ऐसे तो बालों का सफ़ेद होना बुढ़ापे की निशानी मना जाता है पर आजकल 20 से 30 वर्ष के युवा आयु में ही लोगों के बाल सफ़ेद होना शुरू हो गए हैं। बालों का सफ़ेद रंग होना ऐसे तो कोई बड़ी बीमारी नहीं है पर क्योंकि बालों के पकने के कारण लोग अन्य लोगों के सामने जाने से डरते है और मानसिक रूप से परेशान होते है, इस विषय की सम्पूर्ण जानकारी देना बेहद आवश्यक हैं।

बालों का रंग सफ़ेद होने से रोकने के लिए क्या करना चाहिए यह जानने से पहले यह जानना जरुरी है बालों का रंग सफ़ेद किस वजह से होता हैं। यह कारण जानने के बाद हम उपाय योजना कर बालों को जल्द सफ़ेद होने से रोक सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए निचे पढ़े :

safed-baal-white-hair-causes-hindi
बालों का रंग सफ़ेद होने के क्या कारण हैं ?
Causes of early whitening of hair in Hindi 
  • अनुवांशिकता / Heredity : अगर आपके माता या पिता में से किसी के बाल युवा आयु में ही सफ़ेद हो गए थे तो आपके बाल भी युवा आयु में ही जल्द सफ़ेद होने की आशंका अधिक रहती हैं। आपके जींस यह निर्धारित करते है की आपके बालों में से Melanin तत्व कम कम होंगा और इसी वजह से आपके बाल भी जल्द सफ़ेद हो जाते हैं। 
  • विटामिन / Vitamin : शरीर में विटामिन B12 की कमी के कारण बालों का सफ़ेद होना आम हैं। अगर आपके आहार में विटामिन B12 कम है तो उसका प्रमाण बढ़ाये। Pernicious Anaemia रोग में इस विटामिन का पेट में अवशोषण / absorption नहीं होता है और ऐसे में आपको इस विटामिन B12 का इंजेक्शन का कोर्स लेना चाहिए। 
  • मेलेनिन / Melanin : आपके बालों का रंग काला मेलेनिन पिगमेंट के कारण होता हैं। अगर आपके शरीर में इस पिगमेंट की कमी है तो बालों का रंग सफ़ेद हो जाता हैं। आहार में पौष्टिक तत्व और विटामिन की कमी के कारण मेलेनिन कम निर्माण होता हैं। 
  • थाइरोइड / Thyroid : शरीर में थाइरोइड का निर्माण कम होने के कारण हाइपोथायरायडिज्म हो जाता हैं। थाइरोइड हॉर्मोन की कमी के कारण भी बालों का रंग जल्द सफ़ेद हो जाता हैं। हाइपोथायरायडिज्म के लक्षण और उपचार संबंधी जानकारी पढने के लिए यहाँ click करे - हाइपोथायरायडिज्म लक्षण और उपचार 
  • आहार / Diet : अमेरिका में हुए एक शोध में यह जानकारी सामने आयी है की जो युवा आहार में अधिक केमिकल युक्त फ़ास्ट फ़ूड, चटपटा, तलाहुआ और मसालेदार आहार का सेवन करते है उनके बाल जल्द सफ़ेद हो जाते हैं। इसके विपरीत पौष्टिक आहार लेने वाले लोगों में यह समस्या नहीं होती हैं। 
  • तनाव / Stress : जो व्यक्ति अधिक समय तक तनाव में रहता है उनके बाल जल्द सफ़ेद हो जाते हैं। यह एक सबसे बड़ा कारण माना जाता हैं। तनाव में रहने से शरीर में यह बदलाव होता हैं। 
  • सौन्दर्य उत्पादन / Hair Products : आजकल शैम्पू, तेल, कंडीशनर, जेल इत्यादि कई केमिकल युक्त सौंदर्य उत्पाद का लोग इस्तेमाल करते हैं। बालों को कोई खास स्टाइल या रंग बदलने के लिए इस्तेमाल किये जानेवाले इन केमिकल के कारण भी बालों पर विपरीत परिणाम पड़ता है और बालों का रंग सफ़ेद हो जाता हैं। 
  • पानी / Water : अगर आप नहाने के लिए काफी हार्ड वाटर का इस्तेमाल करते है तो इस वजह से भी बाल गिरते है या उनका रंग सफ़ेद हो जाता है। नहाने के लिए अधिक गर्म पानी का इस्तेमाल करने से भी यह समस्या निर्माण होती हैं। 
  • प्रदुषण / Pollution : अगर आप ऐसी जगह रहते है या कार्य करते हैं जहाँ अधिक वायु प्रदुषण है तो हवा में मौजूद खतरनाक केमिकल का विपरीत परिणाम आपके बालों पर भी होता हैं।    
  • धुम्रपान / Smoking : धुम्रपान और शराब इन दोनों आदतों का आपके पुरे शरीर के साथ आपके बालों पर भी बेहद खतरनाक प्रभाव पड़ता हैं। इन आदतों के कारण मेलेनिन पिगमेंट में कमी आती हैं। 
इस तरह बालों का सफेद होने के एक या अनेक कारण हो सकते है और उस कारण का पता लगाकर उपचार करने पर आप अपने बालों को असमय सफ़ेद होने से रोक सकते हैं। बालों को सफ़ेद होने से रोकने के लिए क्या करना चाहिए इसकी अधिक जानकारी पढ़ने के लिए यहाँ click करे - बालों को असमय सफ़ेद होने से रोकने के उपाय और घरेलु आयुर्वेदिक उपचार / नुस्खे !
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे !
loading...

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.