HIV और एड्स (AIDS) को लेकर विश्वभर में अनेक अभियान चलाये जाने के बावजूद भी आज लाखों लोगो को इस प्राणघातक रोग से जुडी अधिक जानकारी नहीं हैं। HIV और एड्स (AIDS) के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए हमने निरोगिकाया पर पहले HIV और एड्स (AIDS) का कारण, फैलाव, लक्षण और उपचार से जुडी जानकारी भरा लेख प्रकाशित किया हैं। इस लेख पर हर रोज पाठकों के अनेक प्रश्न आते हैं।

पाठकों के HIV और एड्स (AIDS) से जुड़े ऐसे ही महत्वपूर्ण प्रश्नों का जवाब देने की कोशिश इस लेख में की गयी हैं। आपसे निवेदन है की अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो कृपया इसे social websites पर share कर सभी लोगो तक यह जानकारी पहुचाने में हमारी मदद करे।

HIV-AIDS-causes-symptoms-treatment-prevention-hindi
HIV और एड्स (AIDS) - आपके सवालों के जवाब 

1) एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में एड्स का वायरस (HIV) कैसे फैलता हैं ?

एड्स का HIV विषाणु एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमित व्यक्ति के रक्त (Blood), वीर्य (Semen), वीर्य से पहले निकलने वाला तरल, योनि से निकलनेवाला तरल (Vaginal Fluid), मेरुदण्ड द्रव (Spinal cord Fluid) और स्तन का दूध (Breast Milk) के शरीर में प्रवेश करने से फ़ैल सकता हैं।

AIDS के विषाणु एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने के प्रमुख कारण इस प्रकार हैं :
  • एड्स से संक्रमित व्यक्ति के साथ (गुद - Anal, मौखिक - Oral या योनि मार्ग - vaginal) संभोग (Sex) करने से। 
  • AIDS से ग्रस्त रोगी पर प्रयोग किए हुए इंजैक्शन को दूसरे व्यक्ति के शरीर में लगाने से। 
  • AIDS संक्रमित खून प्राप्त करने से। (Contaminated Blood Transfusion) 
  • AIDS ग्रस्त मां के द्वारा जन्म लेने वाले बच्चे को। 
  • AIDS ग्रस्त मां के दूध से। 
  • दाढ़ी करते समय, टैटू लगाते समय और शरीर में कोई छेद करते समय उपयोग में लिए जाने वाले सुई, ब्लेड इत्यादि सामग्री HIV विषाणु से संक्रमित होने पर।  
2) क्या कंडोम का उपयोग कर एड्स से बचा जा सकता हैं ?

कंडोम का उपयोग करने से काफी हद तक एड्स से सुरक्षा प्राप्त होती हैं। यह भी ध्यान में रखना चाहिए की कंडोम का उपयोग करने से एड्स से 100% सुरक्षा प्राप्त नहीं होती हैं। एड्स से बचने के लिए अपने साथी से वफादार रहे और वेश्या या किसी अनजान व्यक्ति के साथ सम्भोग न करे।

3) क्या मुख संभोग (Oral Sex) करने से एड्स हो सकता हैं ?

आप जिस व्यक्ति के साथ मुख संभोग कर रहे है अगर उसे एड्स है तो आपको एड्स होने का खतरा रहता हैं। अगर मुंह में छाले या मसूड़ो से खून बह रहा हो तब भी संक्रमण फ़ैल सकता है।

4) HIV से संक्रमित होने के बाद एड्स होने में कितना समय लगता हैं ?

एड्स के विषाणु (HIV) से संक्रमित होने के बाद आधे से ज्यादा मरीजों में 10 वर्ष के अंदर एड्स हो जाता हैं। यह कालावधि व्यक्ति की आयु, रोग प्रतिकार शक्ति और ईलाज पर निर्भर करता हैं। समय के साथ एड्स के लिए नयी दवा की खोज हो रही है जिससे नए रोगियों में एड्स की तीव्रता को कम करने में सफलता हासिल हो रही हैं।

5) अगर कभी भूल से मुझसे कोई गलती हो गयी तो मैंने एड्स की जांच कब करनी चाहिए ?

एड्स का निदान करने के लिए रक्त की जांच की जाती हैं जिसमे एड्स विरोधी तत्व (antibodies) का परिक्षण (Elisa / Westeron Blot) किया जाता हैं। सामान्यतः शरीर में antibodies निर्माण होने मे 8 से 12 हफ़्तों का समय लगता हैं। यह समय हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकता हैं। अगर आपको लगता है की आप एड्स से संक्रमित हो गए है तो अपनी रक्त जांच संपर्क में आने के दिन से 2 से 3 महीने बाद कराये और अगर आपकी यह रिपोर्ट Negative आती है तो फिर से 6 महीने बाद दोबारा यह जांच कर रिपोर्ट सामान्य है इसकी पृष्टि / confirm करे।

6) एड्स का निदान करने के लिए कौन सी जांच की जाती हैं ?

AIDS के निदान / Diagnosis करने हेतु विविध जांच कि जाती है।
  • HIV 1 & 2 : AIDS के निदान / Diagnosis करने हेतु HIV 1 & 2 कि खून जांच कि जाती है। शरीर में HIV का संक्रमण होने के बाद, शरीर कि रोग प्रतिकार शक्ति जवाब में HIV Antibodies का निर्माण करती है। यह Antibodies शरीर में निर्माण होने पर व्यक्ति को HIV Positive कहा जाता है।HIV का संक्रमण होने के बाद, शरीर में HIV Antibodies निर्माण होने को 8 से 12 हफ्ते या 6 महीने तक का समय लगता है और इस समय को Window Period कहा जाता है। HIV विषाणु शरीर में मौजूद होने के बावजूद इस कालावधि में पीड़ित कि खून जांच सामान्य आ सकती है और पीड़ित दुसरो को AIDS फैला सकता है। 
  • HIV Antigen Test : शरीर में HIV का संक्रमण होने के बाद Antibodies तैयार होने में काफी वक़्त लगता है परन्तु Antigen जल्दी तैयार हो जाते है। HIV Antigen Test से HIV का संक्रमण होने के कुछ दिनों में ही निदान हो सकता है और तुरंत उपचार एवं अन्य व्यक्तियो में फैलाव होने से रोका जा सकता है। 
  • CD4 Count : CD4 Cells को Helper-T Cells भी कहा जाता है। यह हमारे रोग प्रतिकार शक्ति के महत्वपूर्ण अंग है। सामान्य स्वस्थ्य व्यक्ति में CD4 Cells कि संख्या 500-1500/ml होती है। CD4 Cells कि संख्या 200/ml से कम आने पर AIDS का निदान किया जाता है।    
  • ELISA Test : AIDS के निदान / Diagnosis करने हेतु ELISA Test (enzyme-linked immunosorbent assay) कि जाती है। यह जांच Positive आने पर confirmation के लिए Western Blot Test जांच कि जाती है। HIV संक्रमण होने के शरुआती 3 हफ्ते से 6 महीने के Window Period में यह जांच False Negative भी आ सकती है।  
  • Saliva Test : एक cotton pad पर मुंह के अंदर से थूक / saliva का sample लेकर laboratory जांच कि जाती है। यह जांच Positive आने पर confirmation  के लिए अन्य ब्लड टेस्ट किये जाते है। 
  • Viral Load Test : इस जांच में खून में HIV के प्रमाण कि जांच कि जाती है। यह जांच निदान और उपचार के दौरान पीड़ित के सुधार के आकलन में काम आती है। 
7) अगर मेरी एड्स की जांच Positive आती है तो मैंने क्या करना चाहिए ?

अगर आपकी एड्स की जांच Positive आती है तो आपने तुरंत एड्स के विशेषज्ञ डॉक्टर के पास जाकर अपना ईलाज करवाना चाहिए। आज एड्स को नियंत्रित करने के लिए बेहद कारगर दवा उपलब्ध है जिनसे एड्स के कारण शरीर पर होनेवाला घातक दुष्परिणाम को रोका जा सकता हैं। आप एक बेहतर, स्वस्थ और लंबा जीवन जी सकते हैं और एहतियात बरत कर आपसे यह रोग अन्य लोगों में फैलने में बचा सकते हैं। 

8) HIV और AIDS में क्या फर्क हैं ?

HIV उस विषाणु / Virus का नाम है जिससे एड्स रोग होता हैं। HIV का संक्रमण शरीर में होने पर यह शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति को नष्ट करने का कार्य करता हैं। जब यह रोग प्रतिकार शक्ति बिलकुल नष्ट हो जाती है और आपका CD4 मात्रा 200 से कम हो जाती है तब आपको एड्स हुआ है यह कहा जाता हैं। अगर शुरुआत में ही आप तुरंत योग्य दवा लेना शुरू करे तो आप लंबे समय तक HIV Positive हो सकते है पर एड्स नहीं भी हो सकता हैं।

9) इस बात की कब पृष्टि / confirm हो सकती है की मुझे HIV का संक्रमण नहीं हुआ हैं ?

HIV का शरीर में संक्रमण होने के बाद 8 से 12 हफ़्तों में शरीर में antibodies निर्माण हो जाती हैं। कुछ मामलों में antibodies तैयार होने में 6 महीने भी लगते है। अगर संपर्क में आने के 6 महीने बाद भी आपकी HIV antibodies की रिपोर्ट Negative आती है तो आपको HIV संक्रमण नहीं हुआ है इस बात की पृष्टि हो जाती हैं। इस बात का ध्यान रखे की इन 6 महीनो में आपको HIV का संक्रमण हो ऐसा कोई जोखिम वाला कार्य न करे।

10) क्या मच्छर के काटने से एड्स फैलता हैं ?

जी नहीं ! मच्छर के काटने से एड्स नहीं फैलता हैं। अगर मच्छर किसी HIV पीड़ित को कांट ले फिर भी उस मच्छर के काटने से एड्स नहीं फैलता हैं।

11) क्या एड्स को ठीक किया जा सकता हैं ?

जी नहीं ! दुर्भाग्य से ऐसी कोई दवा अभी तक निर्माण नहीं हुई है जिसे लेने से एड्स पूरी तरह से ठीक हो जाये। एड्स का निदान होने पर डॉक्टर आपको ऐसी दवा देते है जिसे लेने से शरीर में एड्स के फैलाव को रोक सके, आपकी रोग प्रतिकार शक्ति को सशक्त बना सके और शरीर में एड्स के कारण होनेवाले अन्य रोगो को रोका जा सके। एड्स की दवा नियमित लेने से आप एक खुशहाल लम्बा जीवन व्यतीत कर सकते हैं।

12) मेरी HIV रिपोर्ट Negative है क्या इसका मतलब यह है की मेरी पत्नी / partner को भी HIV संक्रमण नहीं हैं ?

जी नहीं ! आपकी रिपोर्ट सामान्य आने का मतलब यह नहीं है की आपकी पत्नी या साथी की भी रिपोर्ट सामान्य है। आपके पत्नी या साथी की खून जांच करने के बाद ही यह पृष्टि हो सकती है की उन्हें HIV संक्रमण है या नहीं।

13) क्या खून चढाने / Blood Transfusion करने से HIV संक्रमण हो सकता हैं ?

Blood Bank में किसी भी व्यक्ति को खून चढाने के लिए देने के पहले उस खून की अच्छे से जांच की जाती है और बाद में ही खून की बोतल / unit दी जाती हैं। हमेशा खून चढाने के पहले इस बात की पृष्टि करे की उसकी जांच की गयी है या नहीं।

14) एक एड्स का रोगी कितने वर्षों तक जीवित रह सकता हैं ?

आज से 15 वर्ष पहले किसी व्यक्ति को HIV संक्रमण होने के 10 वर्षों के अंदर एड्स हो जाता था और एड्स होने के 2 से 3 वर्षों में ही उसकी मृत्यु हो जाती थी। अब वैज्ञानिकों ने ऐसी नयी असरदार दवा की खोज की हैं जिसे HIV संक्रमण होने के तुरंत बाद चालू करने से एड्स होने से लंबे समय तक रोका जा सकता हैं। यह दवा को निकले ज्यादा समय नहीं हुआ है इसलिए कोई समय अवधि बताना मुश्किल है पर पहले की तुलना में रोगी अधिक समय तक बेहतर जिंदगी जी सकते हैं।

15) मैं HIV Positive हूँ पर मेरा साथी (पति / पत्नी ) HIV Negative है। मेरे साथी को HIV से बचाने के लिए क्या करना चाहिए ?

अगर आप HIV Positive है तो आपने तुरंत डॉक्टर से मिलकर इस विषाणु को कमजोर करने के लिए उचित उपचार जल्द शुरू करना चाहिए। आप डॉक्टर से मिलकर अपने साथी को HIV संक्रमण से बचाने के लिए Pre Exposure Prophylaxis दवा शुरू करनी चाहिए। इस दवा से HIV संक्रमण को रोकने में 90% तक लाभ हो सकता हैं। आपने हमेशा अपने साथी के साथ सुरक्षित संभोग / Protected sex करना चाहिए।

16) अगर मैंने किसी व्यक्ति के साथ असुरक्षित संभोग किया और बाद में मुझे पता चला की वह व्यक्ति HIV Positive है या उसे एड्स है तो मैंने क्या करना चाहिए ? क्या ऐसी स्तिथि में मैं खुद को HIV संक्रमण से बचा सकता हूँ ?

जी हाँ ! अगर आपको पता चलता है की जिस के साथ आपने ऐसा असुरक्षित संबंध बनाया है या आपको किसी HIV संक्रमीत व्यक्ति की सुई चुभी है तो आपको तुरंत एड्स विशेषज्ञ डॉक्टर से मिलकर Post Exposure Prophylaxis दवा लेनी चाहिए। इसमें आपको विषाणु विरोधी 3 दवा का कोर्स 1 महीने तक लेना होता हैं। डॉक्टर आपकी और जिस व्यक्ति से आपका संपर्क हुआ है उनकी एड्स के लिए जांच करते हैं। यह दवा संपर्क में आने से 72 घंटों के अंदर चालू करने पर अधिक असरदार रहती हैं। इस दवा के कुछ दुष्परिणाम भी है और इसके लिए डॉक्टर के सलाह अनुसार दवा लेना चाहिए।

17) क्या एक HIV Positive व्यक्ति दूसरे HIV Positive व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध रख सकता हैं ?

जी नहीं ! अगर एक HIV Positive व्यक्ति दूसरे HIV Positive व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध रखता है तो दोनों में अलग प्रकार / strain के HIV विषाणु फैलने का डर रहता है जिससे रोगी की हालत गंभीर हो सकती हैं। असुरक्षित यौन संबंध रखने से अन्य रोग / Sexually Transmitted Disease फैलने का डर भी रहता हैं।

18) अगर पति और पत्नी दोनों HIV Positive है तो क्या यह मुमकिन है की होनेवाला बच्चा HIV Negative पैदा हो ?

जी हाँ ! अगर महिला गर्भावस्था / Pregnancy से पहले से ही या गर्भावस्था प्राप्त करने पर HIV विरोधी / ART दवा समय पर लेते रहे तो पैदा होनेवाले बच्चे को इस विषाणु का संक्रमण होने से बचाया जा सकता हैं। नियमित दवा लेने पर महिला के रक्त में इस विषाणु का प्रमाण / Viral load इतना कम कर दिया जाता है की होनेवाले बच्चे को इसका संक्रमण नहीं हो। बच्चे के पैदा होने पर उसे भी 6 हफ्ते तक ART दवा दी जाती है और महिला को हिदायत दी जाती है की वह अपना दूध बच्चे को न पिलाये।

19) HIV / एड्स (AIDS) की ART दवा कितने समय तक लेनी होती हैं ?

एक बार आप HIV Positive आने के बाद आपको HIV विरोधी दवा / ART जिंदगी भर लेनी होती हैं। यह दवा अचानक बंद कर देने पर एड्स के विषाणु की संख्या तेजी से शरीर में बढ़ती है और शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति कम होने से शरीर में अन्य रोग फैलने का डर रहता हैं। शरीर में एड्स का फैलाव रोकने के लिए और एक बेहतर जिंदगी जीने के लिए डॉक्टर की सलाह अनुसार दवा लेते रहना चाहिए। 

 20) एड्स से बचने के लिए क्या करे ?

AIDS से बचाव के लिए निम्नलिखित सावधानी बरते :
  • अपने साथी से वफादार रहे। 
  • ज्यादा व्यक्तियों के साथ सेक्स सम्बन्ध नहीं बनाने चाहिए। अगर किसी अन्य व्यक्ति के साथ सेक्स संबंध बनाने भी हों तो हमेशा कंडोम का प्रयोग करना चाहिए। 
  • जहां तक हो सके वेश्या या गलत लोगों से सेक्स संबंध बनाने से बचना चाहिए। 
  • अगर बाहर दाढ़ी आदि बनवानी हो तो नाई से कहकर हमेशा नए ब्लेड का प्रयोग ही करवाएं। 
  • अस्पताल आदि में सुई लगवाते समय हमेशा नई सीरींज का ही प्रयोग करना चाहिए। 
  • अगर अस्पताल आदि में खून चढ़वाने की जरूरत पड़ जाए तो पहले पूरी तरह confirm हो जाएं कि जो खून आपको चढ़ाया जा रहा है वह किसी AIDS रोग से ग्रस्त रोगी का तो नहीं है।
रोकथाम ईलाज से हमेशा बेहतर है और यही बात HIV और एड्स (AIDS) में भी लागु होती हैं। उचित एहतियात बरतकर आप इस रोग से खुद का बचाव कर सकते हैं। 
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

  1. Hello sir mere dost ka HIV positive h to ky vah marriage Kar Sakta h . please sir fully information de

    ReplyDelete
    Replies
    1. विवेकजी,
      आपके दोस्त को सलाह दे की वह पहले डॉक्टर से मिलकर अपना इलाज करे. अगर उनके डॉक्टर सलाह दे तो फिर शादी के बारे में सोचे अन्यतः नहीं

      Delete
  2. Hello sir
    Sir maine call girl ke sath 15din pahle sex kiya aur maine condam lagaakar sex kiya phir bhi mere gale me sukapan aur sardard ho raha hai aur pet dard bhi ho raha hai sar dard sabah se shyam tak ho raha hai kya muze hiv ?

    ReplyDelete
    Replies
    1. Akashji,

      Relation banane ke din se 3 weeks ke baad me HIV test karaye.

      Delete
  3. dr sir paritosh ji maine kam sai kam 50 ladkiyo ka sath sex kiya hai 7 girls ka sath without condom sex kiya hai usmai 2 randiya bhi hai.sir last sex maine 2015 mai kiya tha mujhe aaj aabhi tak koye paresani nhi hui hai,sir mujhe aapne hiv test krwane chaiya ya nhi.sir mare ek new girlfriend bhi bni hai woo virgin hai uska sath mujhe bina condom ka sex krna hai,sir uske sath sex krne sai kya mujhe hiv hoo skte hai yaa nhi please reply sir

    ReplyDelete
    Replies
    1. विवेकजी,
      आपको एड्स होने का पूरा खतरा है. डॉक्टर से मिलकर अपनी जांच कराये और ऐसी बुरी आदत से परहेज करे यह आपके लिए और आपके संपर्क में आनेवाले लोगो के लिए नुकसानदेह हैं.

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.