काले, घने, खूबसूरत बाल हर इंसान का सपना होता है। वक्त के साथ जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे बालों में कई तरह के बदलाव आते हैं। जैसे कि बालों का सफेद होना, बाल झड़ना (Hair loss), पुरुषों में सामने के भाग में बाल जाना (टक्कल) होना आदि।

सफेद बालों को तो हम कलर करके काले कर सकते है, इसके लिए कोई permanent चिकित्सा नही है, लेकिन जिनके बाल काफी झड़ रहे है, सामने से टक्कल/ गंजापन (Baldness) भी हो गया है और औषधि चिकित्सा से उचित परिणाम नही मिल रहे है, ऐसे लोंगो के लिए आजके आधुनिक चिकीत्सा में एक नई टेक्नोलॉजी विकसित हुई है और जो दिन प्रतिदिन अपने बेहतर और स्थायी परिणाम के कारण मशहूर हो रही है। ऐसी विशेष गारंटीड चिकित्सा पद्धति का नाम है बाल प्रत्यारोपण या हेयर ट्रांसप्लांट / Hair Transplant)।

Hair Transplant क्या है, कैसे किया जाता है और इसमें क्या सावधानी बरतनी चाहिए जैसे सभी सवालों का जवाब निचे दिए गया हैं :

hair-transplant-information-procedure-cost-in-hindi

हेयर ट्रांस्पलांट क्या है ?
Hair Transplant information in Hindi

Hair Transplant वह प्रक्रिया है, जिसमें बालों के निष्क्रिय रोमकूपों में बालों के जड़ / Roots को प्रत्यारोपित कर उन्हें सक्रिय / active किया जाता है। ऐसे लोग जिनके सर पर बाल कम है वह इस प्रक्रिया को आसानी से अपना सकते हैं। मेडिकल साइंस की तरक्की की वजह से यह प्रक्रिया अब काफी आसान हो चुकी है। विदेशों की तरह भारत में भी हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी आम होती जा रही है। चूँकि यह एक सर्जिकल प्रोसीजर है इसलिए इसे अपनाने से पूर्व किसी भी व्यक्ति के मन में कई सवाल और शंकाओं का उपस्थित होना लाजमी है।

हेयर ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया को अनुभवी डॉक्टर्स की टीम मिलकर करती है।  यह प्रक्रिया पूरी तरह से सुरक्षित है और इसमें व्यक्ति अपने प्राकृतिक बाल फिर से पा सकता है , बशर्ते यह प्रक्रिया अनुभवी और विशेषज्ञ डॉक्टर के पास ही किया जाना चाहिए जैसे की प्लास्टिक सर्जन या डर्मेटोलॉजिस्ट।

बाल झड़ने / हेयर लोस के क्या कारण हैं ?
Causes of Hair loss in Hindi

Hair Transplant टेक्नोलॉजी के बारे में जानने के पहले आइए हम जानते हैं बाल झड़ने के क्या क्या कारण हो सकते हैं :

1. अनुवांशिकता

गंजापन आमतौर पर वंशानुगत कारणों से होता है जिसे Androgenic Alopecia कहते हैं।
पुरुषों में पाया जानेवाला टेस्टेस्टेरोन हार्मोन डिहायड्रोटेस्टेस्टेरोन में बदल जाता है जो सिर के केवल आगे के बालों के लिए जिम्मेदार होता है। इस हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है जिस से सिर के आगे के बालों की जड़े कमजोर होकर यह झड़ने और टूटने लगते हैं।

2. खानपान

बालों के विकास के लिए प्रोटीन, मिनरल्स विटामिंस, बायोटिन युक्त भोजन जैसे कि बादाम, मूंगफली, काजू, गोबी, अलसी,  मुंग, मोट जैसे कटहल दाल का सेवन अधिक से अधिक मात्रा में करना चाहिए। खूब पानी पीना चाहिए।

3 लाइफस्टाइल 

अत्यधिक तनाव, लगातार केमिकल युक्त उत्पादन का इस्तेमाल बालों के झड़ने की समस्या को बढ़ाता है। जैसे कि बार-बार शैंपू और ऑयल बदलना। इसके अलावा सिर की त्वचा का रूखा बने रहना और तेल की मालिश न करना भी बाल झड़ने की वजहें हैं ।

4 हार्मोनल बदलाव

समय से पहले या एक निश्चित उम्र के बाद शरीर में होने वाला हारमोनल बदलाव भी बाल झड़ने की परेशानी का कारण बन सकता है। महिलाओं में थायराइड हार्मोन, खून की तथा पोष्टिक तत्व की कमी, PCOD आदि वजह से बाल झड़ने लगते हैं।

अवश्य पढ़े : Hair Fall के कारण, उपचार और घरेलु उपाय 

हेयर ट्रांसप्लांट /Hair Transplant कैसे किया जाता हैं ?
Hair Transplant Treatment in Hindi

आधुनिक तौर पर देखा जाए तो गंजेपन का हेयर ट्रांसप्लांट एक स्थाई इलाज हो सकता है। आमतौर पर बाल जड़ / root के साथ होने पर ही ग्रो करते है। इसीलिए इसमें सिर के पीछे के हिस्से के बालों को जड़ के साथ निकाल कर उन्हें सामने प्रत्यारोपित करते हैं। रूट में सेल्स होते हैं जो ट्रांसप्लांट के बाद एक्टिव हो जाते हैं और धीरे-धीरे ग्रो करने लगते हैं।

हेयर ट्रांसप्लांट मुख्यतः दो तकनीको से होता है।

1 FUT ( फोलिक्युलर यूनिट ट्रांसप्लांटेशन )

इसमें सिर के पीछे के हिस्से से 2 से 10 सेंटीमीटर चौड़ी त्वचा निकालते हैं। इसके बाद इस में से बालों को अलग कर सिर के आगे के हिस्से पर मेडिकेटेड सुई से 0.6 से 1 mm छेद कर इनप्लांट करते हैं। इसे ग्राफ्ट कहा जाता है। यह एक विशिष्ठ डिजाईन में सेट किये जाते है, जिससे बालों का पैटर्न नेचुरल दिखे।  इस दौरान जहां से त्वचा निकाली जाती है वहां बहुत ही बारिक टांके लगाए जाते हैं, जो आने वाले नए बालों से छिप जाते हैं। आज कल ट्राईकोफाइटिंग क्लोजर तकनीक की मदद से भी त्वचा को टांके लगाकर जोड़ दिया जाता है,  जिस पर बाल उगने शुरू हो जाते हैं और निशान न के बराबर दिखता है।

2. FUE ( फोलिक्युलर यूनिट एक्सट्रैक्शन )

इस पद्धति में एक विशेष प्रकार की मशीन से सिर के पीछे के हिस्से से एक-एक बाल को निकालकर सिर के आगे के हिस्से पर छेद कर इनप्लांट कर देते हैं। प्रक्रिया FUT जैसी ही होती है लेकिन इसमें दाढि या छाती से भी बाल लिए जा सकते हैं। इसमें एक सिटिंग में करीब 2000 तक बाल प्रत्यारोपण कर सकते हैं। अगर एक सेटिंग में मरीज का गंजापन दूर नहीं होता है, तो दूसरे सेटिंग के लिए बुलाया जाता है। दूसरे सेटिंग 6 महीने से 1 साल के बाद कर सकते हैं।

हेयर ट्रांसप्लांट प्रक्रिया कैसे करते हैं ?
Hair Transplant Procedure in Hindi

Hair Transplant विधि की जानकारी निचे दी गयी हैं :

आपरेशन के पूर्व की तैयारी
  • इसमें पेशेंट के स्काल्प का परीक्षण किया जाता है और इसमें उसे अपेक्षित परिणाम कैसा होगा और उसे कितनी सेटिंग्स लेनी पड़ेगी इस बारे में जानकारी दी जाती है।
  • स्कैल्प की फोलिस्कोपी से जांच कर बालो की घनता के बारे में पता चलता है जिससे ऑपरेशन के बाद में उसका रिजल्ट कैसा होगा इसकी जानकारी मिलती है।
  • सर्जरी से पूर्व बालों को अच्छे से शैंपू करें और स्पा नहीं करें।
  • सर्जरी के एक हफ्ते पहले तक एस्प्रिन, एंटीबायोटिक जैसे दवाइयों का सेवन करना बंद करें।
  • अगर कोई गंभीर बीमारी है या कोई दवाई की एलर्जी है तो डॉक्टर से कंसल्ट करें।
  • शराब, स्मोकिंग, विटामिन ए, बी सप्लीमेंट्स अगर ले रहे हो तो सर्जरी के 1 हफ्ते पूर्व इनका सेवन बंद करें। 
  • सर्जरी के कुछ वक्त पूर्व तक बालों को कलर ना करें और ना ही बाल कटवाए।

Hair Transplant की विधिHair Transplant Procedure in Hindi

  • रक्त से जुड़ी सामान्य जांच और शारीरिक जांच की जाती हैं। 
  • इसके बाद रोगी के सिर के बाल को हेयर ट्रिम्मर मशीन से पूरा साफ़ (टकला) किया जाता हैं। 
  • बाल निकालने के बाद सिर को दवा से निर्जन्तुक कर साफ़ किया जाता हैं। 
  • इस के बाद केवल सिर की त्वचा पर लोकल एनेस्थीसिया देते हैं। जिसमें व्यक्ति को ज्यादा दर्द नहीं होता।  
  • अब विशेषज्ञ डॉक्टर और टीम मिलकर विशेष छोटे औजार से सिर के पीछे के बालों को जड़ से निकालकर अलग सुरक्षित जमा करते हैं। 
  • इसके बाद जहा बाल लगाना है वह सिर में छोटे यंत्र से छेद कर बालों को जड़ / root के साथ प्रत्यारोपित किया जाता हैं। यह प्रक्रिया वैसी है जैसे किसान खेत में बीज का रोपण करता हैं। सिर की त्वचा की विशेषता है की वह तुरंत बालों के रोमकूप को सिकुड़कर पकड़ लेता हैं। 
  • इसके बाद सिर की जहा से बाल निकाले है और जहा लगाए है वह ड्रेसिंग किया जाता हैं। 
  • लगभग 5 से 8 घंटे की इस प्रक्रिया में मरीज बीच बीच में कुछ खा - पी भी सकता है। 
  • Hair Transplant की सम्पूर्ण प्रक्रिया वेदनारहित / Painless हैं।  
  • ट्रांसफर के तुरंत बाद मरीज को अस्पताल से डिस्चार्ज भी कर देते हैं।
Hair Transplant प्रक्रिया के बड़ा कुछ सामान्य सावधानियां अपनाकर मरीज अपनी दिनचर्या कर सकता है। जैसे की :
  • आमतौर पर दूसरी सर्जरी की तरह चेहरे और माथे पर हलकी सूजन आती है, जो कुछ समय बाद ठीक हो जाती है।
  • सर्जरी के बाद अगले 7 से 10 दिन तक प्रत्यारोपित बालों को छू नहीं सकते। उसे 3 दिन के लिए प्रभावी जगह पर पट्टी कर देते हैं और हेलमेट पहनने के लिए मना करते हैं।
  • कुछ दिनों के लिए एंटीबायोटिक्स और पेनकिलर देते हैं ताकि दर्द कम हो और इन्फेक्शन ना हो। 
  • इसके 15 दिन बाद बालों के विकास के लिए मिनोक्सिडिल सोलुशन प्रभावित स्थानपर लगाने के लिए देते हैं।
Hair Transplant प्रक्रिया के बाद इन बातों का रखे खास ध्यान
  1. सर्जरी के बाद अगले 24 घंटो तक बालों को धोए नहीं इसके बाद बालों पर केवल पानी डाले,  रगड़े नहीं। 
  2. हेयर ट्रांसप्लांट के बाद पहले एक बार बाल झड़ते हैं जो सामान्य है। लेकिन 1 से 2 महीने के बाद सही तरह से उगना शुरू करते हैं, इसलिए पूरा परिणाम आने में कम से कम 3 से 4 महीने का समय लगता है।
  3. कई लोगों को पूरी तरह से बाल ना आने की शिकायत रहती है जिसकी वजह खराब तकनीक, विशेषज्ञ प्लास्टिक सर्जन या डर्मेटोलॉजिस्ट से इलाज ना कराना और autoimmune disease  है।
  4. हेयर ट्रांसप्लांट दूसरी सर्जरी इतनी जटिल होती है इसलिए अपनाने से पहले प्रशिक्षित चिकित्सक प्लास्टिक सर्जन या डर्मेटोलॉजिस्ट, स्पेशलिस्ट क्लीनिक और इमरजेंसी केयर का होना बहुत जरूरी है।
Hair Transplant के बाद ऐसे रखे बचाव

ऐसे तो कहा जाता है कि हेयर ट्रांसप्लांट से उगे हुए बाल स्थाई रहते हैं पर कुछ एक मामलों में ये गिर भी सकते है। इनकी प्रॉपर केयर लेना जरुरी रहता है।
  • हेयर ट्रांसप्लांट के बाद आने वाले बाल बिल्कुल नेचुरल होते हैं। यह वैसे ही ग्रो करते हैं जैसे की नेचुरल बाल ग्रो करते हैं और इनकी देखभाल भी नैचुरल बालों की तरह ही रखनी होती है।
  • आप इन्हें कटा भी सकते हैं, शाम्पू भी कर सकते हैं , तेल लगा सकते हैं, सवार भी कर सकते हैं, कोई स्टाइल भी दे सकते हैं और कलर भी कर सकते हैं।
  • डेली डाइट में हाय प्रोटीन युक्त अनाज,  हरी सब्जियां, सलाद, अंकुरित अनाज, मौसमी फल, बादाम, अखरोट, मूंगफली, पनीर, सोयाबीन आदि को जरूर शामिल करें।
  • हर रोज 30 से 40 मिनट कोई भी एक्सर साइज़ या वॉकिंग अवश्य करें जिससे की सिर की त्वचा में रहने वाली स्वेद ग्रंथियां अवरुद्ध ना हो।
  • गीले बाल कमजोर होते हैं और उनमें कंघी करे तो आसानी से टूट कर गिर जाते हैं और साथ ही उनकी जड़े भी कमजोर होती है। इसलिए बालों को अच्छे से सूखने के बाद ही उन पर कंघी करें।  कोशिश करें कि मोटे दांत वाली कंघी को इस्तेमाल में ले।
Hair Transplant में यह भी जानना जरूरी

ट्रांसप्लांट करने के बाद भी बाकी बाल पहले की तरह गिर सकते हैं। इसलिए ट्रांसप्लांट के बाद भी कुछ दिनों तक डॉक्टर की सलाह से प्रॉपर दवाई ले, ताकि जो बचे हुए बाल है उन्हें गिरने से रोका जा सके या फिर उनकी गिरने की रफ़्तार हम कम कर सकें।
  • ट्रांसप्लांट के बाद भी बचे हुए बालों के लिए व्यक्ति दोबारा ट्रांसप्लांट करा सकता है, लेकिन उसके लिए व्यक्ति के पास उतना डोनर एरिया बचना चाहिए तभी ट्रांसप्लांट हो सकता है।
  • हेयर ट्रांसप्लांट का उपयोग सिर के बालों के अलावा आईलैशेज, आईब्रोज, दाढ़ी के बाल, छाती के बाल, प्यूबिक हेयर, एक्सीडेंट से होने वाले स्कार को भरने के लिए आदि में भी किया जाता है।
जो व्यक्ति Hair loss की समस्या से परेशान हो और जिन्हें दवा या घरेलु उपाय करने के बाद भी बाल झड़ने की समस्या से राहत नहीं मिल रही है ऐसे व्यक्तियों के लिए बालों का प्रत्यारोपण / Hair Transplant करना सबसे बेहतर उपाय हैं। हमारे आदरणीय पंतप्रधान नरेन्द्रभाई मोदीजी, वीरेंदर सेहवाग, सौरभ गांगुली, अमित मिश्रा, गोविंदा, सलमान खान जैसे कई मशहूर हस्तियों ने भी Hair Transplant से अपने आप को एक बेहतर रूप दिया हैं।

Hair Transplant का विडियो देखे


यह लेख हमें वापी, गुजरात के प्रसिद्द Hair Transplant Centre, Millenium Clinic की संचालिका प्लास्टिक सर्जन डॉ कविता अग्रवाल और डॉ भावना त्रिवेदी जी ने भेजा हैं। अगर आप Hair Transplant अच्छी तरह से और वाजिब खर्च में करवाना चाहते है तो इन्हें निचे दिए हुए पते पर या फ़ोन नंबर पर कॉल कर Hair Transplant से जुडी सारी जानकारी ले सकते हैं।

Hair Transplant Center का पता / Address 
  1. वापी (गुजरात) - Sneh Deep complex, Plot - CM 8/ 6, NH- 8, above Surat people's co operative bank, GIDC, Vapi. Pincode - 396195, Gujrat, India
  2. सिलवासा (दादरा नगर हवेली) - 1st Floor, shop no. 164 - 166, Landmark Commercial Complex, Tokarkhada , Khanwel road, Silvassa, Dadra Nagar Haveli
  3. Mobile Number : 9157621559, 9924191300, 9924193330
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.