इस समय भारत में सबसे डरावना अगर कोई नाम हैं, तो वह Swine Flu हैं। Swine Flu के विषय में संपूर्ण जानकारी भरा लेख निरोगिकाया पर हम पहले ही प्रकाशित कर चुके हैं। समाचार पत्र, रेडिओ, TV और internet पर सरकार और समाजसेवी संस्थाओ द्वारा Swine Flu के प्रति जागरूकता फैलाने का हर संभव प्रयास करने के बावजूद भी Swine Flu को लेकर आज कई सारे भ्रम फैले हुए हैं।

Swine Flu के प्रति ऐसे ही भ्रम और Swine Flu की सच्चाई की अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

Swine Flu Myths and Facts in Hindi

1 ) Swine Flu एक सामान्य रोग हैं !
सच : Swine Flu रोग का अगर समय रहते ही ईलाज न किया जाए तो रोगी की स्तिथि बेहद गंभीर हो सकती हैं और रोगी की मृत्यु भी हो सकती हैं। 5 वर्ष के कम आयु के बच्चे, गर्भवती महिला, 50 वर्ष से अधिक आयु के वृद्ध और ऐसे रोगी जिन्हें पहले से उच्च रक्तचाप, मधुमेह, अस्थमा, और कर्करोग जैसे विकार हैं ऐसे रोगियों में Swine Flu जल्द फैलता हैं और इसीलिए इन लोगो में लक्षण दिखते ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

2 ) Swine Flu की vaccine लगाने पर Swine Flu का खतरा नहीं होता हैं !
सच : Swine Flu virus खुद की रचना हर वर्ष बदलते रहता हैं। इसकी रचना बदलते रहने के कारण पुरानी vaccine कितनी असरदार रहेंगी यह कह नहीं सकते हैं। अगर आपने Swine Flu की vaccine ली हैं फिर भी आपको Swine Flu से बचने के हर संभव एहतियात बरतने चाहिए। याद रहे, ' रोकथाम ईलाज से बेहतर हैं !'

3 ) मास्क लगाने से Swine Flu से संपूर्ण सुरक्षा मिल जाती हैं !
सच :  सिर्फ मास्क लगाने से Swine Flu से संपूर्ण सुरक्षा नहीं मिलती हैं। मास्क के साथ अन्य एहतियात बरतना भी जरुरी हैं। मास्क लगाकर हम रोगी के पास हवा में मौजूद Swine Flu के सुक्ष्म विषाणु से बचाव कर सकते हैं। सामान्य मास्क से 50% से 60 % बचाव होता हैं। डॉक्टर Swine Flu से बचने के लिए 3M 8210 N95 Swine Flu मास्क उपयोग करने की सलाह देते हैं जिससे 95 % तक बचाव हो सकता हैं। मास्क उपयोग करना सभी के लिए जरुरी नहीं हैं। डॉक्टर, हॉस्पिटल स्टाफ और मरीज के नजदीकी लोगो को मास्क का उपयोग जरुर करना चाहिए।

4 ) Swine Flu जानवरों से फैलता हैं इसलिए दुग्धजन्य पदार्थो का उपयोग नहीं करना चाहिए !
सच : Swine Flu एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति में सांस, खांसने या छींकने से फैलता हैं। दूध, छांछ, दही, पनीर या मख्खन जैसे दुग्धजन्य पदार्थो से नहीं फैलता हैं।

5 ) सर्दी, खांसी या जुखाम होने पर Swine Flu की जांच कराना चाहिए !
सच : Swine Flu के लक्षण सामान्य सर्दी, खांसी या जुखाम जैसे ही होते हैं परन्तु हर सर्दी, खांसी या जुखाम Swine Flu हो यह जरुरी नहीं हैं। Swine Flu जैसे लक्षण नजर आने पर पहले डॉक्टर से जांच कराना चाहिए। आपकी शारीरिक जांच करने के उपरांत अगर डॉक्टर को लगता हैं की आपको Swine Flu की जांच की जरुरत हैं तो ही इसे कराना चाहिए। Swine Flu जैसे लक्षण नजर आने पर खांसते या छिकते समय अपने मुंह पर रुमाल या टिशु पेपर का उपयोग करना चाहिए।

6 ) आप स्वस्थ है तो आपको Swine Flu का खतरा नहीं हैं !
सच : यह सच हैं की Swine Flu का ज्यादा असर 5 वर्ष के कम आयु के बच्चे, गर्भवती महिला, 50 वर्ष से अधिक आयु के वृद्ध और ऐसे रोगी जिन्हें पहले से उच्च रक्तचाप, मधुमेह, अस्थमा और कर्करोग जैसे विकार से पीड़ित व्यक्तिओ को होता हैं। आप स्वस्थ हैं तो आपको Swine Flu का खतरा नहीं हो सकता यह गलत धारणा हैं। Swine Flu होने का खतरा बीमार व्यक्तिओ के जितना स्वस्थ व्यक्तिओ को भी होता हैं। यह खतरा कम करने के लिए Swine Flu से बचने के हर संभव एहतियात बरतने चाहिए।

7 ) Swine Flu का खतरा हर मौसम में रहता हैं !
सच : Swine Flu के विषाणु 8°C से 28°C तापमान में जीवित रह सकते हैं। अधिक ठन्डे और अधिक गर्म मौसम में Swine Flu का खतरा नहीं रहता हैं। इसलिए जरुरी हैं की ठण्ड का मौसम शुरू होते ही सावधानी बरतना शुरू कर देना चाहिए।

8 ) किसी व्यक्ति को अपने जीवनकाल में एक ही बार Swine Flu हो सकता हैं !
सच : यह एक और भ्रम हैं की एक बार Swine Flu हो कर ठीक हो जाने पर Swine Flu के प्रति शरीर को सुरक्षा मिल जाती हैं और दोबारा Swine Flu नहीं हो सकता हैं। एक व्यक्ति जितने दफा Swine Flu के विषाणु से संपर्क में आता हैं उतने दफा उस व्यक्ति को Swine Flu होने का खतरा होता हैं।

9 ) Swine Flu से बचने के लिए किसी से हात नहीं मिलाना चाहिए !
सच : कई बार हमें शिष्टाचार के लिए लोगो से हात मिलाना पड़ता हैं। ध्यान रहे की हात मिलाने से Swine Flu नहीं फैलता हैं। अगर आप किसी से हात मिलाते हैं तो उसके बाद हात अपने मुंह या नाक को लगाने या खाना खाने से पहले अच्छी तरह साबुन और पानी से साफ़ कर लेना चाहिए। फिर भी एहतियात के तौर पर ऐसे व्यक्ति जो बीमार हैं या जिन्हें जुखाम हैं उनसे हात मिलाने से बचना चाहिए।

10 ) Swine Flu से बचने के लिए Tamiflu गोली रोज खाना चाहिए !
सच : Tamiflu यह दवा सिर्फ डॉक्टर के निर्देशानुसार Swine Flu से पीड़ित व्यक्ति और पीड़ित के संपर्क में आए लोगो को ही लेना चाहिए। सामान्य व्यक्ति ने बिना सलाह यह दवा अधिक मात्रा में लेने से नुकसान भी हो सकता हैं।

हर व्यक्ति जरुरी एहतियात बरतकर इस Swine Flu नामक रोग से खुद को बचाव कर सकता हैं। Swine Flu संबंधी संपूर्ण जानकारी के लिए यह पढ़े - Swine Flu in Hindi  आप सभी से निवेदन हैं की Swine Flu  के फैलाव को रोकने के लिए यह जानकारी अपने मित्र-परिवार में share करे !

आपसे अनुरोध है कि आप आपने सुझाव, प्रतिक्रिया या स्वास्थ्य संबंधित प्रश्न निचे Comment Box में या Contact Us में लिख सकते है !

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plusFacebook या Tweeter account पर share करे !

loading...
Labels:

Post a Comment

  1. Nice topic Dr. Thanks a lot for such a informative post

    https://gyandarshanam.blogspot.in

    ReplyDelete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.