अकसर आपने देखा होंगा के आप को या आपके परिचित व्यक्ति को जिन्हें उच्च रक्तचाप की शिकायत है या छाती में दर्द होता है उन्हें डॉक्टर ह्रदय की दबाव जाँच (Stress Test / Treadmill Test) करने की सलाह देते है। आपने कई बार हॉस्पिटल के बोर्ड पर या फाइल पर इसका नाम भी पढ़ा होंगा।

किसी व्यक्ति में उच्च रक्तचाप या छाती में दर्द होने पर डॉक्टर ECG (Electocardiogram) करने की सलाह देते है। ECG में डॉक्टर को उस समय व्यक्ति के ह्रदय की स्तिथि का पता चलता है। डॉक्टर को कोई संदेह होने पर डॉक्टर उस व्यक्ति को TMT करने की सलाह देते है। ECG लेते समय व्यक्ति को आराम से लिटाकर ह्रदय के विद्युत क्रियाकलाप दर्ज किये जाते है जिससे डॉक्टर को ह्रदय की स्तिथि के बारे में जानकारी प्राप्त होती है।

अक्सर रोगी व्यक्ति को सीढ़ी चढ़ने या तेज चलने पर तकलीफ होती है और ऐसी स्तिथि में ह्रदय की स्तिथि की जानकारी आराम से लिटाकर प्राप्त किये ECG से नहीं मिलती है। इसीलिए डॉक्टर रोगी व्यक्ति को Stress Test करने की सलाह देते है जिसमे आपका ह्रदय दबाव में कैसा कार्य करता है और आपकी दृदय रक्ताधमनी में कोई रूकावट तो नहीं है यह जानकारी प्राप्त होती है ।
Stress-Test-information-in-Hindi

Stress Test करने के पहले क्या तैयारी करनी चाहिए ?
  • Stress Test के लिए अपने साथ Sports Shoes और ढीले-ढाले कपडे पहन कर जाए। आप अस्पताल का गाऊन पहन सकते है।
  • अपनी Stress Test जाँच के ४ घंटा पहले से कुछ भी ठोस और भारी खाना खाना न खाए।
  • आप थोडा पानी पी सकते है लेकिन Caffeine युक्त कोई पदार्थ न ले जैसे की चाय,चोकलेट,कोफ़ी इत्यादी।
  • यदि जाँच के दिन सुबह आप को अपनी दवाई लेनी हो तो केवल कुछ घुट पानी के साथ अपनी दवाई ले।
  • जाँच के पूर्व डॉक्टर को आपकी नियमित चल रही दवाई के बारे में पूर्ण जानकारी दे।
  •  कुछ दवाईया जैसे की Beta Blockers (Propranolol,Atenolol etc),Calcium Channel Blockers (Amlodipine,Cinidipine etc) Stress Test करने के ३ दिन पहले तक नहीं लेना चाहिए। यह दवाइया लेने से आपके जाँच के परिणाम प्रभावित हो सकते है। डॉक्टर आप को इनके बदले थोड़े समय तक दूसरी दवाई लेने की सलाह दे सकते है।
  • Stress Test जाँच के कम से कम ४ घंटे पूर्व से धुम्रपान अथवा तंबाखू का प्रयोग न करे। धुम्रपान करने से आप के जाँच के परिणाम प्रभावित हो सकते है।        
Stress Test / ह्रदय की दबाव जाँच कैसे की जाती है ?
  • आपको व्यायाम वाले कपडे या अस्पताल का गाऊन पहनने के लिए कहा जाएगा।
  • आपकी हृदय की जाँच के लिए छोटे-छोटे Chest Lead आपके सिने पर रखे जाते है। पुरुषो में छाती के बाल निकालने की जरुरत होती है। 
  • आपके हाथ में रक्तचाप (Blood Pressure) कफ लगाया जाता है। जाँच के दौरान अक्सर आपके Blood Pressure और Heart Rate की जाँच की जाती है।  
  • प्रथम Supine Stage में आपको परिक्षण टेबल पर लिटा कर जाँच की जाती है।  
  • फिर Standing Stage में आपको सीधा खड़ा रहकर जाँच करनी होती है। 
  • उसके बाद Hyper Ventilation Stage में आपको ४-५ बार लंबी गहरी साँस अंदर लेकर बाहर छोड़ना होता है। सभी Stages में  Blood Pressure और Heart Rate की जाँच की जाती है। 
  • इसके बाद आपको Treadmill पर खड़ा होना होता है। 
  • Treadmill शुरू होने पर आपको उस पर हमेशा की तरह सीधा खड़ा रहकर सामने देखते हुए चलना होता है। 
  • Treadmill में हर Stage ३ मिनिट की होती है और हर Stage में Speed और Elevation बढ़ता है। 
  • इस जाँच में आपको आप का Target Heart Rate (THR) तक चलना होता है। अगर आप की उम्र ४० साल है तो आपकी THR १८० है। (THR = 220 - आपकी उम्र)
  • यदि जाँच के दरम्यान आपको सांस लेने में तकलीफ हो या सीने में दर्द हो तो तुरंत जाँच कर रहे स्टाफ को बताए। आपको कोई तकलीफ होने पर तुरंत जाँच रोक दी जाती है। 
  • अगर आप बहुत थक जाते हो या अपने THR तक पहुच जाते हो तब जाँच रोक दी जाती है। 
  • जाँच रोकने के बाद आप को कुछ देर लिटाकर Recovery Stage में  Blood Pressure और Heart Rate की जाँच की जाती है। 
  • सम्पूर्ण जाँच होने के बाद डॉक्टर आपकी Report देख कर आवश्यक सुचनाए और दवाई देते है। 

यहाँ पर सामान्यत: की जाने वाली Stress Test के बारे में जानकारी दी है। कुछ अन्य प्रकार के Stress Test में रोगी को दवाई या इंजेक्शन दे कर भी Stress Test की जाती है।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !

आपसे अनुरोध है कि आप आपने सुझाव, प्रतिक्रिया या स्वास्थ्य संबंधित प्रश्न निचे Comment Box में या Contact Us में लिख सकते है !
loading...

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.