High blood pressure causes, symptoms and treatment in Hindi

उच्च रक्तचाप जिसे Hypertension या सामान्य भाषा में हम High BP कहते है, एक जानलेवा बीमारी है। उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड प्रेशर एक शांत ज्वालामुखी कि तरह है जिसमे ऊपर से कोई लक्षण दिखाई नहीं देते है पर यह ज्वालामुखी फूटने के बाद शरीर पर लकवा, Heart Attack जैसे गम्भीर परिणाम हो सकते है।

हाई ब्लड प्रेशर के कारण भारत में हर वर्ष लाखों लोगो की मृत्यु हो जाती हैं। हाई ब्लड प्रेशर में शुरुआत में कोई लक्षण नजर नहीं आता इसलिए रोगी को देरी से इसका पता चलता हैं। कई बार तो साधारण सर्दी-खांसी के लिए डॉक्टर के पास चेकअप कराने पर अकस्मात इसका पता चलता हैं। 

हाई ब्लड प्रेशर संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी है :

high-blood-pressure-causes-symptoms-treatment-hindi

हाई ब्लड प्रेशर के कारण, लक्षण और उपचार Symptoms and Treatment of High Blood Pressure in Hindi

रक्तचाप / Blood Pressure (BP) किसे कहते है ?

ह्रदय शरीर के सभी अंगो को नलिकाओं के द्वारा रक्त को पहुँचाने का कार्य करता है। इसी रक्तप्रवाह के समय ह्रदय एक दबाव पैदा करता है जो रक्त नलिकाओं के अंधरूनी भाग पर पड़ता है। इस दबाव को रक्तचाप या Blood Pressure कहते है। रक्तचाप से आपके पुरे शरीर में रक्त संचारण में सहायता मिलती है।

सामान्य रक्तचाप क्या है ? Blood pressure in Hindi

रक्तचाप को एक उपकरण जिसे Sphygmomanometer कहते है, द्वारा मापा जाता है। एक सेहतमंद आदमी के लिए रक्तचाप, सिकुड़ने के समय / Systolic Blood Pressure 120 mmhg  होता है और आराम कि स्तिथि में  / Diastolic Blood Pressure 80 mmhg  होता है। इसे आमतौर पर 120/80 mmhg लिखा जाता है।

उच्च रक्तचाप / Hypertension किसे कहते है ?

जब आपका Systolic Blood Pressure 140 mmhg या इससे ऊपर और Diastolic Blood Pressure 90 mmhg या इससे ऊपर हो जाता है, तब उसे उच्च रक्तचाप / Hypertension कहते है। प्रत्येक व्यक्ति का रक्तचाप प्रतिदिन और प्रति घंटे बदलते रहता है।

ज्यादा काम करने, भय, चिंता, शोक, क्रोध, व्यायाम इत्यादि अवस्था में रक्तचाप कुछ समय के लिए बढ़ जाता है। इसीलिए अगर किसी व्यक्ति का रक्तचाप, सामान्य स्तिथि में नियमित रूप से ज्यादा आता है तब डॉक्टर उसे उच्च रक्तचाप / Hypertension कहते है। उच्च रक्तचाप / Hypertension का निदान तब तक नहीं किया जाता है जब तक आपके रक्तचाप कि कई बार जाँच न कि जाए और यह उच्च न बना रहे।

उच्च रक्तचाप / Hypertension के क्या लक्षण है ? Symptoms of High Blood pressure in Hindi

क्या आपको उच्च रक्तचाप / Hypertension है इस बात को जानने का एक ही तरीका है इसकी जांच करवाई जाए। उच्च रक्तचाप का अधिकांश लोगो में कोई खास लक्षण नहीं होता है। कुछ लोगो में बहोत ज्यादा रक्तचाप बढ़ जाने पर सरदर्द होना या धुंदला दिखाई देना जैसे लक्षण दिखाई देते है। इसलिए जरुरी है कि 30 वर्ष कि आयु के बाद  और अगर आपका वजन ज्यादा है या आपके परिवार में किसी को उच्च रक्तचाप है, तो 20 वर्ष आयु के बाद साल में कम से कम एक बार अपने रक्तचाप कि जांच डॉक्टर से करवाए।

उच्च रक्तचाप / Hypertension के क्या दुष्प्रभाव है ? 

उच्च रक्तचाप / Hypertension के कई दुष्प्रभाव है। आपके रक्त के लिए आपकी रक्तवाहिकाओं में प्रवाहित होना जितना कठिन होंगा, आपके रक्तचाप कि संख्या उतनी ही उच्च होंगी। आपका ह्रदय को उच्च रक्तचाप के कारण सामान्य से अधिक काम करना पड़ता है। उच्च रक्तचाप के कारण दिल का दौरा (Heart Attack), रक्ताघात, गुर्दे का काम न करना (Kidney Failure) और रक्तवाहिनिओ का कठोर होने जैसे गंभीर रोग हो सकते है।

उच्च रक्तचाप / Hypertension पर नियंत्रण पाने के लिए क्या करे ?How to control High Blood Pressure in Hindi

उच्च रक्तचाप / Hypertension पर नियंत्रण पाने के लिए निम्नलिखित सलाह का पालन करे :
  • डॉक्टर के निर्देश के अनुसार रक्तचाप कि दवा नियमित रूप से ले। 
  • डॉक्टरी जांच समय पर करवाए। 
  • अपना अतिरिक्त वजन घटाए। 
  • नियमित रूप से डॉक्टर कि सलाह अनुसार व्यायाम करे। 
  • अपने खाने में योग्य बदलाव लाये। 
  1. जीवनदायी खाद्यपदार्थो को अधिक ले। 
  2. अनाज जैसे - गेहू, चावल, रागी, मकई, अंकुरित दाले, मछली, साग-सब्जी एवं ताजे फल आदि का अपने आहार में समावेश करे। 
  3. वनस्पति तेल जैसे - सूरजमुखी तेल या सोयाबीन तेल का इस्तेमाल करे। 
  4. इन चीजो से परहेज करे - तेलीय पदार्थ, मख्खन, घी, डालडा, चिप्स, मुर्गी का गोश्त, अचार, पापड़ एवं सॉस। चॉकलेट, आइसक्रीम, केक, शीतल पेयजल का सेवन न करे।
  5. नमक सेवन और सुझाव - ज्यादा नमक वाले भोजन न खाए। खाने कि मेज पर रखी नमक कि छोटी डिबिया को हटा दे। नमक के बजाए सब्जियो पर निम्बू का रस छिड़के। अचार, चटनी, पापड़, नमकीन मूंगफली, चिप्स आदि का सेवन न करे क्योंकि इसमें नमक अधिक होता है। खाने कि चीजो में नमक कम डालकर पकाए। 
  6. हमेशा ताज़ी हरी सब्जियो का इस्तेमाल करे। 
  7. Potassium कि अधिक मात्रा वाले खाद्य पदार्थो का सेवन करे। केला, संतरा, आलू, कोमल नारियल का पानी जैसे खाने कि चीजो में Potassium अधिक होता है। यह रक्तचाप घटाने में मदद करता है। 
  • अपने रहन सहन में बदलाव करे 
  1. तनाव मुक्त रहे। 
  2. सिगरेट पीना छोड़ दे। 
  3. शराब कि मात्रा को कम करे। 
  4. तंबाखू-गुठखा खाना बंद करे। 
  5. योग, प्राणायाम, ध्यान करे। 
  6. नियमित व्यायाम करे। 
कौन से लक्षण या तकलीफ होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए ? 

निम्नलिखित लक्षण या तकलीफ होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे :
  • तेज सरदर्द 
  • सीने में दर्द या भारीपन 
  • नजर में परिवर्तन 
  • चक्कर आना 
  • सांस लेने में परेशानी 
  • चहरे, बांह या पैरो में अचानक सुन्नपन, झुनझुनी या कमजोरी महसूस होना 
  • अचानक घबराहट, समझने या बोलने में कठिनाई 
  • निगलने में कठिनाई 
हर व्यक्ति ने 30 वर्ष की आयु के बाद साल में कम से कम एक बार अपना रक्तचाप / Blood Pressure की जांच अवश्य कराना चाहिए। जिन लोगो के परिवार में किसी को उच्च रक्तचाप का ईतिहास हैं उन्होंने 20 वर्ष की आयु के बाद से ही प्रति वर्ष रक्तचाप की जांच कराना चाहिए। जो लोग उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं उन्होंने अपने डॉक्टर की सलहानुसार नियमित रक्तचाप की जांच कराना चाहिए।
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !

Designed by Freepik
loading...
Labels:

Post a Comment

  1. Replies
    1. प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद !

      Delete
  2. Good work Dr. Paritosh. I am visiting your site after a long time and am happy to see your progress. Keep doing the nice work. Future hold great rewards for you.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Dear Gopal Mishra,
      Thanks a lot for visiting again and encouraging me to write more.
      Happy Blogging !!

      Delete
  3. उच्च रक्तचाप / Hypertension के क्या दुष्प्रभाव है ?

    उच्च रक्तचाप / Hypertension के कई दुष्प्रभाव है। आपके रक्त के लिए आपकी रक्तवाहिकाओं में प्रवाहित होना जितना कठिन होंगा, आपके रक्तचाप कि संख्या उतनी ही उच्च होंगी। आपका ह्रदय को उच्च रक्तचाप के कारण सामान्य से अधिक काम करना पड़ता है। उच्च रक्तचाप के कारण दिल का दौरा (Heart Attack), रक्ताघात, गुर्दे का काम न करना (Kidney Failure) और रक्तवाहिनिओ का कठोर होने जैसे गंभीर रोग हो सकते है।
    ​उपयोगी पोस्ट और साथ में बेहतरीन सुझाव !

    ReplyDelete
  4. blo presser ko hamesha ke liye door kaise kiya ja sakta hai

    ReplyDelete
    Replies
    1. धर्मेंद्रजी,
      अगर आपको High BP है तो आपने अपने डॉक्टर की सलाह्नुसार दवा जरुर लेना चाहिए l लेख में दिए गए सुझाव का पालन कर आप BP को और बढ़ने से रोक सकते है और उसके दुष्परिणाम से बच सकते हैं l
      अगर आपको high BP की शिकायत नहीं है तो लेख में दिए हुए सुझाव का पालन कर आप high BP से दूर रह सकते हैं l

      Delete
  5. kabhi 2 badta hai hamesha nahi kabhi 130-140/80-90 ya 140-150/90-100 ho jata hai kabhi kabhi plz kuch aur salah batayeye sir me tanav me jyada rahta hu faltu ka tanav koi bager ghatna ke

    ReplyDelete
    Replies
    1. धर्मेंद्रजी,
      तनाव रक्तचाप बढ़ने का एक और बड़ा कारण हैं l तनावमुक्त रहने की कोशिश करे l तनाव दूर करने के लिए आप हात्स्योपचार / laughter therapy और योग / प्राणायाम की सहायता ले सकते हैं l अगर फिर भी BP ज्यादा रहता है तो डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए l

      Delete
  6. ? kabhi kabhi badta hai 15-20 dino me 140-150/90-100 tak and hamesha 120-137 se 80-90 ke bich rahta hai sir kya yah blood presser toh nahi hai na sir

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको उच्च रक्तचाप होने की संभावना है इसलिए आपने दिए हुए एहतियात बरतना चाहिए !

      Delete
  7. Dr. Paritosh ji,

    Meri Mummy ka BP 110/210 mm Hg rehta hai mostly kya aap please aisi koi dawa ka naam bata denge jisse unka BP level normal rahe.

    Thanks,
    Deshmukh Bharti

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके माताजी का BP 210/110 mmHg है जो की सामान्य से काफी ज्यादा हैं. बिना रोगी की सम्पूर्ण जांच किये और BP बढ़ने का कारण पता किये कोई दवा नहीं दे सकते हैं. आपसे सलाह है की उनकी आपके परिचित डॉक्टर से नियमित जांच कराते रहे और समय पर दवा देते रहे.

      Delete
  8. sir mera bp normal rahta hai 1-2 mahine se ab kya mujhe goli khani chaiye ki nahi

    ReplyDelete
    Replies
    1. अगर आपका Blood pressure गोली खाने के बाद नियंत्रण में है तो गोली लेते रहना चाहिए. अगर आप कोई दवा नहीं ले रहे है और आपका BP नार्मल है तो दवा लेने की जरुरत नहीं है. अगर आप नियमित दवा ले रहे है और आपको BP नियंत्रण में है तो हर महीने डॉक्टर से BP जांच कराते रहना चाहिए ताकि आवश्यकता अनुसार दवा की मात्रा को निर्धारित किया जा सके !

      Delete
    2. Sir
      Mera bp 90/140 rheta h mujhe yoga krna chahiye ya
      Race lgani chahiye.
      Aur Kafi baar mere haat kanpte h ghabraht si rhti h
      Kripya moi upchar btaye

      Delete
    3. इन्दर कुमारजी,
      कृपया एक बार डॉक्टर से मिलकर अपनी जांच, ECG कराये.

      Delete
  9. sir mera bp 160/100 rehta hai mera body wait jayada hone k karan cltrl level high hai meri head main left side bht pain hota hai age kam hone k karan Madison kahne se darta hu plz iska koi ilaz batae.

    ReplyDelete
    Replies
    1. अगर ब्लड प्रेशर ज्यादा है तो दवा लेना जरुरी हैं. अपना वजन कम करे और खान-पान में सावधानी बरते. दवा लेने से न डरे.

      Delete
  10. bahot achi jankari di hai sir thanks

    ReplyDelete
  11. Sir meri age 29 yrs hai mera bp 150/96 ho gya tha 8 mahine pahle
    ,maine dr saheb se salah li unhone mujhe metzok 50 khane ko bola mai regular kha bhi rha hu yoga & walk bhi krta hu apni khan pan bhi sahi rkha hu filhal mera bp 120/80 se 136/90 k bich rhta hai....kya ye dwa puri umr khani padegi ya kuchh dino bad chhor sakta hu....plz mujhe advise de

    ReplyDelete
    Replies
    1. डॉक्टर की सलाह अनुसार दवा लेते रहे और नियमित ब्लड प्रेशर की जांच कराते रहे. ब्लड प्रेशर के ज्यादातर मरीजों को जीवनभर दवा लेना होता हैं.

      Delete
    2. Sir,
      Dwa ka koi side effect to nahi hoga?

      Delete
    3. Jyadatar dava ka koi vishesh side effect nahi hota hain.

      Delete
  12. Very Importent information hai...Thankssssss dr.saheb

    ReplyDelete
  13. Mere papa Kya B.P. High rhta h ye Information Achi rhyegi Kya Doctor ji...!!!

    ReplyDelete
  14. Sir meri age 31 hai pichle 6 months se kabhi kabhi mera BP badh jata hai, abhi mene dr. se check karvaya to 144/90 tha or jab BP badta hai to chackar aate hain, wait bhi kuch jyada nahi hai, 60-65 hai. Mostly normal rehta hai lekin pichle 6 Months main 2 baar badh gaya hai, mujhe kya karna chahiye. Please suggest any solution.

    ReplyDelete
  15. mera BP 148/114 hai.. last 5 month phale dr. se slah li thi.. or 1 month tak dva bhi li.

    BP normal ho gya tha .. use ke aaj BP check karvya..muje kya kara chahiye..

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको अपने डॉक्टर की सलाह अनुसार दवा चालू रखना चाहिए. आपका BP 140/90 से निचे होना चाहिए

      Delete
  16. Dr mera BP 160/80 rehta he muje head me back side me niche darad hota he mene uska goleya chalu keya ahe par es darad ka karan muje samjme nhi ka raha mere man me khucha be ata he eska Karen patav pls Dr muje batav

    ReplyDelete
    Replies
    1. Adhikarraoji, itne bp se sardard nahi hota hai. Sardard ka koi anya karan ho sakta hai jaise acidity ya aankho me taaklif. Behtar honga aap doctor se apni jaanch karaye.

      Delete
  17. Hello sir mera naam Rahul muje high BP rehta hai 110/145 95/140 alag alag rehta h jiski maine ab dawai suru ki h main puchna chata hu jaise ki muje drink karne ki adat thi jo abhi maine band ki hui h kya main week mein ek ya do drink kar sakta hu

    ReplyDelete
    Replies
    1. राहुलजी
      बेहतर होंगा आप ड्रिंक बिलकुल न करे. इसके और भी कई दुष्परिणाम हैं.

      Delete
  18. श्रीमान जी मै यतेन्‍द्र राजस्‍थान से हु मेरी पत्‍नी के बीपी ज्‍यादा रहती है कृपा कर के समाधान बताये

    ReplyDelete
    Replies
    1. यतेन्द्रजी, अगर ब्लड प्रेशर बेहद ज्यादा है तो उन्हें डॉक्टर से मिलकर दवा लेते रहना चाहिए. बब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने की अन्य जानकारी इस वेबसाइट पर उपलब्ध हैं.

      Delete
  19. Dr. Saab kya high blodd pressure ke karan kabhi aisa hota hai ki aadmi chikhna chillana apni sudh budh no hona diffrent behave karna after some time normal ho jana.

    ReplyDelete
    Replies
    1. ब्लड प्रेशर बढ़ जाने से दिमाग पर होने वाले दुष्परिणाम से ऐसा हो सकता हैं.

      Delete
  20. Sir Me Radiology Technician hu pahle bhei aap se takl huwi hai Sir ab Mera BP 135 -85 rahta hai kabhi kabhi 110-75 ho jata hai kya karu mene TELMIKIND 40 BP tablate kyati thi jo ab 2-3 mahine se band kar di hai kya ab mujhe Tab khani chahiye ya nahi Kabhi kabhi Headech Aur Bachaini rahti hai PLZ Reply Sir ...............

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको फिर से डॉ से मिलकर अपनी जांच करानी चाहिए और एक ECG जांच करानी चाहिए. अगर डॉ कहे तो दवा शुरू रखनी चाहिए.

      Delete
  21. thanks for information

    ReplyDelete
  22. Age52 year bank manager, high blood pressure problem from 8 months.i use allopathic medicine from 7months in this period bp was 120-130/80-85.last one month I use mukta vati. BP is 125-140/80-90.i have eco report.eco description is Mild concentric LVH.PLZ suggest.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके हार्ट के लेफ्ट साइड में सुजन है. कृपया एलॉपथी दवा चालू रखे

      Delete
  23. Meri age 35 hai..idhar last month se mera bp kbhi 110/60 aur kbhi 123/103 ho jata hai frequently.. Headache rhti hai,dil k pass mild bhaaripan, thakan, aalas rhta hai..baaki blood hg sugar etc sab normal hai..mujhe kya krna chahiye? -Pradeep

    ReplyDelete
    Replies
    1. Pradeepji,
      Apko doctor se milkar apna ECG check up karana chahie.

      Delete
  24. Sirji Mere papa ka bp 180 90 hei dava bhi chalu hei to kya davai Badal neki jarurat he

    ReplyDelete
    Replies
    1. Prafulji, Agar dava lene ke baad bhi apke papa ka bp jyada rahta hai to doctor se milkar dava ka dose badhaye ya dava change kare, saath me article me diye hue diet restriction ko follow kare.

      Delete
  25. Sir high no me kya diet leni chahiye

    ReplyDelete
    Replies
    1. yah padhe - http://www.nirogikaya.com/2015/10/How-to-control-Blood-pressure-hypertension-in-hindi.html

      Delete
  26. Sir mujhe ghabrahat hoti hi dhadkan tez ho jati hi pair thanda or kapta hi or kamjori lgta hi ECG normal hi neend me dar jata hu or jyde aawaj se problem hoti hi

    ReplyDelete
    Replies
    1. Apko Yah Samsya kisi tanav ya gharahat ke karan ho sakti hai. Anulom vilom pranayam shuru kare

      Delete
  27. sir mera BP 140/90 2 years se hai
    maine abhi tak ilaj nhi karbaya
    mera weight 70 kg hai mere ko headache aur kam me man nhi lagta hai nind ati hai

    ReplyDelete
    Replies
    1. Abhi apko medicine ki jarurat nahi hai. Khane me namak kam rakhe aur apke height ke hisaab se weight maintain kare. Sirdard apko tanav ke karan bhi ho sakta hai. Tanav kam karne ke liye anulom vilom aur anya yoga kare.

      Delete

खास आपके लिए !

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.