ताजा फल अवश्य खाना चाहिए। फलों का जूस बनाकर पिने की जगह सीधे फलों को खाना ज्यादा फायदेमंद होता हैं। 
  • आहार / Food : दिनमे दो बार भर पेट खाने की जगह दिन भर में 3 से 4 बार हल्का भोजन खाना चाहिए। सुबह का नाश्ता अवश्य करना चाहिए। सुबह का नाश्ता 9 बजे से पहले खाना चाहिए। दोपहर का खाना 2 बजे से पहले खाना चाहिए। शाम का खाना 8 बजे से पहले खाना चाहिए। रात के समय भूक से थोड़ा कम आहार लेना चाहिए। रात में खाना खाने के 15 मिनिट बाद कम से कम 15 से 20 मिनिट टहलना चाहिए। रात में खाना खाने के 2 घंटे के बाद ही सोना चाहिए। 
  • पेय / Drink : दिनभर में कम से कम 8 से 10 ग्लास पानी पीना चाहिए। चाय और कॉफ़ी की जगह मलाई निकाला हुआ दूध सेहत के हिसाब से अधिक फायदेमंद होता हैं। चाय और कॉफ़ी पिने से कुछ लोगो में अधिक रक्तचाप बढ़ता है इसलिए इनका सेवन अधिक नहीं करना चाहिए। कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • धूम्रपान / शराब : रक्तचाप को नियंत्रण में रखने के लिए आपको धूम्रपान, शराब, तम्बाखू, गुठ्खा और ड्रग्स जैसे आदतों से दुरी बनाकर रखनी चाहिए। इन सभी बुरी आदतों का side effect हमारी नसों पर और शरीर के महत्वपूर्ण अंगों पर होता हैं। इस सभी आदतों से छुटकारा पाने के लिए यह पढ़े - धूम्रपान कैसे छोड़े !
अपने आहार में योग्य बदलाव लाने के अलावा नियमित रूप से व्यायाम और योग, ब्लड प्रेशर को नियमित करने में मदद करता हैं। तनाव को अपने से दूर रखे और हमेशा सकारात्मक सोच रखे। रक्तचाप को नियंत्रण में करने के लिए आहार में बदलाव करने के पहले एक बार अपने डॉक्टर और आहार विशेषज्ञ की राय अवश्य लेना चाहिए।
अगर आपको यह लेख स्वास्थ्य की दृष्टी उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share अवश्य करे !
loading...

Post a Comment

  1. उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिये अच्छे तरीके सुझाये गये हैं जिनका हर व्यक्ति को नियमितक रूप से पालन करना चाहिये ताकि स्वास्थ्य ठीक रहे.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Website पर visit करने और अपनी प्रतिक्रिया देने हेतु धन्यवाद हरीशजी !

      Delete
  2. High blood pressure related problems me mujhe sabhi posts ko padhne ke baad aur ghar pe wo sabhi nuskhe practically krne ke baad bahot achchha mehsoos ho raha hai.
    Thanx to "nirogi kaya".

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks Vishwas For your reply. Happy that the information is helping you.

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.