मधुमेह / Diabetes के मरीजो के लिए अपने पैरो की ठीक से देखभाल रखना अतिआवश्यक है। पैर में छोटी सी जखम या घाव हो जाना भी खतरनाक है। मधुमेह में पैरो को अकसर ठीक से रक्तप्रवाह नहीं होता है और साथ ही पैरो की स्पर्श संवेदना भी कम हो जाती है इसलिए कोई भी चोट,जखम या संक्रमण ठीक होने में सामान्य से अधिक समय लगता है। अगर आपको मधुमेह है और साथ ही आप धुम्रपान या तम्बाखू का सेवन करते है तो पैरो का रक्तप्रवाह बिलकुल बंद हो सकता है और छोटीसी भी जखम में संक्रमण फैलकर गैंग्रीन (Gangrene) हो सकता है और आप को अपना पैर को काटकर अपाहिज की जिंदगी जीना पड़ सकता है। 

अगर आप चाहते हो की ऐसा कभी भी आप के साथ न हो तो निचे दिए हुए सुझावों का हमेशा पालन करे!

Diabetes-foot-care-Tips-In-Hindi
Image Courtesy : www.flickr.com
मधुमेह / Diabetes पीडितो के लिए पैरो की देखभाल हेतु सुझाव 

१) अपने पैरो को रोजाना अच्छी तरह से देखे 

गौर से देखो की कही कोई कटन-छीलन, खरोच, लाल दाग, सुजन या कुछ असामान्य तो नहीं है। अगर ऐसा कुछ नजर आए तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करे। कभी भी किसी चोट को हलके में न ले।

२) अपने पैरो को रोजाना धोए और नम रखे 

अपने पैरो को राजाना साबुन और गर्म पानी से धोए फिर एक नर्म तौलिए से अच्छी तरह सुखा ले। Moisturizer लगाए ताकि त्वचा रुखी न हो और पैर फटे नहीं।

३) अपने नाखुनो की नियमित छटाई करे

अपने पैरो को धोने और सुखाने के बाद पैरो के अंगुलियों के बढे हुए नाखुनो को सीधा-सीधा काटे और फिर एमरी बोर्ड से घिस कर चिकना कर ले। नाखुनो को बहुत छोटा न काटे और काटते समय पहले किनारे से काटे और बाद मे बिच में काटे।

४) रक्तसंचार में रूकावट न डाले 

अपने पैरो की कैची बनाकर बैठना (पैर के ऊपर पैर रखकर V Shape में रखना), तंग / टाईट कपडे पहनने से बचे।

५) Corn, गट्टे और कैलस पर नजर रखे

गट्टे और कैलस को कभी न कटे  न ही Corn व  कैलस रिमोवर का इस्तेमाल करे। सही उपचार के लिए अपने डॉक्टर से सलाह ले।

६) आरामदेह जुते पहने 

ऐसे जूते ख़रीदे जो ठीक से फिट होते हो तथा पंजो और एडियो को जकड़ते न हो। कैनवास और चमड़े से बने बढ़िया आधार वाले जुते सर्वोत्तम होते है। हमेशा ऊनी या सूती जुराबे (Socks) पहने जो खुरदरे न हो।

७) नियमित रूप से व्यायाम करे 

मधुमेह में पैरो की छोटी रक्तवाहिनी में अवरोध होने खतरा बना रहता है इसलिए जरुरी है की आप नियमित रूप से व्यायाम करे। व्यायाम करने से रक्तसंचार में मदद मिलती है। चलने, तैराकी करने या साइकिलिंग करने से आप अपने पैरो पर दबाव डाले बिना रक्तसंचार को सुचारू रखने में मददकर सकते है। किसी भी व्यायाम की शुरुआत करने से पहले अपने डॉक्टर का परामर्श जरुर ले।

८) कोमल और आरामदेह जुराबे / मोज़े पहने 

अगर आपको पैरो में ठण्ड लगती हो तो रात के समय कोमल और आरामदेह जुराबे / मोज़े (Socks) पहने। हमेशा साफ़ सुधरे मोज़े ही पहने और रोजाना उन्हें बदले।

९) अपने पैरो को ताप या ऊष्मा से जख्मी होने से बचाए 

अपने पैरो पर Hot Water Bottles या Heating Pads का कभी भी इस्तेमाल न करे। नंगे पैर गर्म या ठन्डे जमींन पर कदम न रखे। हमेशा आरामदेह सही नाप के जूते या चप्पल का प्रयोग करे। पैरो में कोई संक्रमण न हो जाये इसलिए पैरो को हमेशा ढक कर रखे।

१०) अपनी निर्धारित दवा को नियमित रूप से ले 

अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करे और बिना किसी भूल-चुक के अपनी निर्धारित दवा को नियमित रूप से ले। हमेशा अपने मधुमेह को नियंत्रण में रखे।

११) धुम्रपान / तम्बाखू सेवन न करे 

धुम्रपान और तम्बाखू सेवन यह हमारे शरीर के लिए किसी भी स्तिथि में नुकसानदेह है। आपको मधुमेह हो या न हो, आपको इन शरीर के शत्रुओ से हमेशा बचकर रहना चाहिए।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
loading...

Post a Comment

  1. Mera weight tezi se ghat raha hai iske liye gharelu kya upchar hai ??

    ReplyDelete
    Replies
    1. Mr Sayyed Gemstone, Thanks for visiting and commenting on the blog.
      Teji se weight kam hona Uncontrolled Diabetes ki nishani hai. Krupaya aap apne doctor se jaanch karaye.
      Koi aur sawaal ho to aap contact us me jakar detail me puch sakte hai.
      Dhanyawad !

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.