विश्वभर में करीब 30% युवा पुरुष शीघ्रपतन की समस्या से पीड़ित हैं। अगर सेक्स करते समय प्रथम 2 मिनिट में ही किसी पुरुष का वीर्य स्खलन / Semen Ejaculation हो जाता है तो इसे शीघ्रपतन  या Premature Ejaculation कहा जाता हैं। शीघ्रपतन का उपचार करने के पहले उसका कारण समझना भी बेहद जरुरी हैं। शीघ्रपतन के विविध कारणों की जानकारी पढ़ने के लिए यहाँ click करे - शीघ्रपतन के कारण।

अधिकतर शीघ्रपतन के मामलों में कोई विशेष कारण नहीं होता है और रोगी से बात कर और विशेष व्यायाम / क्रिया समझाकर इसका उपचार किया जा सकता हैं। शीघ्रपतन की समस्या का उपाय और आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खों की जानकारी निचे दी गयी हैं :

premature ejaculation shighrapatan ayurevda treatment remedy hindi
  • परामर्श / Counselling : शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए पीड़ित की तकलीफ को शांति से सुनने और उसके मन में बैठे भय या अज्ञान को दूर करना सबसे जरुरी होता हैं। कई लोगो को यह तकलीफ केवल अज्ञान या गलत जानकारी के कारण होती हैं। डॉक्टर के साथ अच्छी तरह से बात कर काफी हद तक यह तकलीफ दूर हो सकती हैं। 
  • असंवेदनकारी दवा / Local Anesthetic : कुछ डॉक्टर शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए ऐसी दवा (क्रीम या स्प्रे) देते है जिसे लिंग / Penis पर लगाने पर संवेदना चली जाती है या कम हो जाती हैं। इससे सेक्स करने के 15 मिनिट पहले लगाना होता हैं। यह काफी असरदार उपचार है परन्तु इसके कुछ दुष्परिणाम भी हैं। कुछ लोगों को इससे एलर्जी होने का खतरा रहता है।
  • मौखिक दवा / Oral Medicine : पीड़ित व्यक्ति की जांच करने के बाद डॉक्टर जरुरत पड़ने पर दवा भी देते हैं। 
  1. अगर किसी चिंता, भय या तनाव के कारण यह समस्या है तो टेंशन कम करनेवाली (Antidepressant) दवा दी जाती हैं। 
  2. कुछ दर्दनाशक (Analgesic) दवा उपयोग भी शीघ्रपतन को दूर  के लिए किया जाता हैं। 
  3. शीघ्रपतन के उपचार के लिए सिल्डेनफिल-वियाग्रा जैसी प्रसिद्ध दवा का भी उपयोग किया जाता है पर इनका सेवन डॉक्टर की सलाह से मर्यादित मात्रा में ही करना चाहिए क्योंकि इस दवा के गंभीर दुष्परिणाम शरीर पर होते हैं। 
  4. अगर पेशाब या प्रोस्टेट ग्रंथि में कोई संक्रमण या infection है तो उसे एंटीबायोटिक दवा देकर ठीक किया जाता हैं। 
  5. अगर शरीर में थाइरोइड या टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में कोई गड़बड़ी है तो जांच कर उचित हार्मोनल दवा दी जाती हैं। 
  • व्यायाम / Exercise : शीघ्रपतन की समस्या से निजात पाने के लिए डॉक्टर आपको कुछ विशेष व्यायाम सिखाते है जिससे इस समस्या को बिना दवा भी ठीक करने में सहायता होती हैं। शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए निचे दिए हुए व्यायाम / क्रिया करने की सलाह दी जाती हैं :
  1. Stop Squeeze Technique - सेक्स करते समय जब पुरुष को लगे की वीर्य निकलने ही वाला है तब अपने साथी से गुप्तांग / Glans Penis के निचे दबाने को कहे। इतने जोर से दबाए की वीर्य न निकले और दर्द भी न हो। जब ऐसा लगे की अब वीर्य निकलने की इच्छा समाप्त हो गयी है तब छोड़ दे। अब आधा मिनिट रुक कर दोबारा सेक्स करे और जब वीर्य निकलने का एहसास हो तो दोबारा दबाकर रखे। इस तरह यह अभ्यास 8 से 10 बार करे। धीरे-धीरे अभ्यास के साथ वीर्य निकलने का अंतराल बढ़ जायेगा। 
  2. हस्त मैथुन / Mastribution - पीड़ित पुरुष को सेक्स करने के 1 या 2 घंटे पहले हस्तमैथुन करने को कहा जाता है। इससे बाद में सेक्स करते समय जल्द वीर्य स्खलन नहीं होता हैं। यह क्रिया अधिक उम्र के पुरुषों में काम नहीं आती क्योंकि उनमे हस्तमैथुन करने से दोबारा जल्द सेक्स इच्छा निर्माण होने की आशंका कम रहती हैं। 
  3. Stop-Start Technique - पीड़ित व्यक्ति में वीर्य स्खलन का अंतराल और क्लाइमेक्स के अंतराल को बढ़ाने के लिए यह अभ्यास करने के लिए कहा जाता हैं। इसमें पुरुष को हस्त मैथुन करने की सलाह दी जाती है और जब ऐसा लगे की वीर्य निकलने वाला है तब पहले ही रुकने की सलाह दी जाती हैं। ऐसा बार-बार करने से वीर्य को लम्बे समय तक रोकने का अभ्यास होता हैं और शीघ्रपतन में लाभ होता हैं। 
  4. Kegel Exercise - यह व्यायाम स्त्री और पुरुष दोनों के लिए फायदेमंद हैं। मूत्र विसर्जन करते समय अचानक मूत्र के बहाव को रोक दे और कुछ सेकंड के अंतराल बार फिर मूत्रविसर्जन करे। मूत्र के बहाव को रोकने के लिए जिस मांसपेशियों का इस्तेमाल होता हैं उन पर ध्यान दे। इसमें जांघ, पृष्ठ और पेट के मांसपेशियों को ढीला रखना हैं। रोजाना इन पेशियों की कसरत करने से शीघ्रपतन में लाभ होता हैं। 
  • योग / Yoga - शीघ्रपतन की समस्या से निजात पाने के लिए आप निचे दिए योग अभ्यास कर सकते है जिससे वीर्य के शीघ्र बहाव को रोकने में मदद मिलती हैं। योग के विधि की सम्पूर्ण जानकारी पढ़ने के लिए  पर click करे। 
  1. सर्वांगासन 
  2. पश्चिमोत्तानासन 
  3. हलासन 
  4. गोमुखासन 
  5. वज्रासन 
  6. मण्डूकासन 
  • आयुर्वेद और घरेलु उपाय / Ayurvedic and Home Remedies : कई वर्षों से शीघ्रपतन का सफल उपचार आयुर्वेदिक पद्धति से होता आ रहा हैं। कई एलोपैथी डॉक्टर भी उपचार करने के लिए आयुर्वेदिक फार्मूला का ही उपयोग करते हैं। 
  1. औषध - शीघ्रपतन का उपचार करने के लिए जतिफल, कुमकुम, खसखस बिज, अश्व्गन्धा, गोक्षुर, यष्टिमधु, भल्लातक फल मज्जा, जटामांसी, कपिकच्छु बिज, शहद, मूसली, शतावरी, शिलाजीत जैसे आयुर्वेदिक औषधि का उपयोग किया जाता हैं। औषध का चयन, मात्रा और समय को रोगी के प्रकृति, कुपित दोष के हिसाब से किया जाता हैं। एक ही फार्मूला से सभी रोगियों को लाभ हो ऐसा नहीं होता हैं। 
  2. पंचकर्म - औषधि द्रव्यों के साथ जरुरत पढ़ने पड़ने पर स्नेहन, स्वेदन और बस्ती जैसे पंचकर्म चिकित्सा की जाती हैं। पचकर्म चिकित्सा से पीड़ित व्यक्ति को जल्द लाभ होता हैं। खासकर मधुतैलिक यापन बस्ती से अधिक लाभ होता हैं। 
  3. रोज सुबह दूध के साथ 1 चमच्च अश्वगंधा चूर्ण लेने से शीघ्रपतन में लाभ होता हैं। 
  4. सुबह शाम 1 चमच्च अतिरसादि चूर्ण लेने से भी लाभ होता हैं। 
  5. वसंत कुसुमाकर रस. गोदन्ति भस्म, यौनअमृत वटी, शिलाजीत सत्व जैसे आयुर्वेदिक दवा शीघ्रपतन में लाभकारी हैं। ऐसे तो यह सभी आयुर्वेदिक दवा सुरक्षित है पर अधिक मात्रा और अधिक समय तक लेना हानिकारक हो सकता हैं इसलिए किसी भी आयुर्वेदिक दवा को अपने डॉक्टर से जांच कराकर लेने में ही समझदारी हैं।  
  6. आहार - शीघ्रपतन को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा के साथ अपने आहार पर विशेष ध्यान देना चाहिए। आहार में तीखा-तला हुआ और अधिक मसालेदार आहार नहीं लेना चाहिए। आहार में ताजे फल, हरी-पत्तेदार सब्जी, फ्रूट जूस, नारियल पानी, दूध और शहद का अधिक इस्तेमाल करना चाहिए। आहार में शतावरी, अंडे, डार्क चॉकलेट, गाजर, ओट्स, अश्वगंधा, अवाकडो, अंगूर, केला, प्याज, लसुन, अदरक, बादाम, मशरूम और भरे चावल / ब्राउन राइस जैसे आहार पदार्थों का अधिक समावेश करने से वीर्य का प्रमाण भी बढ़ता है और शीघ्रपतन भी नहीं होता हैं।  
  • अन्य / Others - शीघ्रपतन की समस्या से निजात पाने के लिए निचे दिए हुए अन्य उपाय भी कारगर साबित होते हैं। 
  1. सेक्स करते समय दो कंडोम लगाकर सेक्स करे जिससे लिंग को जल्द संवेदना नहीं मिलती है और उत्तेजना देरी से मिलने से शीघ्रपतन नहीं होता। 
  2. तनाव मुक्त रहे। तनाव को दूर करने के लिए लाफ्टर थेरेपी या मैडिटेशन का सहारा लेना चाहिए। 
  3. शीघ्रपतन से बचने के लिए आप अपनी स्तिथि / Position भी बदल कर देख सकते हैं। अगर  समय हमेशा ऊपर रहते है तो खुद को निचे लिटाकर सेक्स कर सकते हैं। 
  4. सेक्स करते समय जब भी आपको एहसास हो की वीर्य जल्द निकलने वाला है तब लम्बी गहरी साँसे लेना शुरू कर दे। इससे वीर्य नहीं निकलेगा और आप शर्मिंदा होने से बच जाएंगे। 
  5.  शराब, धूम्रपान, तम्बाखू, कॉफ़ी जैसे व्यसन नहीं करने चाहिए।      
  6.  अगर आपका वजन जरुरत से अधिक है और आप मोटापे से पीड़ित है तो अपने अपना वजन कम करने की कोशिश करनी चाहिए। मोटापे के कारन टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में कमी आती हैं। 
  7. रोजाना या हफ्ते में कम से कम 5 दिन 30 मिनिट तक अपने क्षमतानुसार व्यायाम अवश्य करना चाहिए। व्यायाम करने से शरीर फिट रहता है, वजन कम होता है और टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन की मात्रा सही रहती हैं। 
शीघ्रपतन / Premature Ejaculation के कारण पुरुष के अहम को बड़ी चोट लग जाती है और इसलिए जरुरी है की ऐसी समस्या निर्माण होने पर विज्ञापन देख कोई दवा इस्तेमाल करने की जगह आप विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह लेकर इलाज कराये।

Image courtesy of marin at FreeDigitalPhotos.net
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.