लगभग सभी लोगो ने यह सुन रखा है की रोज सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलाकर पिना हमारे शरीर के लिए बेहद फायदेमंद है। यह मिश्रण पिने से हमारे शरीर की सफाई होती है, पाचन प्रणाली मजबूत होती है और साथ ही weight loss करने में भी मदद मिलती है।

गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलाकर पिने से होने वाले विविध स्वास्थ्यकर लाभ की जानकारी निचे दी गयी है :

Health-Benefits-of-Drinking-Warm-Water-With-Lemon-and-Honey-in-Hindi

  • मुख शुद्धि (Oral Health) : कई लोग मुख की दुर्गन्द से पीड़ित होते है। गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलाकर सुबह खाली पेट पिने से ऐसे लोगो को इस तकलीफ से छुटकारा मिल सकता है। निम्बू और शहद से मुख की सफाई होती है और Salivary Glands से लार का स्त्रवण ठीक होता है। इस मिश्रण से जीभ पर जमने वाली सफ़ेद परत भी निकल जाती है और मुंह से आनेवाली दुर्गन्द से छुटकारा मिलता है। 
  • पाचन प्रणाली (Digestion) :  गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलाकर सुबह खाली पेट पिने से आपके बिगड़े हुए पाचन तंत्र को ठीक करने में मदद करता है। निम्बू रस के acid के कारन Liver से bile का सही स्त्रवण होता है जो की पाचन में लिए जरुरी होता है। शहद जीवाणुरोधी कार्य करता है और पेट में स्थित विषाणु पदार्थ (Toxins) को बाहर निकालने में मदद करता है जिससे हमारा शरीर detox होने में मदद मिलती है। 
  • वजन नियंत्रण (Weight loss) : मोटापे से पीड़ित लोगो के लिए यह मिश्रण वरदान से कम नहीं है। शहद मीठा होता है पर शहद का Glycemic Index कम होने के कारन ज्यादा calories शरीर को नहीं मिलती है और पाचन ठीक होने से अतिरिक्त Fats का पचन आसानी से हो जाता है। निम्बू में pectin नामक fiber होने के कारन पेट भरा होने का एहसास रहता है और जल्द भूक भी नहीं लगती है। निम्बू से मिलने वाले Vitamin C से Fats का पाचन होने में मदद मिलती है। यह मिश्रण पिने से पेट अंदर से Alkaline रहता है जो की पाचन और वजन कम करने हेतु आवश्यक है।  
  • कब्ज (Constipation) : कब्ज से पीड़ित लोगो के लिए भी यह सबसे उत्तम और सस्ता ईलाज है। सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलाकर पिने से पेट में सुस्त पड़ी आंतड़िया तुरंत कार्य करना करना शुरू कर देती है। इस मिश्रण से आंत में Mucus और पानी का स्त्रवण ठीक से होता है जिससे सूखे मल (Stools) भी आसानी से बाहर निकल सकता है। पाचन ठीक होने से कब्ज की शिकायत कम हो जाती है।   
  • सुन्दर त्वचा (Skin) : गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलाकर पिने से पेट के साथ-साथ खून की शुद्धि भी होती है। खून की शुद्धि होने से और खून में नयी पेशी तैयार होने से त्वचा और निखर जाती है। शहद और पानी के कारन त्वचा मुलायम होती है और शहद के जीवाणुरोधी गुणों के कारन नियमित यह मिश्रण पिने वालो में त्वचा के रोग दूर हो जाते है।  
  • ऊर्जा (Energy) : शहद मीठा होने से तुरंत ऊर्जा मिलती है। निम्बू का स्वाद और सुगंध से नव चैतन्य प्राप्त होता है। गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलाकर पीना एक प्रकार का स्वास्थ्यकर Energy drink की तरह काम करता है। सुबह उठने के बाद खाली पेट इसे पिने से दिन की शुरुआत ही ऊर्जावान हो जाती है जो की फिर दिनभर बनी रहती है। 
  • जीवाणुरोधी (Antibiotic) : निम्बू और पानी पिने से पेशाब अधिक मात्रा में होती है और अपने जीवाणुरोधी गुणों के कारन शहद कई रोगकारी जीवाणु का नाश करता है। हमेशा पेशाब के infection से त्रस्त रहने वाले महिलाओ के लिए यह मिश्रण बेहद लाभकारी है। निम्बू और शहद के Antibiotic और Antioxidant गुणों से हमारी रोग प्रतिकार शक्ति भी बढ़ जाती है।     
इस उपयोगी मिश्रण को तैयार करने की और इस्तेमाल करने की विधि इस प्रकार है :
  1. एक ग्लास में 250 से 300 ml गुनगुना (Warm) पानी ले। 
  2. अब गुनगुने पानी में आधे निम्बू का रस और एक चमच्च शहद डालकर अच्छे से mix करे। 
  3. अब इस मिश्रण को एक साथ पूरा पीना है। 
  4. आप को इस मिश्रण को सुबह खाली पेट ही लेना चाहिए। 
  5. आप चाहे तो सुबह इसे tooth brush करने से पहले भी इसे ले सकते है। 
  6. इस मिश्रण को पिने के बाद 1 घंटे तक कोई चाय आदि पेय या खाना नहीं लेना चाहिए। 
  7. ध्यान रहे की पानी ज्यादा गर्म या ठंडा न हो। गर्म पानी से गला और मुंह जल सकता है। ठन्डे पानी से कब्ज हो सकती है और वजन कम होने की जगह पर वजन बढ़ सकता है। 
  8. इस मिश्रण के बेहतरीन परिणाम पाने के लिए इसे नियमित लेना जरुरी है। 
  9. जो व्यक्ति केवल weight loss करने हेतु इसका उपयोग करना चाहता है उन्हें सलाह है की वह केवल इस पर निर्भर न रहकर साथ मे व्यायाम और आहार परिवर्तन पर भी ध्यान दे। 
  10. इस मिश्रण का नियमित लम्बे समय तक सेवन करने पर कब्ज (Constipation) , अम्लपित्त (Acidity), बवासीर (Piles) और अपचन (Indigestion) जैसे कई रोगो से बचाव किया जा सकता है।  
Image Courtesy : Google

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !

आपसे अनुरोध है कि आप आपने सुझाव, प्रतिक्रिया या स्वास्थ्य संबंधित प्रश्न निचे Comment Box में या Contact Us में लिख सकते है !
loading...

Post a Comment

  1. नीम्बू, शायद और गुनगुना पानी ... एक इलाज और कितनी बीमारियों से लाभ ....
    अच्छी जानकारी साझा की है ...

    ReplyDelete
  2. very good information about how to eradicate obesity.ASHISH PANDEY.

    ReplyDelete
  3. Amazing! My mom is getting more fat day by day. I just cant wait to see her real herself, maintained! Just changing the temperature of water can also be included as health benefits drinking water , I can't ever imagine

    ReplyDelete
  4. Thanks sir, thats the great suggestion....................sssssssssssssss

    ReplyDelete
  5. Nice suggestion.but is there any way to get rid of tooth becoming sour after the drink.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Just gargle with a little water and sourness will fade away.

      Delete
  6. क्या पानी को उबालना जरूरी है ?
    अथवा सिर्फ गुनगुना होने तक गर्म करें ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. पानी को गुनगुना होने तक गर्म करे !

      Delete
  7. Should we avoid honey for better result or loosing more weight?

    ReplyDelete
    Replies
    1. No need to avoid Honey. Honey itself will help to lose weight.

      Delete
  8. Subah khali pet means ?? Fresh hone se pahle ya fresh hone ke baad ?? Plz Suggest me.

    ReplyDelete
    Replies
    1. खाली पेट का मतलब सुबह कुछ खाने या पिने से पहले !

      Delete
    2. But ye bata do ki fresh hone se phle use krna h ya baad m

      Delete
  9. Isse morning worlk se pehele le ya baad mai

    ReplyDelete
    Replies
    1. मोर्निंग वाक से पहले

      Delete
  10. Sirf garm pani ke sath bina nibo ke lene per faida hoga ya ahi

    ReplyDelete
    Replies
    1. अवश्य लाभ होंगा

      Delete
  11. Medohar vati ke sath ye prayog kesa rahega

    ReplyDelete
    Replies
    1. कमराली जी, आप मेधोहर वटी ले सकते है पर इसके लिए पहले अपने आयुर्वेदिक डॉक्टर से इसकी मात्रा निर्धारित कर ले.

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.