-->

हड्डियां मजबूत करने के लिए करे यह 7 विशेष योग

हड्डियां मजबूत करने के लिए करे यह 7 विशेष योग हड्डियां मजबूत करने के लिए करे यह 7 विशेष योग
आजकल लोगों का अनुचित आहार विहार के कारण लोगों में कम आयु में ही बुढ़ापें के लक्षण नजर आना शुरू हो जाता हैं। आजकल पुरुष और महिलाओं में 30 वर्ष की आयु पार करते ही कमरदर्द, जोड़ों मे दर्द और शारीरिक कमजोरी आ जाती हैं। इसकी एक प्रमुख वजह हैं हड्डियों का कमजोर हो जाना !

शरीर में कैल्शियम और विटामिन डी की कमी के साथ-साथ हड्डियों का कमजोर होने की एक प्रमुख वजह है व्यायाम की कमी। आज इस लेख में हम आपको हड्डियों को तंदुरुस्त और मजबूत बनाने के लिए कुछ योगासन की जानकारी देने जा रहे है जिनके नियमित अभ्यास करने से आपकी हड्डियां और स्नायु मजबूत रहेंगे। 

yoga-for-strong-bones-in-hindi

हड्डियां मजबूत करने के लिए करे यह 7 विशेष योग

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए आपको निचे बताये हुए योगासन जरूर करने चाहिए। 

1. सूर्यनमस्कार 
suryanamaskar-yoga-in-hindi
सूर्यनमस्कार योग में एक साथ कुल १२ योग किये जाते हैं। यह योग करने से सम्पूर्ण शरीर का व्यायाम हो जाता हैं। आप रोजाना 5 सूर्यनमस्कार से शुरू करे और हर रोज एक-एक जोड़ते हुए इसकी संख्या बढ़ाए। अपने शक्ति अनुसार आप रोजाना 25 से 50 सूर्यनमस्कार भी कर सकते हैं। इसे करने से हड्डियां तो मजबूत होती ही है साथ में पाचन, रोग प्रतिकार शक्ति और स्पाइन से जुडी समस्या भी दूर होती हैं। 


2. भुजंगासन  
bhujangasana-in-hindi
सांप जैसे फ़ना उठाता है ठीक उसी तरह इस आसन में शरीर की आकृति होती है इसलिए इसे कोबरा पोज़ भी कहा जाता हैं। सांप की तरह लचीला शरीर यह योग करने से होता हैं। इससे हड्डियां मजबूत होती हैं और स्पाइन से जुडी समस्या भी दूर होती हैं। इस आसन से कलाइयों की हड्डियों में भी मजबूती आती है और उंगलियों में गठिया की परेशानी हो तो आराम मिलता हैं। 


3. सेतु बंधासन 
setubandhasana-yoga-in-hindi
यह कमरदर्द के लिए सबसे उपयोगी आसन हैं। इसके अलावा यह गर्दन और घुटनों के दर्द में भी राहत देता हैं। मसल्स को मजबूती और लचीला बनाता हैं। सर्वाइकल स्पोंडीलायटिस की समस्या अधिक है तो यह योग न करे। अभ्यास के साथ धीरे-धीरे इस योग का समय बढ़ाए। 


4. वृक्षासन 
vrikshasana-yoga-in-hindi
इसमें दोनों हाथों को जोड़कर एक पैर पर खड़ा होना होता हैं। जैसे की इस चित्र में दिखाया गया हैं। इसमें रीढ़, कमर और पेडू की हड्डी मजबूत होती हैं। इससे एकाग्रता भी बढ़ती हैं। इस आसन का नियमित अभ्यास करने से बॉडी की स्टेबिलिटी बढ़ती है और शरीर वृक्ष के सामान मजबूत बनता है। 


5. उत्कटासन 
utkatasana-yoga-in-hindi
इसे चेयर पोज़ नाम से भी जाना जाता हैं। इसमें जैसे हम खुर्ची पर बैठते है ठीक उसी तरह पोज़ करना होता हैं। इसके अभ्यास से बॉडी के मसल्स और हड्डियां मजबूत होती है। हमारी सहनशक्ति में इजाफा होता हैं। सीना बड़ा और कंधे स्ट्रांग होते हैं। 


6. ताड़ासन 
tadasana-yoga-in-hindi
अगर आप हड्डियां मजबूत करने के साथ अपनी हाइट भी बढ़ाना चाहते है तो ताड़ासन का अभ्यास रोजाना जरूर करे। विशेषकर १२ वर्ष से १८ वर्ष के बिच के बच्चे या आसन करने से अपने माँ बाप से भी लम्बे हो सकते हैं। इस आसन से पैर और हात के स्नायु और हड्डियां मजबूत होती हैं। बॉडी का बैलेंस अच्छा रहता हैं। फ्लैट फ़ीट की समस्या नहीं होती हैं। गर्भावस्था में यह योग न करे। 


7. वज्रासन 
vajrasana-yoga-in-hindi
यह एक अकेला योगासन है जो आप खाना खाने के बाद भी कर सकते हैं। इस आसान से आपके पैर की हड्डियां वज्र के समान कठोर बन जाती हैं। इससे आपका पाचन भी ठीक रहता हैं। मोटापा कम करने के साथ साथ यह महिलाओं में मासिक धर्म से जुडी समस्या भी दूर करता हैं। जोड़ों में सूजन या लिगामेंट इंजुरी होने पर वज्रासन न करे। 


इस तरह आप रोजाना ऊपर बताये हुए विशेष 7 योगासन का नियमित अभ्यास कर अपनी हड्डियों को मजबूत बना सकते है और बुढ़ापे की समस्या को दूर भगा सकते हैं।  योगासन के साथ सतह अपने आहार में कैल्शियम और विटामिन डी युक्त आहार का समावेश अवश्य करे। 

अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगती है कृपया इसे शेयर जरूर करे। 
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 44k

Loading

सोमवार, जून 01, 2020 2020-06-01T09:15:35Z

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Follow Us