Kidney Failure के रोगी क्या खाये और क्या नहीं ?

Kidney Failure के रोगी क्या खाये और क्या नहीं ? Kidney Failure के रोगी क्या खाये और क्या नहीं ?
आजकल गुर्दे की खराबी जिसे #Kidney_Failure या Renal Failure भी कहा जाता है के रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं। हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, संक्रमण, खान-पान में मिलावट, बिगड़ती जीवनशैली और प्रदुषण जैसे कारणों के चलते किडनी ख़राब होने के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

किडनी हमारे शरीर में मौजूद अनावश्यक और विषैले तत्वों को मूत्र / Urine के रास्ते शरीर के बाहर निकालता है और शरीर को स्वच्छ और स्वस्थ रखने में मदद करता हैं। किडनी फ़ैल होने के कारण उसकी कार्यक्षमता कम हो जाती है और रोगी के शरीर में विषैले तत्व जमा होने लगते है जिससे की रक्त में Creatinine का मात्रा बढ़ने लगती है। दवा से आराम न मिलने पर ऐसे Kidney failure के रोगियों को या तो Dialysis का सहारा लेना पड़ता है या तो फिर Kidney Transplant करना पड़ता हैं।

Kidney Failure होने पर शरीर में विषैले तत्व जमा न हो और Serum Creatinine की level रक्त में न बढे इसके लिए ऐसे रोगियों को विशेष आहार लेने की जरुरत होती हैं। किडनी की खराबी होने पर रोगी को ऐसा आहार लेना चाहिए जिससे की रोगी के किडनी पर अतिरिक्त भार न पड़े। आज इस लेख में हम आपको Kidney Failure होने पर रोगी ने कैसा आहार लेना चाहिए इसकी जानकारी देने जा रहे हैं।

किडनी की खराबी होने पर रोगी को कैसा आहार इसकी जानकारी निचे दी गयी हैं :

kidney-failure-patient-diet-chart-in-hindi-kya-khana-chahie

Kidney Failure के रोगी क्या खाये और क्या नहीं ?

Kidney Failure Diet chart in Hindi

किडनी ख़राब होने पर रोगी स्वास्थ्य को नियंत्रित करने के लिए उसके आहार पर ध्यान देना बेहद जरुरी होता हैं। अगर रोगी ठीक तरह से अपने स्वास्थ्य के हिसाब से आहार लेता है तो कम से कम औषधि में रोगी की हालत में सुधार लाया जा सकता है और Dialysis या Renal Transplant से बचा जा सकता हैं।

Kidney fail होने पर रोगी ने अपने आहार पर निचे दिए हुए बातों का ख्याल रखना चाहिए :

प्रोटीन - Protein in Kidney Failure 

  • प्रोटीन हमारे शरीर के लिए एक महत्वपूर्ण तत्व हैं। शरीर की मरम्मत और रखरखाव के लिए प्रोटीन आवश्यक हैं। 
  • अगर आप जरुरत से कम प्रोटीन लेते है तो शरीर में बेहद कमजोरी आ सकती हैं वही अगर आप ज्यादा प्रोटीन खाते है तो किडनी के ऊपर इसका बोझ बढ़ जाता हैं। 
  • अगर आपके यूरिन रिपोर्ट में ज्यादा Albumin positive आता है तो आपने प्रोटीन युक्त आहार कम लेना चाहिए। सामान्यतः हम 1 ग्राम प्रोटीन प्रति किलो ले सकते हैं। 
  • किडनी की खराबी होने पर अपने मांसाहार नहीं करना चाहिए। आप चाहे तो कभी 1 अंडा या 30 ग्राम मछली खा सकते हैं। प्रोटीन के लिए आप 25 से 30 ग्राम पनीर, 1 से 2 कप दूध, 1 कप दही, दालें आदि ले सकते हैं। 
  • प्रोटीन युक्त आहार की पूरी जानकारी आप यहाँ click कर पढ़ सकते हैं - प्रोटीन का महत्त्व और आहार स्त्रोत। 
  • आपने रोजाना कितना प्रोटीन खाना चाहिए इसका फैसला आपकी शारीरिक जांच और किडनी की ब्लड रिपोर्ट देखकर आपके डॉक्टर या डायटीशियन बेहतर बता सकते हैं। 


सोडियम / Sodium in Kidney Failure 

  • हमारे आहार में सोडियम का सबसे बड़ा स्त्रोत नमक होता हैं। किडनी की खराबी होने पर अपने अधिक सोडियम / नमक नहीं खाना चाहिए। 
  • सोडियम हमारे शरीर में पानी का जमाव / Water retention का कार्य करता है जिससे शरीर में पानी जमा होने लगता है और किडनी पर बोझ पड़ता हैं। 
  • आपको आपके खाने में कम से कम नमक इस्तेमाल करना चाहिए। खाने में ऊपर से नमक बिलकुल न डालें। 
  • आपके लिए अलग से खाना बनाये जिसमे नमक का कम प्रयोग किया गया होना चाहिए। अधिक सोडियम युक्त चीजे जैसे अचार, पापड़, चिप्स, नमकीन, बाजार में मिलनेवाली तैयार सब्जियां का सेवन न करे। 
  • हर चीज में कितना सोडियम उपयोग किया गया है उसका ख्याल रखे। 
  • दिनभर में 1/4 चमच्च से ज्यादा नमक न ले। उच्च रक्तचाप या गंभीर किडनी के रोगी को रोजाना 3 ग्राम से अधिक सोडियम नहीं लेना चाहिए।  

पानी / Water in Kidney Failure : 

  • किडनी के रोगी ने दिनभर में कितना पानी पीना चाहिए यह भी रोगी के किडनी की स्तिथि पर निर्भर करता हैं। 
  • पानी हमारे शरीर के लिए एक बेहद जरुरी तत्व है पर अगर रोगी का क्रिएटिनिन बेहद ज्यादा हो और रोगी को पेशाब कम हो रहा हो तो दिन भर में एक लीटर से ज्यादा पानी नहीं पीना चाहिए। 
  • अगर रोगी को अच्छे से पेशाब हो रही है तो रोगी दो लीटर पानी भी पि सकता हैं। 
  • पानी कितना पीना चाहिए यह हवामान पर भी निर्भर करता है। गर्मी में पसीना ज्यादा आता है इसलिए पानी का प्रमाण बढ़ाना पड़ सकता है वही ठंडी में कम पानी पीना चाहिए। 
  • आपको इतना पानी अवश्य पीना चाहिए की आपकी जीभ सुखी / dry न रहे और शरीर में पानी की कमी न हो। 
  • आप आपके डॉक्टर  सलाहनुसार पानी की मात्रा तय कर अपने दिनभर में कितना पानी / जूस / चाय / दूध आदि तरल पदार्थ पिया है इसका रिकॉर्ड बनाकर रखे। 

पोटैशियम / Potassium in Kidney Failure 

  • किडनी की खराबी होने पर आपको अधिक पोटैशियम युक्त आहार से परहेज करना चाहिए। 
  • आपको अपने आहार में सोयाबीन, किशमिश, केला, अनार, पपीता, नारियल, निम्बू, खजूर, खरबूजा, आलू, भिंडी, संतरा, गाजर, पालक, टमाटर, चीकू, अनार, हरा धनिया, पालक, गवार की फली, मटर, अंडा, मीट, मछली, अखरोट, अंजीर, उड़द दाल, धनिया, जीरा, मेथी का सेवन कम करना चाहिए। 
  • अधिक पोटैशियम लेने से शरीर में पोटैशियम जमा हो सकता है जिसे हाइपरकेलेमिआ कहते है। इससे ह्रदय की गति घटते-घटते अचानक रुक जाना और फेफड़ों के स्नायु काम न करना जैसे जानलेवा परिणाम हो सकता हैं।   
Click करे और पढ़े - Kidney Failure के लक्षण, प्रकार और निदान की पूरी जानकारी

फॉस्फोरस / Phosphorus in Kidney Failure 

  • किडनी की खराबी होने पर आपको अपने आहार में फॉस्फोरस की मात्रा पर भी ध्यान देना चाहिए। 
  • अंडा, मछली, मटन, दूध, दूध से बनी चीजे, सॉफ्ट ड्रिंक आदि नहीं लेना चाहिए। 


फैट / Fat in Kidney Failure 

  • खाना बनाने के लिए ओलिव ऑइल, मूंगफली का तेल या केनोला ऑइल का उपयोग करे। 
  • अधिक फैटयुक्त आहार, तलाहुआ फास्टफूड आदि न खाये। 

कार्बोहाइड्रेट्स / Carbohydrates in Kidney Failure 

  • किडनी की खराबी होने पर 40 कैलोरी प्रति किलोग्राम खाने की सलाह दी जाती हैं। 
  • रोगी को चोकर युक्त गेहू, बिना पोलिश किया हुआ चावल जैसे जटिल कार्बोहायड्रेट का उपयोग करे। 
  • मधुमेह या पोटापा होने पर मीठे से परहेज करे। 

कैल्शियम / Calcium in Kidney Failure 

  • किडनी के रोगियों को अधिक कैल्शियम नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे किडनी में पथरी बनने की संभावना बढ़ जाती हैं। 
  • कैल्शियम युक्त आहार की पूरी जानकारी आप यहाँ पढ़ सकते हैं - कैल्शियम का आहार स्त्रोत क्या हैं 

अन्य महत्वपूर्ण सुचना / Others 

  1. किडनी में खराबी होने पर आप ने दिनभर में दो बड़े आहार लेने की जगह हर 3 से 4 घंटे पर खुराक लेना चाहिए। 
  2. अपने डॉक्टर की सलाह लिए बगैर मेडिकल से कोई भी दवा नहीं लेना चाहिए। विशेषकर टॉनिक, स्टेरॉयड और दर्दनाशक दवा लेने से किडनी में ज्यादा खराबी आती हैं इसलिए यह दवा डॉक्टर को पूछे बिना नहीं लेना चाहिए। 
  3. Whatsapp और इंटरनेट पर Kidney failure को जडीबुडी देकर ठीक करने के कई दावें किये जाते है या घरेलु नुस्खे बताये जाते हैं। अपने एलॉपथी या आयुर्वेदिक डॉक्टर को पूछकर ही कोई उपाय अपनाये। 
  4. शराब, धूम्रपान, तम्बाकू, गुटखा आदि का सेवन बिलकुल न करे। 
  5. कोई आपको कितना भी फाॅर्स क्यों न करे जो चीजे आपके सेहत के लिए ठीक नहीं है वह न खाए। याद रखे की खाने पर विशेष ध्यान देकर आप डायलिसिस और किडनी ट्रांसप्लांट से बच सकते हैं। 
  6. आयुर्वेद के अनुसार आप केवल मूंगदाल का पानी ही सेवन कर तो कुछ दिनों में ही आपका क्रिएटिनिन लेवल काबू में आ सकता हैं। 
  7. किडनी की खराबी होने पर आपको खाने में कई सारी पसंदीदा चीजों को खाना छोड़ना पद सकता है पर अगर आपको स्तिथि को काबू में रखना है तो ऐसा करना बेहद जरुरी हैं।      
  8. हर किडनी की खराबी के रोगी का आहार उसके स्थान, उम्र, लिंग, वजन, अन्य बीमारी और बीमारी की गंभीरता के हिसाब अलग-अलग हो सकता हैं। बेहतर होगा आप अपने डॉक्टर और आहार विशेषज्ञ की सलाह से आहार नियोजन करे और समय समय पर अपने इसका आकलन भी करते रहे। 
इस लेख में हमने Kidney Failure के patients के diet में क्या लेना चाहिए और diet में किन आहार पदार्थों का समावेश करना चाहिए इसकी संक्षिप्त जानकारी दी हैं।
आशा है आपको यह Kidney failure से जुडी जानकारी उपयोगी लगी होगी और इसे आप जरूरत मंद लोगों के साथ शेयर भी करेंगे !   
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 16k
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
अपनी दवा पर 20% बचत करे !

Loading

Tuesday, November 21, 2017 2017-11-26T06:35:31Z

No comments:

Post a Comment

Follow Us