व्यायाम कब करना चाहिए और कब नहीं

व्यायाम कब करना चाहिए और कब नहीं व्यायाम कब करना चाहिए और कब नहीं
शरीर को Healthy और Fit रखने के लिए Exercise यानि की व्यायाम करना जरूरी होता है। कई बार आप आसानी से अपना workout करने के लिए तैयार हो जाते हैं तो कई बार ऐसा करने के लिए आप खुद पर दबाव डालना पड़ता हैं। ऐसी स्थिति में व्यायाम करें या ना करें जैसे सवाल मन में खड़े होने लगते हैं। 

अगर आप हफ्ते में 5 दिन व्यायाम करते है तो खुद को कई रोगों से बचा सकते हैं पर अगर आप केवल कभी-कभी ही Exercise करते है और Gym न जाने के बहाने ढूंढ़ते रहते है तो फिर मुश्किल हो सकती हैं। कई बार कुछ छोटी-मोटी दिक्क़ते भी आती है और ऐसे में समझने में मुशिकल होता है की व्यायाम करे या न करे।  

आज इस लेख में हम आप के व्यायाम / workout करने के सवालों के जवाब दे रहे हैं :

vyayam-kab-karna-chahie-exercise-tips-in-hindi

व्यायाम कब करना चाहिए और कब नहीं 

When to do exercise in Hindi

शरीर पर कोई चोट लगने पर व्यायाम करें या ना करें ?

अगर ज्यादा चोट लगी हो तो व्यायाम नहीं करना चाहिए। इससे चोट पर विपरीत असर पड़ सकता है और उसे ठीक होने में जरूरत से ज्यादा वक्त लग सकता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर को दिखाना या आराम करना ही उचित है। 

वर्कआउट से शरीर में दर्द होने पर क्या करे ?

अत्याधिक व्यायाम करने पर अगर आपके शरीर में बहुत दर्द है तो व्यायाम ना करें। 1 दिन के आराम से आप अपनी मसल्स को ठीक करने को समय दे पाते हैं। जरूरत होने पर जिम ट्रेनर की सहायता से स्ट्रेचिंग करें। हमेशा व्यायाम शुरू करने से पहले warm up अवश्य करे जिससे की व्यायाम करने पर दर्द और चोट लगने की संभावना कम हो जाती हैं। 

नींद पूरी न होने पर 

अगर रात में नींद पूरी न हुई हो तो जबरदस्ती वर्कआउट करना ठीक नहीं है। स्वस्थ शरीर के लिए अच्छी नींद और आराम भी जरुरी है। सही परिणाम तभी दिखाई देते हैं जब आप रिलैक्स होकर व्यायाम करते हैं। 

जिम जाने में अगर आलस महसूस कर रहे हो

कभी कबार ऐसा हो सकता है लेकिन इसे अपनी आदत बना लेना गलत है। आलस आने पर आप घर में ही कोई हल्की फुल्की एक्सरसाइज कर सकते हैं। लेकिन रोज रोज आना ऐसे ना करे। 

रात में ज्यादा खाने से पेट फुला हुआ लगने पर 

ऐसा होने पर वर्कआउट की छुट्टी करना उचित नहीं है। नींबू पानी या अन्य कोई उपाय के बाद वर्कआउट के लिए जाना चाहिए। व्यायाम करने से आपको अधिक अच्छा महसूस होगा। आप चाहे तो व्यायाम करने से पहले 10  से 15 मिनिट walking करे जिससे पेट हल्का होगा। आप वज्रासन भी कर सकते हैं। 

बहुत ज्यादा पैदल चले हो या मैराथन में हिस्सा लिया हो 

किसी एथलेटिक्स इवेंट में हिस्सा लेने पर आप 1 दिन के लिए वर्कआउट से छुट्टी ले सकते हैं। अपने वर्कआउट रूटीन को एक भी दिन छोड़ना नहीं चाहते तो सिर्फ walking भी कर सकते हैं। 

तनाव महसूस करने पर 

ऐसी स्थिति में आपको वर्कआउट जरूर करना चाहिए। व्यायाम करने से खुश रखने वाले हार्मोन का स्त्राव बढ़ता है जो तनाव से लड़ने में सहायक होता है। हालांकि तनाव के प्रभाव में गलत या जटिल वर्कआउट करने से बचना चाहिए। 

क्या रोजाना एक्सरसाइज करना चाहिए ?

सप्ताह में एक दिन अपने शरीर को आराम देना जरूरी है। इससे मसल्स की थकान भी दूर होती है। एक दिन के आराम से आप ज्यादा फ्रेश और उर्जावान महसूस करते हैं। कुछ दिनों के लिए अगर आप किसी टूर पर गए हो या सुबह के वक्त कुछ जरूरी काम हो तो अपना वर्कआउट रूटीन पूरी तरह से छोड़ देना सही नहीं है। व्यस्त दिनचर्या से अगर सुबह 10:00 मिनट का वक्त भी निकालते हैं तो भी फायदेमंद है। इससे आप एक-एक मिनट दौड़ने, कूदने,प्लांक, उठक-बैठक, चढ़ना-उतरना आदि व्यायाम कर सकते हैं। इसके साथ रिलेक्ससिंग स्ट्रेच करते रहें, फायदेमंद रहेगा। 

पढ़े - बॉडी बनाने के लिए कैसा डाइट लेना चाहिए ?

अगर यह जानकारी आपको उपयोगी लगती है तो कृपया इसे शेयर अवश्य करे !
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 12k
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
loading...

Loading

Friday, December 15, 2017 2017-12-15T10:10:09Z

No comments:

Post a Comment

Follow Us