कैसा होना चाहिए ब्लड कैंसर के रोगियों का आहार ? Blood Cancer Diet Chart in Hindi

कैसा होना चाहिए ब्लड कैंसर के रोगियों का आहार ? Blood Cancer Diet Chart in Hindi कैसा होना चाहिए ब्लड कैंसर के रोगियों का आहार ? Blood Cancer Diet Chart in Hindi
किसी भी रोग को ठीक करने के लिए जितना महत्त्व दवा को होता हैं उतना ही महत्त्व उस रोगी को दिए जानेवाले आहार का होता हैं। यही वजह है की रोगी व्यक्ति के घरवालों का डॉक्टर से सबसे ज्यादा पूछे जानेवाला सवाल अगर कोई है तो वह यही है की रोगी को खाने में क्या-क्या दिया जा सकता है और क्या नहीं दिया जाना चाहिए।

ब्लड कैंसर जैसा रोग जिसमे की रोगी की भूक काफी कम हो जाती है और ऐसे में रोगी को आहार देते समय विशेष सावधानी बरतनी की आवश्यकता होती हैं। उचित आहार देकर जहा हम रोगी की तकलीफ दूर कर सकते है वही गलत आहार लेने से रोगी की बीमारी बढ़ने का खतरा भी रहता हैं।

ब्लड कैंसर के रोगियों का आहार ऐसा होना चाहिए जिससे उनके शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति बढे और प्राकृतिक रूप से ही वह ठीक हो जाये। आयुर्वेद के अनुसार कैंसर रोग में शरीर में पित्त दोष में खराबी आती है और इसीलिए कुपित पित्त दोष को शांत करने के लिए ठंडक देनेवाले आहार का अधिक सेवन करना चाहिए।

ब्लड कैंसर के रोगियों को कैसा आहार देना चाहिए इसकी जानकारी निचे दी गयी हैं :

blood-cancer-diet-chart-hindi-aahar

ब्लड कैंसर के रोगियों को कैसा आहार / खाना देना चाहिए ?
Blood Cancer diet chart in Hindi Language

ब्लड कैंसर के रोगियों को आहार देते समय निचे दी हुई बातों का ख्याल रखना चाहिए :
  • क्षारीय आहार / Alkaline Foods : ब्लड कैंसर में शरीर में आम्लता अधिक बढ़ जाती है ऐसे में शरीर की एसिडिटी कम करने के लिए Alkaline food का सेवन अधिक करना चाहिए। 
  1. फल जैसे की सेब, पेरू, पपीता, तरबूज इत्यादि अच्छे कैंसर विरोधी आहार हैं। हमेशा ताजे फल और सब्जी रोटी का सेवन ही करे। 
  2. मांसाहार बिलकुल न करे। 
  3. साबुत अनाज का सेवन करे। 
  4. चावल का प्रयोग सप्ताह में केवल एक दिन ही करे। 
  5. ब्लड कैंसर में शरीर में रक्त का प्रमाण कम हो जाता है ऐसे में मेथी, चुकंदर और पालक का सेवन अधिक करने से लाभ होता हैं। 
  6. अगर आपको डायबिटीज नहीं हैं तो अंगूर, चीकू और आम का सेवन किया जा सकता हैं। 
  7. खजूर ऐसे तो सेहत के लिए अच्छे होते है पर गर्म होने कारण इनका सेवन सिमित मात्रा।
  8. रोगी को रोजाना अलग-अलग आहार पदार्थ बनाकर दे ताकि भोजन में रूचि बनी रहे। 
  • नारियल पानी / Coconut Water : नारियल पानी पिने से शरीर को ठंडक प्राप्त होती है इसलिए रोजाना एक नारियल पानी अवश्य पीना चाहिए।
  • चुकंदर / Beetroot : रोजाना 200 से 300 ml चुकंदर का रस पिए। इससे रोगप्रतिकार शक्ति भी बढ़ती है और स्वस्थ पेशी की संख्या भी बढ़ती हैं। 
  • जूस / Juice : चुकंदर के जूस के अलावा आप गाजर, आमला, गेहू का ज्वारा या लौकी का रस भी पि सकते है। रोजाना गिलोय सत्व का उपयोग भी फायदेमंद होता हैं।   
  • आम्ल फल / Citrus Foods : आयुर्वेद के अनुसार सभी साइट्रस आहार जैसे की संतरा, निम्बू, मिर्ची का सेवन अधिक नहीं करना चाहिए।  
  • घी / Ghee : अगर आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ा हुआ नहीं है तो आप घी का मर्यादित मात्रा में सेवन कर सकते हैं। देसी घी का उपयोग करे या फिर त्रिफला घृत, अश्वगंधा घृत या ब्राम्ही घृत का उपयोग करे। 
  • अदरक / Ginger : अपने आहार या पेय पदार्थ में अदरक का समावेश अवश्य करे। इससे शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ती है और साथ ही कैंसर के पेशी नष्ट होती हैं। 
  • मशरुम / Mushroom : मशरुम में अधिक प्रमाण में प्रोटीन होता है और यह रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ने के लिए एक उपयोगी औषधि हैं। इसमें कैंसर से लड़ने की विशेष शक्ति होती हैं। 
  • पचने में भारी आहार / Heavy Foods : पचने में भारी आहार जैसे की केला, अरबी, भिन्डी, चीज, मिठाईया, दूध से बने पदार्थ, नूडल्स। पास्ता, तैयार पैक किया हुआ खाना, अधिक preservative का इस्तेमाल किया हुआ आहार इत्यादि का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • कब्ज / Constipation : ब्लड कैंसर में रोगी को कब्ज बिलकुल नहीं होना चाहिए इसलिए अधिक फाइबर युक्त आहार जैसे की हरी-पत्तेदार सब्जी, पपीता, सेब, पेरू, तरबूज, गाजर, ककड़ी और नारियल पानी का सेवन अवश्य करे। 
  • व्यसन / Habits : अगर आपको शराब, तम्बाखू, गुटखा जैसे किसी वास्तु का व्यसन है तो तुरंत इनसे दूर रहे।   
ब्लड कैंसर में रोगी की पाचन शक्ति कमजोर रहती है और उन्हें भूक कम हो जाती है। ऐसे में एक साथ अधिक आहार केने की जगह हर 2-3 घंटे से हल्का भोजन या फल / जूस लेना चाहिए। तलाहुआ और अधिक मसालेदार भोजन से बिलकुल परहेज करना चाहिए। घरपर बना हुआ ताजा भोजन हि लेना चाहिए। एक बात का ख्याल यह भी रखे की घर में हमेशा सभी रोगी से बातचीत करते समय सकारात्मकता / पाजिटिविटी रखे जिससे रोगी का मनोबल भी अच्छा रहेगा और पाचन प्रणाली भी ठीक रहेगी। आप चाहे तो डायटीशियन से आहार चार्ट भी बना सकते हैं।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 21k
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
अपनी दवा पर 20% बचत करे !

Loading

Wednesday, February 01, 2017 2017-02-01T09:53:47Z

No comments:

Post a Comment

Follow Us