रोग योग आयुर्वेद डाइट सलाह सभी लेख परिचय
Home रोग योग आयुर्वेद डाइट सलाह सभी लेख परिचय

Pregnancy के पहले 3 महीनों में रखे इन 5 बातों का विशेष ख्याल

By Dr Paritosh Trivedi On, Sunday, April 1, 2018


Pregnancy में महिला को अपने स्वास्थ्य और आहार विहार के प्रति विशेष ख्याल रखना जरुरी होता हैं। जो महिलाएँ पहली बार Pregnant हुई है उनके मन में Pregnancy को लेकर कई सारे सवाल रहते हैं। गर्भावस्था में क्या खाना चाहिए, क्या नहीं खाना चाहिए, कितना काम करना चाहिए और क्या सावधानी बरतनी चाहिए ऐसे कई सवाल उनके मन में रहते हैं।

Pregnancy के पहले 3 महीनों में महिला में कई शारीरिक और मानसिक बदलाव होते हैं। कुछ बदलाव ऐसे होते है जिसका अनुभव महिला को प्रथम बार होता है और अगर पूरी जानकारी नहीं रही तो महिला से अनजाने में ऐसी गलती हो सकती है जिसका प्रेगनेंसी पर विपरीत परिणाम हो सकता हैं। 

आज इस लेख में हम आपको Pregnancy के पहले 3 महीनों में होनेवाले प्रमुख 5 समस्या की जानकारी देने जा रहे हैं। यह समस्या लगभग हर गर्भवती महिलाओं को होती है और इनकी जानकारी सभी गर्भवती महिलाओं को होना जरुरी हैं।

pregnancy-first-3-months-care-tips-in-hindi

Pregnancy के पहले 3 महीनों में रखे इन 5 बातों का विशेष ख्याल

1. Pregnancy के पहले 3 महीनों में कमज़ोरी / Weakness की समस्या 



2. Pregnancy के पहले 3 महीनों में जी मचलाना और उलटी की समस्या 

  • सभी महिलाओं को ज्यादा कम मात्रा में Pregnancy के पहले 3 महीनों में जी मचलाना और उलटी की समस्या जरूर होती है। 
  • पहली Pregnancy में यह समस्या अधिक रहती। कुछ महिलाओं को यह समस्या अधिक होने के कारण हॉस्पिटल में दाखिल भी होना पड़ सकता हैं। 
  • गर्भावस्था के चौथे महीने से यह समस्या अपने आप कम हो जाती हैं। 
  • शरीर में होनेवाले हार्मोनल बदलाव इसकी मुख्य वजह हैं। 
  • इस दौरान महिला को एक साथ अधिक खुराक लेने की जगह थोड़ा-थोड़ा आहार हर दो से तीन घंटे से लेना चाहिए। 
  • अधिक तीखे और तले हुए आहार से परहेज करना चाहिए। 
  • डॉक्टर उलटी बंद करने की दवा और विटामिन B6 की दवा देते है।  
  • पढ़े - Pregnancy के पहले 3 महीनों में जी मचलाना और उलटी होने का घरेलु उपचार और सलाह

3. Pregnancy के पहले 3 महीनों में Vaginal Bleeding की समस्या 

  • Pregnancy के पहले 3 महीनों में कुछ गर्भवती महिलाओं को मामूली योनिगत रक्तस्त्राव होता हैं। इसे मेडिकल भाषा में spotting कहा जाता हैं। 
  • यह एक सामान्य लक्षण हैं और इसमें डरने की जरुरत नहीं हैं। 
  • अगर आपको अधिक Vaginal bleeding हो रहा है और साथ में पेट के निचले हिस्से में दर्द भी हो रहा है तो यह अच्छा लक्षण नहीं हैं। ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। यह miscarriage का लक्षण हो सकता हैं। 

4. Pregnancy के पहले 3 महीनों में सफ़ेद पानी जाने की समस्या 



5. Pregnancy के पहले 3 महीनों में बार-बार पेशाब (increased frequency of urine) के लिए जाने की समस्या   

  • Pregnancy के पहले 3 महीनों में गर्भाशय (Uterus) का आकार धीरे-धीरे बढ़ना शुरू होता है जिसका दबाव पेशाब की थैली (Urinary Bladder) पर पड़ता है जिस वजह से उसमे थोड़ी सी urine जमा होने पर महिला को पेशाब के लिए जाना पड़ता हैं। 
  • अगर इस लक्षण के साथ महिला को पेट के निचले हिस्से में दर्द, बदन दर्द और बुखार जैसे लक्षण भी है तो यह सभी लक्षण पेशाब के संक्रमण यानि की Urine Infection की वजह से हो सकता हैं। 
  • इसमें महिला को डॉक्टर से मिलकर अपने पेशाब की जांच कराना चाहिए। 
  • पढ़े - पेशाब में जलन होने के घरेलु उपाय
Pregnancy के पहले 3 महीनों में होनेवाली प्रमुख 5 समस्या की जानकारी हमने यहाँ पर आपको दी है। इसके अलावा भी कुछ समस्या आपको Pregnancy के दौरान हो सकती है जिसकी जानकारी आप अपने डॉक्टर से ले सकते हैं। प्रेगनेंसी से जुड़े कई लेख हमने इस वेबसाइट पर लिखे है जिनकी जानकारी आप यहाँ पढ़ सकते हैं - Pregnancy Care Guide in Hindi 

अगर आपको यह प्रेगनेंसी से जुडी जानकारी उपयोगी लगी है तो कृपया इसे share अवश्य करे !
loading...

No comments:

Post a Comment