सामान्य से ज्यादा ब्लड प्रेशर की तरह लंबे समय तक Low/कम ब्लड प्रेशर रहना भी स्वास्थ्य की लिए हानिकारक होता है। Low/कम ब्लड प्रेशर के कारण दिमाग और किडनी दोनों पर विपरीत परिणाम हो सकते हैं। Low/कम ब्लड प्रेशर के लक्षण क्या है और यह क्यों होता है यह जानने के लिए यहाँ click करे - Low/कम ब्लड प्रेशर के लक्षण और कारण। Low/कम ब्लड प्रेशर होने पर उसे सामान्य करने के लिए क्या करना चाहिए इसकी जानकारी इस लेख में दी गयी हैं।

अधिक जानकरी निचे दी गयी हैं :

low-blood-pressure-treatment-hindi
Low/कम ब्लड प्रेशर रहने पर ब्लड प्रेशर को सामान्य रखने के लिए क्या करना चाहिए ?

Low/कम ब्लड प्रेशर रहने पर प्रथम ब्लड प्रेशर कम रहने की वजह को ठीक किया जाना चाहिए। अगर आपको चक्कर आना, आँखों के सामने अधेरा छाना, घबराहट या कमजोरी जैसे लक्षण नजर आते है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर जांच कराना चाहिए। Low/कम ब्लड प्रेशर का उपचार आपकी उम्र, लक्षणों की तीव्रता, दवा, स्वास्थ्य इत्यादि बातों पर निर्भर करता हैं। 

Low/कम ब्लड प्रेशर रहने पर ब्लड प्रेशर बढ़ाने के लिए आप डॉक्टर की सलाह लेकर निचे दिए हुए उपाय कर सकते हैं :
  • पानी / Water : अगर आपका ब्लड प्रेशर शरीर में किसी कारण पानी की कमी के कारण हुआ है तो पानी पिने की मात्रा बढाकर आप उसे नियंत्रित कर सकते हैं। गर्मी के मौसम में अत्याधिक पसीना या जुलाब लगने के कारण अत्याधिक पानी की कमी से ब्लड प्रेशर बेहद कम हो जाता हैं। शरीर में पानी की बेहद कमी होने पर डॉक्टर आपको सलाइन भी चढ़ा सकते हैं। 
  • नमक / Salt : Low/कम ब्लड प्रेशर रहने पर आपको अपने आहार में नमक का प्रमाण थोड़ा बढ़ाना चाहिए। गर्मी के दिनों में आप ठन्डे पानी में चीनी, नमक और निम्बू डालकर भी पि सकते हैं। नमक की मात्रा बढ़ाने से पहले अपने डॉक्टर की राय अवश्य लेना चाहिए। अधिक नमक आपके ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक रहता हैं। 
  • लंबा मोजा / Stockings : वेरीकोस वेइन्स के रोगियों को पैरों में पहनने के लिए दिए जानेवाले लम्बे दबाव मोज़े आप पहन सकते हैं। इससे पैरों से दिल की तरफ रक्त आने में मदद होती हैं। 
  • शराब / Alcohol : शराब का सेवन बिलकुल न करे। शराब पिने से पेशाब ज्यादा लगता है और शरीर में पानी की कमी होकर ब्लड प्रेशर बेहद कम हो जाता हैं। 
  • आहार / Diet : हमेशा समतोल और पौष्टिक आहार लेना चाहिए। शरीर में पोषक तत्वों के अभाव में ब्लड प्रेशर कम हो जाता है और कमजोरी आती हैं। ह्रदय के लिए घातक फ़ास्ट फ़ूड खाने की जगह हरी सब्जियां और फलों का अधिक सेवन करना चाहिए। आहार में किसमिस, बादाम, गाजर, तुलसी, निम्बू, मुलेठी का समावेश करे। 
  • व्यायाम / Exercise : अपने उम्र और क्षमता के अनुसार रोजाना व्यायाम करना चाहिए। व्यायाम करने से आपका ह्रदय और रक्तवाहिनी स्वस्थ रहती है और हार्ट का पम्पिंग ठीक से होता हैं। 
  • जीवनशैली / Lifestyle : तनाव रहित रहने की कोशिश करे। कभी भी अपना स्थान / position बदलते समय धीरे से बदलना चाहिए। अचानक लेटकर बैठने से या बैठकर उठने से कभी-कभी ब्लड प्रेशर कम होकर चक्कर आ जाता हैं। हमेशा अपनी position बदलते समय धीरे-धीरे बदले। लेटकर बैठना है तो पहले लेटकर 4-5 गहरी सांस ले फिर एक करवट बदले और हाथ के सहारे से धीरे धीरे बैठे। आप अपने सर की बाजु थोड़ा ऊपर कर भी सो सकते हैं। अगर खड़े रहने पर चक्कर आता है तो किसी वस्तु का सहारा लेकर खड़े हो जाये और अपने दोनों पैर को जांघ से एक के ऊपर दूसरा पैर रख कैची बनाकर दबाये। इससे रक्त का संचार ठीक से होता है और ब्लड प्रेशर सामान्य होता हैं। 
  • दवा / Medicine : Low/कम ब्लड प्रेशर रहने पर डॉक्टर आपकी जांच कर अगर किसी कारणवश ब्लड प्रेशर कम रहता है तो उस कारण के लिए डॉक्टर दवा देते हैं। ब्लड प्रेशर बढ़ाने की भी दवा आती है पर आवश्यक होने पर ही वह दी जाती हैं। अगर ब्लड प्रेशर रक्त की कमी के कारण कम है तो रक्त बढ़ाने की दवा दी जाती है और आवश्यकता होना पर रक्त चढ़ाया जाता हैं। 
  • कैफीन / Caffeine : Low/कम ब्लड प्रेशर रहने पर डॉक्टर चाय या कॉफ़ी पिने की सलाह देते हैं। कैफीन युक्त पेय पिने से ब्लड प्रेशर बढ़ता हैं। 
  • योग / Yoga : योग और प्राणायाम  नियमित अभ्यास करने से हार्ट / ह्रदय और रक्तवाहिनी को निरोगी रखा जा सकता है और रक्त प्रवाह को संतुलित रखा जा सकता हैं। Low/कम ब्लड प्रेशर रहने पर आपको निचे दिए हुए योग करने चाहिए। इन योग की विधि पढ़ने के लिए उनके नाम पर click करे। 
  1. सर्वांगासन 
  2. पवनमुक्तासन  
  3. उत्तानासन 
  4. मत्स्यासन 
  5. कपालभाति 
इस तरह आप अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखकर उससे होनेवाले दुष्परिणाम से अपना बचाव कर सकते हैं। अगर आपको ऐसा लगता है की आपका ब्लड प्रेशर कम है तो उसे डॉक्टर के पास जाकर जरूर मांपना चाहिए और कम होनेपर डॉक्टर की सलहानुसार उपाय योजना करनी चाहिए।
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.