Typhoid Fever Causes, Symptoms & Treatment in Hindi

Typhoid बुखार यह भारत में अधिक प्रमाण में पाया जानेवाला एक खतरनाक संक्रामक रोग हैं। इसे हिंदी में 'मियादी बुखार' नाम से भी जाना जाता हैं। Typhoid बुखार यह Salmonella Typhi नाम के बैक्टीरिया के कारण होनेवाला संक्रामक रोग हैं। हर वर्ष Typhoid बुखार के कारण लगभग 2 लाख से ज्यादा लोगो की मृत्यु होती हैं।

Typhoid बुखार संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

Typhoid Fever Causes, Symptoms & Treatment in Hindi
Typhoid बुखार का कारण क्या है और यह कैसे फैलता हैं ?
  • Typhoid बुखार का फैलाव संक्रमित पानी और खाद्यपदार्थ से होता हैं। 
  • Typhoid बुखार से पीड़ित व्यक्ति के मल, मूत्र और रक्त में यह बैक्टीरिया रहता हैं। पीड़ित व्यक्ति के मल-मूत्र से दूषित पानी के कारण Typhoid बुखार फैलने की अधिक संभावना रहती हैं। 
  • Typhoid बुखार दूषित पानी से नहाने से और ऐसे दूषित पानी से खाद्यपदार्थ धोकर खाने से भी फैलता हैं। 
  • यह बैक्टीरिया पानी में कई हफ्तों तक जीवित रह सकता हैं। लगभग 3% से 5% Typhoid बुखार से पीड़ित व्यक्ति कोई लक्षण न होने के बावजूद भी Typhoid बुखार फैला सकते हैं। 
  • Typhoid बुखार से पीड़ित व्यक्ति के झूटे खाने-पिने से भी Typhoid हो सकता हैं।   
  • Typhoid बैक्टीरिया से संक्रमित रक्त लगाने से भी हो सकता हैं।  

Typhoid बुखार के लक्षण क्या हैं ?

Typhoid बुखार के निम्नलिखित लक्षण हैं :
  • नियमित बढनेवाला तेज बुखार
  • बदनदर्द 
  • कमजोरी 
  • सिरदर्द, पेट दर्द 
  • कम भूक लगना 
  • बच्चो में दस्त की शिकायत 
  • बड़ो में कब्ज की शिकायत 
  • बीमारी अधिक बढ़ जानेपर आंतो में अल्सर हो सकते है और इनके फट जाने पर operation की जरुरत पड़ सकती हैं। 
Typhoid बुखार का निदान / Diagnosis कैसे किया जाता हैं ?

Typhoid बुखार का निदान करने के लिए, Typhoid बुखार के लक्षण पाये जानेवाले व्यक्तिओ में निम्नलिखित जांच किये जाते है :
  • Typhidot Test : रोगी के रक्त का नमूना एक किट में डालकर जांच की जाती हैं। इसका परिणाम Positive आनेपर Typhoid बुखार का निदान किया जाता हैं। 
  • Blood Culture : यह बिमारी के पहले हफ्ते में रक्त में Typhoid बुखार का बैक्टीरिया की मौजूदगी की जांच करने के लिए किया जाता हैं। 
  • Stool Culture : यह रोगी व्यक्ति के मल में Typhoid बुखार का बैक्टीरिया की मौजूदगी की जांच करने के लिए किया जाता हैं।  
  • WIDAL Test : इस जांच में रोगी व्यक्ति के रक्त की जांच की जाती हैं। इसमें O और H antigen में 180 से ज्यादा अनुपात आने पर Typhoid बुखार का निदान किया जाता हैं। 
  • Sonography / Xray : पीड़ित व्यक्ति पेट को अधिक पेट दर्द और उलटी होने पर आंतो में अल्सर का निदान करने हेतु यह जांच की जाती हैं।  
इनके अलावा भी रोगी के समस्या अनुसार अन्य जांच की जा सकती हैं। 

Typhoid बुखार का ईलाज कैसे किया जाता हैं ?
  • Typhoid बुखार का ईलाज करने के लिए Antibiotics का इस्तेमाल किया जाता हैं। 
  • पहले के ज़माने लगभग 20% Typhoid बुखार के रोगियों की मृत्यु हो जाती थी परंतु अब ज्यादा असरदार Antibiotics का उपयोग करने के कारण सिर्फ 1 से 2% रोगियों की ही मृत्यु होती है और वह भी किसी बड़े complication के कारण होती हैं। 
  • अगर पीड़ित व्यक्ति को ज्यादा कमजोरी नहीं है और आहार अच्छे से ले रहा है तो घर पर भी Antibiotics दवा लेकर Typhoid बुखार का ईलाज किया जा सकता हैं। कम से कम 2 हफ्तों तक Typhoid बुखार की दवा लेना होता हैं। 
  • अधिक कमजोरी और उलटी, दस्त इत्यादि समस्या होने पर हॉस्पिटल में दाखिल होकर ईलाज कराना जरुरी होता हैं। 
  • Typhoid बुखार के कारण आंतो में अल्सर होने पर जरुरत पड़ने पर operation भी किया जाता हैं। 
Typhoid बुखार से बचने के लिए क्या एहतियात बरतने चाहिए ?

Typhoid बुखार से बचने के लिए निम्नलिखित एहतियात बरतना चाहिए :
  • Typhoid vaccine / लसीकरण : Typhoid बुखार से बचने के लिए दो तरह की vaccine उपलब्ध हैं। पहले तरह की Typhoid vaccine में injection दिया जाता है। यह vaccine 2 वर्ष से ऊपर के आयु के व्यक्तिओ में ही दी जाती हैं। दूसरी तरह की Typhoid vaccine में 4 गोलिया दी जाती है जिसमे से एक गोली एक दिन छोड़कर (1, 3, 5, 7) खाना होता हैं। यह vaccine 6 वर्ष से ऊपर के व्यक्तिओ में ही दी जाती हैं। इन दोनों vaccine का असर 2 हफ्ते बाद होता है और Typhoid बुखार के खिलाफ कुछ प्रमाण में प्रतिरोध शक्ति का निर्माण होता हैं। याद रहे की यह दोनों vaccine से 100% सुरक्षा की गारंटी नहीं मिलती हैं।  
  • पानी : पिने के लिए हमेशा स्वच्छ पानी का उपयोग करे। अगर घर में RO नहीं है तो पानी को कम से कम 1 मिनिट उबाले और बाद में ठंडा होने के बाद में ही उपयोग करे। अगर कही बाहर सफ़र कर रहे है तो बोतलबंद पानी का उपयोग करे। घर में सब्जी / फल को साफ़ करने के लिए भी स्वच्छ पानी का ही इस्तेमाल करे। बाहर मिलने वाले बर्फ का इस्तेमाल न करे। 
  • हात धोना : हमेशा खाना बनाने या खाने से पहले और बाथरूम के बाद अच्छे साबुन से हात धोना चाहिए।हात धोते समय साबुन से अच्छा झाग बनाकर १५ सेकंड तक बहते पानी में हात को अच्छी तरह से धोए और बाद में स्वच्छ कपडे से हात को अच्छी तरह से साफ़ करे। नल बंद करने के लिए उसी साफ कपडे का इस्तेमाल करे जिससे हात को दुबारा दूषण (Contamination) न हो। अगर पानी उपलब्ध नहीं है तो अपने साथ हात साफ़ रखने के लिए Hand sanitizer पास रखे। 
  • आहार : घर में बना स्वच्छ, गर्म और पौष्टिक आहार लेना चाहिए। बाजार में और रस्ते पर बिकनेवाले आहार पदार्थो से परहेज करे। 
  • रोगी : अगर आपको Typhoid बुखार हैं तो आपने हमेशा अपने हात साफ़ और स्वच्छ रखना चाहिए। आपके कपडे, चद्दर, तौलिया इत्यादि गर्म पानी और साबुन से धोना चाहिए। आपने अन्य खाद्य पदार्थो को नहीं छूना चाहिए और औरो के लिए खाना नहीं पकाना चाहिए।  
       Typhoid बुखार सबंधी उपयोगी जानकारी देने की कोशिश यहाँ पर की गयी हैं। अधिक जानकारी हेतु कृपया
       अपने डॉक्टर से संपर्क करे और उनके निर्देशों का पालन करे। 

Image courtesy : Naypong at FreeDigitalPhotos.net
source : http://www.who.int/rpc/TFGuideWHO.pdf  

आपसे अनुरोध है कि आप आपने सुझाव, प्रतिक्रिया या स्वास्थ्य संबंधित प्रश्न निचे Comment Box में या Contact Us में लिख सकते है !
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plusFacebook  या Tweeter account पर share करे ! 
     
loading...

Post a Comment

  1. बहुत ही सटीक और उपयोगी जानकारी लिखी है आपने मियादी बुखार के विषय में !

    ReplyDelete
  2. Awesome blog design and useful article (h)

    ReplyDelete
  3. सटीक जानकारी मिली है। मुझे 10 दिन से हल्का 99-100 बुखार प्राय सायं काल मे आता है। आयुर्वेदिक उपचार कर रहा हूं । नावा की खुराक भी ली है। अब बुखार केवल थकान होने पर ही आरहा है वो भी 98-99। रेस्ट के साथ ठीक होजाता ।
    क्या सुझाव है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. bhai yhi halat meri hai. me bhi aayurvedik dwa kha rha hu. mujhe 11 din ho gye khate. lakin bhukhar kbhi kbhi aata hai or sir me dard bahut hota hai.

      Delete
  4. Thanks For sharing Information..Really very useful for Typhoid fever.

    ReplyDelete
  5. बहुत बहुत धन्यवाद इस तरह की जानकारी के लिए.. बहुत सहायक है

    ReplyDelete
  6. good information.....
    it is very helpfull

    ReplyDelete
  7. Sir Mai 3year se typhoid se pareshan hu medicine leta hu to thik rhta hu or chor deta ho to phr problem aati h maximum 2 month tak maine continue medicine li. So what should i do....kch samaj nahi aata.

    ReplyDelete
    Replies
    1. अविनाश जी,
      एक बार टाइफाइड ठीक होने के बाद अगर आप दोबारा बाहर कुछ खा-पि लेते है जिसमे टाइफाइड के जंतु है तो आपको दोबारा टाइफाइड हो सकता हैं. इसलिए हमेशा स्वच्छ जगह पर खाना खाए. आप टाइफाइड की वैक्सीन लगा सकते हैं. यह भी ध्यान रखे की एक बार टाइफाइड होने के बाद उसके एंटीबाडी शरीर में निर्माण होती है इसलिए अगले 6 महीने तक टाइफाइड न होने के बाद भी रिपोर्ट false positive आ सकती हैं.

      Delete
    2. MERE HAT OR PER BHOT GARAM REHE HI TO KAYA BAJAY HODAKTI HI

      Delete
    3. Doctor se milkar apna thyroid jaanch karaye.

      Delete
  8. bilkul sahi likha ha aapne thank you

    ReplyDelete
  9. Konse fruits acche hote he typhoid ke waqt???

    ReplyDelete
    Replies
    1. Khatte fal chod aap sabhi fal kha sakte hain.

      Delete
  10. dear sir

    my self Rishabh singh. mujhe last 2 years se typhoid bar-2 ho jata hai or doctors ko bhi bataya hai par mujhe kisi bhi trha se aaram nhi mil rha hai kya aap mujhe bata sakte hai ki me kya karu jisse mai feet & fine ho jaun

    ReplyDelete
    Replies
    1. Dear Rishabh,
      Typhoid hone ka main karan hai contaminated pani ya aahaar (food). Agar aap bahar ka pani ya food jyada lete hai aur apki immunity kam hai to apko baar baar typhoid ho sakta hain. hamesha saaf pani piye aur ghar ka swachch aahar le.

      Delete
    2. Mujhe bi typhoid bukhar ho gya lekin bukhar kbi kbi hlka hlka hota lekin sari dikat bahut jyda hoti h bhukh bilkul bi n lgti h pet me sir me bahut drd hoti h

      Delete
    3. Thyphoid me complete 14 days ka antibiotic corse le aur halka aahar le. Yah samsya shire shire kam ho jati hain.

      Delete
  11. Sir I'm suffering from typhoid from 14 year ago and this year also I have typhoid positive report so please give me proper suggestion to how can get rid of this problem forever with the help of ayurveda

    ReplyDelete
    Replies
    1. नंदिनी जी,
      टाइफाइड बार बार होने के दो कारण है, दूषित खान पान और रोगप्रतिकार शक्ति कम होना. टाइफाइड से बचने के लिए लेख में बताये हुए एहतियात का पालन करे. रोग प्रतिकार शक्ति बढाने के लिए हमारा रोग प्रतिकार शक्ति कैसे बढ़ाना है यह लेख पढ़े.

      Delete
  12. sir mujhe tyfide 15 din pahle hua tha ab race dodne me problm hoti h kya kare

    ReplyDelete
    Replies
    1. यह कमजोरी के कारन हैं. पौष्टिक आहार ले और रोजाना प्रैक्टिस करे

      Delete
  13. my wife has facing repeated problem of typhoid and in last 6-8 months she has suffering 3 rd time by typhoid and doctor tells if this happens again she will facing problem of garbh nalika

    ReplyDelete
    Replies
    1. एक बार टाइफाइड होने के बाद शरीर में एंटीजन निर्माण होने के कारन कुछ समय तक यह रिपोर्ट पॉजिटिव आ सकता हैं. डॉक्टर की सलाह्नुसार दवा ले

      Delete
  14. Sir I was having typhoid 3 months ago and dur to it I also got diarrhoea, I took the medication hence typhoid was cure but after passage of this much time, my stomach is still unsettled.i used to go to toilet 3-4 times a day. One of my relative suggested me to have a paste of kali mirch and harsingar.i helped me but I am not cured completely yet. Please help me.few elderly people also said that somehow I have displaced my belly button.they did some pressure technique with a lota on my belly button,but my problem still persists, in a low extent though.

    ReplyDelete
    Replies
    1. As typhoid is a disease of intestine you can have some trouble due to it. Kindly consult a surgeon or physician rather than experimenting on yourself. Do not eat any spicy or oily foods and avoid tea/ coffee.

      Delete
  15. Sir hmare father ka pichle mahine Mumbai tata memorial hospital me gall bladder stone k operation hua, unka histopathology report negative malignency aaya, operation k think 30din baad unhe thand aur fever aaya , test krane p typhoid positive aaya aur weakness but jyada hai,
    Kya jb histopathology negative aaya to phir v koi chinta ki baat hai kya?

    ReplyDelete
    Replies
    1. उनकी histopathology रिपोर्ट नार्मल है तो कोई परेशानी नहीं. डॉक्टर की सलाह से उपचार कराये

      Delete
  16. Sir mujhe 3/4 din pahale thoda body temperature badh gaya tha to mene agle din 1 paracetamol table khaya to bukhar nahi raha lekin me apna blood test kara to report me typhoid 320% bataya lekin mujhe abhi tak bukhar nahi hua he dubara. To me fir dusre din or jagah pe test kara to waha pe report me 180 aya to me ab keya karun mujhe thoda v bukhar nahi he lakin aaj thoda sa thakan laghraha he me keya karun..please help me

    ReplyDelete
    Replies
    1. मानसजी आप Widal की जगह टाइफाइड के निदान के लिए Typhidot जांच कराये जिससे सही निदान हो सकता हैं.

      Delete
  17. Dear sir,
    My Father is suffering for Piles more then 3 month. Please tell me what is Solution.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके पिताजी को 3 साल से तकलीफ है इसलिए बेहतर होंगा आप सर्जन डॉक्टर को बताकर इसका उपचार कराये, बाकि पाइल्स से जुडी अन्य जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध हैं.

      Delete
  18. dear sir.
    mere father ki age 55year hai vo last 5 years se fever aur typhoid se pareshan hai.. kafi hospital me.unhe admit krwaya hai kafi doctors ko dikhaya hai.. pr poori tarh se ye infection unke body se nhi jaata .. jab bhi koi physically work krte hai wo week ho jaate hai..fer bukhaar ho jata hai aur saath k sath test report me.high typhoid a jaata hai..main bhut pareshaan hu sir pls suggest hum.esa kya kre k vo poori tarh es infection se bahar a jaaye

    ReplyDelete
    Replies
    1. आयुर्वेदिक डॉक्टर से मिलकर उनकी रोग प्रतिकार शक्ति बढाने का प्रयास करे और टाइफाइड से बचने के लिए लेख में दिए हुए एहतियात का पालन करे.

      Delete
  19. Mujhe one week se typhoid h. kl se 101, 102 fever h bhukh bhi nhi lgti weakness bohot ho gyi h. sbhi test kra lie h . Kya karna chahiye aur khane mein kya le?

    ReplyDelete
    Replies
    1. किरण जी,
      डॉक्टर से मिले और १४ दिन का एंटीबायोटिक दवा का कोर्स ले. खाने में हल्का आहार ले. तलाहुआ / तीखा / मसालेदार / चाय और कॉफ़ी से परहेज रखे.

      Delete
  20. Agar Typhoid vale marij ko chala nahi ja rahe aur use bola bhi nahi ja raha hai to kya kare ?

    ReplyDelete
    Replies
    1. ऐसे मरीज को हॉस्पिटल में दाखिल कर डॉक्टर की देखरेख में सही जांच और उपचार कराना चाहिए.

      Delete
  21. sir typhoid ho gya hai mujhe
    report me o position upto 1:320 dilution aya hai lekin treatment lene ke baad bhi aaram nahi mil raha hai
    plz give advice ye jad se khatam karna hai.... apako jesa uchit lage...

    ReplyDelete
  22. Sir meri wife pregnent hai. Or use typhoid ho gaya hai . Bhook bilkul nahi lagti hai or ulti bhi hoti. Please bataiye kin chijo ka parhej karna hai or kya treatment lena hai.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Doctor se milkar Typhiod ka treatment le. Aahar me tala hua, tikha aur adhik masaaledar aahar na de. Thoda-thoda aahar har 2 ghante se khilaye. Ek saath jyada aahar na de.

      Delete
  23. sir muje 13 din pehle achanak chakkar ane lage halka sa bukhar jesa hone laga.. maine Report nikali to typhoid Positive aaya.. uske baad 6 days ki Antibiotics davai li uske baad 2/3 din tak achaa raha fir firse achanak chakkar aane lage thode thode Headache hone laga .. or mai khane pine mai bhi bahot hi dhyan rakhtahu.. par abhi bhi muje almostroz 7 to 9 ke bich aesa hota hai fir subah thik hojata hai.... to iska koi permanent solution bataye ....

    ....... thanks

    ReplyDelete
    Replies
    1. देवजी,
      अभी जो आपको तकलीफ है वह कमजोरी के कारण हो सकती हैं. टाइफाइड के लिए पूरा १४ दिन का एंटीबायोटिक का कोर्स करे तब ही टाइफाइड ठीक होंगा और अन्य तकलीफे भी कम होंगी.

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.