रजोनिवृत्ति जिसे Medical भाषा में Menopause कहा जाता है एक ऐसी घटना है जिसमे से सभी महिलाओं को गुजरना पड़ता हैं। महिलाओं में उम्र के साथ शरीर में एस्ट्रोजन हॉर्मोन में कमी आने के कारण मासिक धर्म / Menstruation Cycle शुरुआत में अनियमित होते है और अंततः बंद हो जाते हैं। भारीतय महिलाओं में सामान्य तौर पर 45 से 50 वर्ष के बिच में रजोनिवृत्ति आती हैं और इस पुरे बदलाव में 2 से 10 वर्ष लग जाते हैं।

महिलाओं में एस्ट्रोजन हॉर्मोन में कमी के कारण कई तरह की शारीरिक और मानसिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता हैं। कई महिलाए शरीर में होनेवाले इस बदलाव के कारण होनेवाली समस्या और उनके उपाय से अनजान होने के कारण जीवन का लगभग एक तिहाई हिस्सा परेशानी में गुजारती हैं। महिलाओं में रजोनिवृत्ति से जुडी समस्याओं को लेकर जागरूकता लाने के लिए हर वर्ष 18th October को World Menopause Day मनाया जाता हैं।

रजोनिवृत्ति के कारण 
Causes of Menopause

महिलाओं में रजोनिवृत्ति होने के कारण इस प्रकार हैं :
  1. उम्र के साथ प्राकृतिक रूप में एस्ट्रोजन हॉर्मोन की कमी के कारण 
  2. अंडाशय / गर्भाशय ऑपरेशन द्वारा किसी कारणवश निकाल देने पर 
  3. Radiation या Chemotherapy के कारण अंडाशय में बदलाव के कारण 
  4. जब किसी कारणवश शरीर में एस्ट्रोजन की निर्मिति कम होती हैं  
रजोनिवृत्ति के लक्षण 
Symptoms of Menopause

रजोनिवृत्ति के समय महिलाओं में कई  समस्या निर्माण होती है जिनमे से कुछ समय के साथ ठीक हो जाती है तो कुछ हमेशा के लिए तकलीफ देती रहती हैं। रजोनिवृत्ति के सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं :
  • शारीरिक लक्षण - रजोनिवृत्ति के कारण शरीर में निचे दिए हुए शारीरिक लक्षण नजर आते हैं :
  1. अनियमित मासिक धर्म 
  2. जोड़ो में दर्द, कमजोर हड्डियां 
  3. गर्म पसीने छूटना  
  4. वजन बढ़ना और शरीर फूलना 
  5. नींद में कमी 
  6. बार-बार पेशाब के लिए जाना / पेशाब में संक्रमण होना 
  7. सिरदर्द 
  8. चक्कर 
  9. त्वचा और बालों का सूखापन   
  10. योनि में सूखापन और खुजली 
  11. कमजोर स्मरणशक्ति 
  12. अनियमित और तेज धड़कन 
  13. ह्रदय रोग 
  • मानसिक लक्षण - रजोनिवृत्ति के कारण शरीर में निचे दिए हुए मानसिक लक्षण नजर आते हैं :
  1. बैचेनी
  2. चिंता 
  3. चिड़चिड़ापन
  4. ध्यान केंद्रित न कर पाना 
  5. उदासीनता 
  6. यौनइच्छा का अभाव 
महिलाओं में रजोनिवृत्ति से पहले एस्टोजन हॉर्मोन के कारण कई रोगों से सुरक्षा प्राप्त होती हैं। इस हॉर्मोन में कमी आने से रजोनिवृत्ति के बाद महिलाओं को ऊपर दिए हुए समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं और इन समस्यों को दूर करने के लिए कुछ उपाय करने जरुरी होते हैं। रजोनिवृत्ति के दौरान और बाद में उचित समय पर अपने स्वास्थ्य को संभालने के लिए क्या आवश्यक कदम उठाने चाहिए इसकी संपूर्ण जानकारी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे - रजोनिवृत्ति के लक्षणों से बचने के उपाय ! 

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share जरुर करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

  1. Very useful and informative post...Thank you

    ReplyDelete
  2. sir meri wife ko periods ki problem ho rahi hai use periods nahi aa raha hai time se upar ho gaya hai, or pregnant bhi nahi hai, please sir koi upay batayen jisse uski problem solve ho jaye. reply me soon, thanks

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरी सलाह आप से यही है की कृपया स्त्री रोग के डॉक्टर को दिखाए ताकि वह आपके पत्नी की जांच कर मासिक समय पर न आने का कारण पता कर सके.

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.