नाख़ून चबाने (Nail Biting) की आदत से छुटकारा पाने के 10 घरेलु उपाय

नाख़ून चबाने (Nail Biting) की आदत से छुटकारा पाने के 10 घरेलु उपाय नाख़ून चबाने (Nail Biting) की आदत से छुटकारा पाने के 10 घरेलु उपाय
नाखून खाने (Nail Biting) की आदत कई तरह से व्यक्ति के लिए घातक है। नुकसान से वाकिफ होने के बावजूद लोग इस से बाज नहीं आते और खुद बीमारियों को बुलावा देते हैं। चिकित्सक की भाषा में दांतों से नाख़ून चबाने की आदत को Onychophagia या Nail Biting कहते हैं। मनोवैज्ञानिक इसे Impulsive Control Disorder की श्रेणी में रखते हैं, जबकि व्यक्ति अपना किसी आदत पर नियंत्रण नहीं रख पाता है, भले ही वह कितनी ही बुरी क्यों ना हो। 

माना जाता है कि करीब 35 प्रतिशत लोग अपने नाखून दांतो से काटने की आदत का शिकार होते हैं। बचपन से अगर यह आदत हो तो यह आगे भी चलती ही रहती है और लंबे समय में स्वास्थ्य का बड़ा नुकसान करती है। कुछ स्थितियों में तो यह कितनी घातक होती है कि विशेषज्ञ की मदद लेनी पड़ती है। 

अमूमन आदमी नाखून तब ही चबाता है जब वह तनाव या चिंता में होता है या फिर थोड़ा नर्वस होता है। शांति पाने के लिए या तनाव दूर करने के लिए वह ऐसा करता है, लेकिन यह तुरंत राहत पाने की कोशिश में वह बड़ी मुश्किल में फंस जाता है। 

नाख़ून चबाना या Nail Biting के नुकसान और इससे छुटकारा पाने के उपाय की जानकारी निचे दी गयी हैं :

how-to-stop-nail-biting-in-hindi

नाख़ून चबाने / खाने के नुकसान और इससे छुटकारा पाने के उपाय 

नाख़ून चबाने के नुकसान क्या हैं ? Nail biting side effects in Hindi

नाख़ून चबाने से होनेवाले नुक्सान की जानकारी निचे दी गयी हैं :
  • नाखून और किटाणु - भले ही आप कितने भी मर्तबा अपने हाथ धोते हो लेकिन फिर भी नाखूनों में कीटाणु रहते हैं। क्योंकि शरीर के दूसरे हिस्से के मुकाबले अंगुलियां ज्यादा चीजों के संपर्क में आती है तो वहां कीटाणु बहुत तेजी से अपना घर बनाते हैं। अंगुलियां भले ही साफ हो लेकिन नाखून पूरी तरह साफ नहीं होते इसलिए छोटे नाखून रखने की सलाह दी जाती है ताकि उन में कीटाणुओं ना रहे। 
  • हाथ के कीटाणु मुंह में - जब भी आप मुंह से नाखून काटते हैं तो उन में मौजूद बैक्टीरिया और अन्य कीटाणु सीधे आपके मुंह में पहुंच जाते हैं। मुंह के रास्ते में पाचन तंत्र तक पहुंचते हैं। वर्ष 2007 में हुए एक अध्ययन में तुर्की के कुछ वैज्ञानिकों ने बताया था कि E.Coli जो कि डायरिया का कारण है इसी तरह शरीर में पहुंचता है। 
  • दांतों का भी नुकसान - जब लगातार आप नाखून चबाते हैं तो आपके दांत आपस में रगड़ते हैं इनसे दांतो का चरण होता है। लंबे समय में दांतों को इस से गहरा नुकसान पहुंचता है कई मामलों में इनेमल का क्षरण भी इसी कारण होता है। 
  • मुंह में बदबू बनी रहेगी - जब लोग दांतों से नाखून काटते हैं उनकी लार में बैक्टीरिया के कारण दुर्गंध पैदा होने लगती है। अगर किसी भी व्यक्ति को नाखून काटने की आदत हो जाती है तो उसे मुंह में दुर्गंध बना रहता है। अगर ऐसा होता है तो उसके बाद आप कितनी भी माउथ फ्रेशनर आजमाने मुंह की दुर्गंध नहीं जाती हैं। 
  • उंगलियों को नुकसान - दातों से नाखून काटने पर नाखून दोनों ओर से गलत तरीके से उखड़ जाते हैं और कई बार अंगुलिया में इस कारण पस भी हो जाता है। नाखून काटने से अंगुलियों में लगातार इन्फेक्शन भी बना रहता है। विदेश में इसके कारण सर्जरी की नौबत तक आ चुकी है। 
  • नेल पॉलिश सीधे मुंह में - जो नेल पॉलिश लगाते हैं और दांतो से नाखुन काटते हैं उनके लिए तो यह और भी घातक है क्योंकि नेल पॉलिश में मौजूद केमिकल्स इस तरह सीधे उनके शरीर में पहुंच जाते हैं। कुछ नेल पॉलिश में तो फ़ॉर्मेल्डीहाईड का उपयोग किया जाता है जो शरीर के लिए घातक होता है और इसका का उपयोग शवों को कुछ समय तक सुरक्षित रखने के लिए होता है। 
  • नाखूनों का ना भरना - नाखून उनकी जड़ों से बढ़ते हैं और जो लोग लगातार नाखून काटते हैं वह नाखून की जड़ों को भी बुरी तरह से प्रभावित करते हैं। लगातार नाखून काटने से एक समय बाद लंबे नाखून भी छोटे ही रह जाते हैं। उनकी वृद्धि रुक जाती है। हाथों की सुंदरता भी इस तरह नाखून चबाने से पूरी तरह प्रभावित होती है। 

नाख़ून चबाने की आदत से छुटकारा पाने के 10 घरेलु उपाय
How to stop Nail biting in Hindi

जैसे की आपने ऊपर पढ़ा है नाख़ून चबाने की आदत हमारे शरीर के लिए नुकसानदेह होती है। ऐसी आदत से छुटकारा पाने के उपाय की जानकारी निचे दी गयी हैं :
  1. पट्टी बाँधना : अगर आपको डर है की आप या आपके बच्चे अनजाने में नाख़ून चबा सकते है तो नाख़ून पर बैंडऐड या प्लास्टिक टेप लगा सकते हैं। 
  2. नाख़ून की सफाई / Manicure : हफ्ते में दो बार घर पर या स्पेशलिस्ट से नाख़ून की सफाई (Manicure) कराये। विशेषज्ञों का कहना है की नाखूनों की सफाई रखने से उन्हें चबाने की इच्छा में भी कमी आती हैं। 
  3. नाख़ून छोटे रखना : नाख़ून बढ़ने से पहले उनकी नियमित छटाई करते रहे। नाख़ून छोटे रखने से उन्हें चबाने में तकलीफ होगी और उनमे मैल भी नहीं जमा होता हैं। 
  4. कड़वी दवा : कुछ लोग उँगलियों पर करेले, निम का रस, सिरका या सॉस जैसे अप्रिय स्वादवाली चीजे लगाने की सलाह भी देते हैं। 
  5. नकली नाख़ून : अगर आप नाख़ून चबाने की आदत पर काबू पाने में नाकाम हो रहे है तो बाजार में मिलनेवाले नकली नाख़ून भी ऊँगली पर लगा सकते हैं। इनका उपयोग करने से धीरे-धीरे आपकी आदत छूट जाएँगी। 
  6. दस्ताने / Gloves : आप चाहे  ग्लव्स पहनकर भी इस आदत से छुटकारा पा सकते हैं। खासकर बच्चों में यह एक अच्छा उपाय हैं। 
  7. व्यस्त : ज्यादातर बच्चे या बड़े नाख़ून तब चबाते है जब वह खाली होते हैं। जब भी आपके पास खाली वक्त हो तो आपको किसी कार्य में खुद को व्यस्त कर देना है। आप बच्चों के साथ कोई खेल, खेल सकते है या उन्हें कोई ड्राइंग या राइटिंग का काम दे सकते हैं। 
  8. स्वस्थ विकल्प : अगर आपको कुछ चबाने की इच्छा हो रही है और इसे आप या बच्चे कण्ट्रोल नहीं कर पा रहे है तो ऐसे में आप सेब या गाजर जैसे स्वस्थ वस्तु को चबाने के लिए उपयोग कर सकते हैं। 
  9. लहसुन / Garlic : आप चाहे तो लहसुन की कलियों को नाख़ून और ऊँगली पर घिस कर लगा सकते हैं। ऐसा करने से इसके तीव्र गंध से बच्चे नाख़ून नहीं चबाते और लहसुन में एंटीबायोटिक गुण होने से नाख़ून भी स्वस्थ रहते हैं। 
  10. पोलिश : अगर बच्चे नाख़ून चबाने की आदत नहीं छोड़ रहे है तो उनके नाखूनों पर आप केमिकल रहित नेल पोलिश लगा सकते हैं। इनके कडवे स्वाद से बच्चे नाख़ून खाना छोड़ देते हैं। 
इस तरह ऊपर दिए हुए उपाय अपना कर आप अपनी या बच्चों की नाख़ून खाने की आदत को छुड़ा सकते हैं। बच्चों को यह आदत होने पर तुरंत उपाय शुरू करना चाहिए क्योंकि विलम्ब करने पर इसे छुड़ाना मुश्किल हो जाता हैं। 
अगर यह जानकरी आपको उपयोगी लगी है तो इसे शेयर अवश्य करे !
Designed by Freepik
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 16k
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
अपनी दवा पर 20% बचत करे !

Loading

Friday, May 19, 2017 2017-05-19T10:58:57Z

No comments:

Post a Comment

Follow Us