कोरोना वायरस के लक्षण, उपचार और बचाव के तरीके

कोरोना वायरस के लक्षण, उपचार और बचाव के तरीके कोरोना वायरस के लक्षण, उपचार और बचाव के तरीके
कोरोना वायरस यह एक प्रकार का वायरस है जो अधिकतर जानवरों में पाया जाता हैं। कुछ मामलों में कोरोना वायरस का संक्रमण जानवरों से इंसानों में भी हो सकता हैं इस प्रकार के वायरस को विशेषज्ञ Zoonotic संक्रमण कहते हैं। हाल ही में चीन, थाईलैंड, जापान, साउथ कोरिया और ताइवान में कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। इसे Middle East Respiratory Syndrome या MERS नाम से भी जाना जाता हैं।

कोरोना वायरस का फैलाव आज पुरे विश्व में हो चूका है और इसीलिए विश्व स्वास्थ्य संघटन ने इसे महामारी यानि की Pandemic घोषित किया हैं। कोरोना वायरस का संक्रमण होने पर रोगी को सामान्य सर्दी-जुखाम जैसे लक्षण नजर आते है।

कोरोना वायरस कैसे फलता है, इसके लक्षण और बचाव के तरीके की सम्पूर्ण जानकारी निचे दी गयी हैं :

corona-virus-symptoms-treatment-prevention-in-hindi

कोरोना वायरस के लक्षण, उपचार और बचाव के तरीके 


कोरोना वायरस कैसे फैलता हैं ?

कोरोना वायरस एक बेहद संक्रामक रोग है और इसका प्रसाव  एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक बेहद जल्द फैलता हैं। यह संक्रामक रोग होने से इस तरह से फ़ैल सकता हैं :
  • कोरोना वायरस से संक्रमित जानवर का सेवन करने से यह वायरस मानव में पहुंच सकता हैं। कहा जा रहा है की चीन में लोग सांप खाते है और सांप खाने की वजह से यह इंसान में फैलाव हुआ हैं। 
  • जब कोई कोरोना वायरससे प्रभावित व्यक्ति खांसता हैं या छींकता हैं तो मुंह और नाक से निकले छोटी बूंदो के साथ इसके virus भी बाहर आ जाते हैं और हवा में और कठोर सतह पर अगले 24 घंटो तक रह जाते हैं। हवा में रहने वाली बेहद छोटी बुँदे किसी भी व्यक्ति को सांस के साथ अंदर जाकर संक्रमित कर सकती हैं।
  • कठोर सतह पर 24 घंटे और कोमल सतह पर 20 घंटे तक यह virus जीवित रह सकता हैं। यदि कोई व्यक्ति इस virus युक्त सूक्ष्म बूंदो से संक्रमित दरवाजे का हैंडल, कंप्यूटर कीबोर्ड, गिलास, तकिया, तौलिया या रिमोट इत्यादि वस्तु को छूता हैं और संक्रमित हाथो को अपने मुंह या नाक के पास रखता हैं तो वह व्यक्ति भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकता हैं।

कोरोना वायरस के लक्षण क्या हैं ?

कोरोना वायरस से पीड़ित रोगी में निचे बताए हुए लक्षण नजर आते हैं :
  • नाक बहना 
  • गले में खराश 
  • सिरदर्द 
  • बुखार 
  • खांसी 
  • मुंह का स्वाद चले जाना 
  • नाक से सूंघने की शक्ति कमजोर होना 
  • ठीक न लगना 
  • सांस लेने में तकलीफ होना 
  • निमोनिया 

कोरोना वायरस का उपचार कैसे किया जाता हैं ?

कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाने पर रोगी की जांच की जाती हैं। अगर रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो रोगी को हॉस्पिटल में सुरक्षित वार्ड में अन्य रोगी से अलग रखा जाता हैं। कोरोना वायरस के लिए फ़िलहाल कोई खास दवा या वैक्सीन उपलब्ध नहीं हैं। रोगी को लाक्षणिक चिकित्सा दी जाती है जिससे कोरोना वायरस से होनेवाले दुष्परिणाम शरीर पर नियंत्रित किया जा सके। कोरोना वायरस के उपचार में फ़िलहाल Hydroxychlroquine, Azithromycin जैसे दवाओं का उपयोग कर रहे है पर यह कितना फायदेमंद है कहना मुश्किल हैं। बच्चों, बूढ़े और जिनकी रोग प्रतिकार शक्ति डायबिटीज, टीबी या एड्स जैसे रोग के कारण कमजोर हो चुकी है ऐसे रोगियों को विशेष देखरेख की आवश्यकता होती हैं। 

कोरोना वायरस से बचाव कैसे करे ?

कोरोना वायरस से बचाव ही इसका एकमात्र बेहतर बचाव का तरीका हैं। कोरोना वायरसके संक्रमण से बचने के लिए नीचे बताये हुए तरीकों का पालन करे। 
  • खांसी या छीकते समय अपना चेहरा रुमाल या टिशू पेपर से ढककर रखे। उसके बाद टिशू पेपर को कूड़ेदान में फेक दे अथवा नष्ट करे और अपने हाथो को साबुन या hand sanitizer से साफ़ करे।
  • हमेशा खांसते या छीकते वक्त दुसरो से 6 फिट से ज्यादा की दुरी बनाए रखे।  
  • कोरोना वायरस से प्रभावित इलाके में चहरे पर mask पहने। 
  • अपने घर और कामकाज की जगह को साफ सुधरा रखे। 
  • अपने हाथो को हमेशा खाना खाने से पहले साबुन और पानी से 20 सेकण्ड तक धोए। 
  • कोरोना वायरस से प्रभावित क्षेत्र में सर्दी-जुखाम से पीड़ित व्यक्ति के साथ मेज या ऑफिस का सामान नहीं बांटना चाहिए। 
  • विटामिन C युक्त फल जैसे संतरा, अनार, निम्बू आदि का सेवन अधिक करे। 
  • बाबा रामदेव ने हमारी रोग प्रतिरोधक शक्ति और श्वसन प्रणाली को मजबूत करने के लिए निचे दिए हुए प्राणायाम करने की सलाह दी हैं :
  1. अनुलोम विलोम 
  2. भस्त्रिका 
  3. भ्रामरी 
  4. कपालभाति 
  • प्राणायाम के अलावा बाबा रामदेव ने रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के लिए गिलोय, तुलसी, अदरक, काली मिर्च, अश्वगंधा, शतावरी, आंवला, हल्दी आदि का उपयोग करने की सलाह दी हैं। 
  • बेवजह भीड़ भाड़ वाले इलाके और अस्पताल में जाने से बचे। 
  • लोगो से अनावश्यक हाथ मिलाना या संपर्क करना टाले। 
  • अगर आप मांसाहार करते है तो अच्छे से पका हुआ मांसाहार का सेवन ही करे। 
  • जानवरों से असुरक्षित संपर्क न करे। 
  • कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर अपने डॉकटर से जाँच कराए। 
  • अपनी रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के प्रयास करे। रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के उपाय जानने के लिए यह पढ़े। 
  • अपने मित्र परिवार और जानपहचान के व्यक्तियो से कोरोना वायरस संबंधी जानकारी साझा करे। 
  • यह भी पढ़े - जाने कितना जानलेवा है कोरोना वायरस 
अगर आपको यह कोरोना वायरस के लक्षण, उपचार और बचाव के तरीके की जानकारी उपयोगी लगती है तो कृपया इसे शेयर जरूर करे। 
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 44k

Loading

मंगलवार, जनवरी 28, 2020 2020-06-14T09:47:21Z

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Follow Us