How to get Pregnant in Hindi ? प्रेग्नेंट होने के टिप्स

How to get Pregnant in Hindi ? प्रेग्नेंट होने के टिप्स How to get Pregnant in Hindi ? प्रेग्नेंट होने के टिप्स
आज कल कई कारणों से युवा दम्पति / couples को प्रेगनेंसी प्लानिंग में देरी हो रही हैं। प्रेगनेंसी प्लानिंग में देरी के कारण महिलाओं को गर्भावस्था प्राप्त करने में कई सारी मुश्किलें आ रही हैं। हमें हर हफ्ते ईमेल, Whatsapp या फेसबुक पेज पर हजारों पाठकों का यह सवाल आता है की गर्भावस्था को जल्द कैसे प्राप्त करे ? या How to get Pregnant fast in Hindi ?

कई पाठकों द्वारा इस एक ही सवाल को पूछे जाने से पता चलता है की यह समस्या अब गंभीर होते जा रही है और इस विषय का पूरा ज्ञान भी पाठकों नहीं मिल रहा हैं। आज इस लेख में हम आपको यही जानकारी देने जा रहे है जिससे उन सभी दम्पति को मदद मिलेंगी जिन्हें गर्भावस्था जल्द प्राप्त करना हैं और अपने परिवार को आगे बढ़ाना हैं।

Pregnancy / गर्भावस्था को जल्द कैसे प्राप्त करे इसकी अधिक जानकारी नीचे दी गयी हैं :

how-to-get-pregnant-tips-in-hindi

How to get Pregnant fast in Hindi | जल्द प्रेग्नेंट होने के tips 

जल्द Pregnant होने के लिए आपको क्या करना चाहिए और अपने Pregnancy के चांस कैसे बढ़ने चाहिए इसकी जानकारी निचे दी गयी हैं :
  • वैद्यकीय जांच / Medical Examination : गर्भावस्था हर शादी शुदा स्त्री और पुरुष के जीवन का अहम् हिस्सा होता है और इसे प्लान करने से पहले गर्भावस्था में कोई दिक्कत न हो इसलिए स्त्री और पुरुष दोनों ने अपने फॅमिली डॉक्टर के पास जाकर अपना मेडिकल चेकअप कराना चाहिए जिससे कोई मेडिकल प्रॉब्लम होने पर उसे पहले ही ठीक किया जा सके। 
  1. महिलाओं में मधुमेह, थाइरोइड रोग, रक्त की कमी, कम ब्लड प्रेशर और PCOD जैसी समस्या से गर्भावस्था प्राप्त करने में और सुरक्षित गर्भावस्था में कई दिक्कत आती हैं। इनका निदान गर्भावस्था से पहले कर इन्हें नियंत्रित कर आप आगे होने वाले समस्या को रोक सकते हैं। PCOD की जानकारी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे - PCOD कारन, लक्षण और उपचार हिंदी में !
  2. पुरुष और महिला को हेपेटाइटिस, एड्स या अन्य किसी रोग का संक्रमण होने पर उसका निदान प्रेगनेंसी से पहले होना जरुरी होता हैं। 
  3. प्रेग्नेंट होने के पहले से ही महिला ने पौष्टिक आहार लेकर अपना वजन नियंत्रित करना चाहिए और हीमोग्लोबिन लेवल को कम से से कम 10 से ऊपर रखना चाहिए। मोटापा होने पर महिला को गर्भधारण करने में मुश्किलें आती हैं। मोटापे की समस्या को कम करने के उपाय जानने के लिए यह पढ़े - मोटापा कैसे कम करे ?
  4. ऐसी कई दवा है जिन्हें लेने के बाद 3 से 6 महीने तक प्रेगनेंसी प्लान नहीं करना चाहिए वरना होने वाले बच्चे को क्षति पहुच सकती हैं। अगर आप कोई दवा नियमित ले रहे है तो अपने डॉक्टर से प्रेगनेंसी प्लान करने के पहले वह दवा सुरक्षित है की नहीं यह जरुर जान लेना चाहिए। 
  • संबंध कब बनाये : गर्भावस्था को प्राप्त करने के लिए जरुरी है की महिला और पुरुष तब संबंध बनाये जब गर्भावस्था को प्राप्त करने के chance सबसे अधिक होता हैं। 
  1. औसतन महिलाओं का मासिक धर्म / Menstrual Cycle 30 दिन का होता हैं। जिस दिन महिलाओं में योनि भाग से रक्तस्त्राव शुरू होता है उसे अगर प्रथम दिन पकडे तो इस दिन के बाद के 10 वे दिन से लेकर 20 वे दिन तक के समय में प्रेग्नेंट होने के मौके ज्यादा होते हैं। इस अंतराल को ही Ovulation Phase कहते है जब महिलाओं के अंडाशय (Ovary) से अंडा (Egg) बाहर निकलता है और उसी दौरान वह शुक्राणु (Sperm) से मिलने पर महिला प्रेग्नेंट भी हो सकती हैं। 
  2. मासिक धर्म के 10 से लेकर 20 दिन तक के 10 दिन के समय में भी 14 से 18 दिन का समय अधिक महत्वपूर्ण होता हैं। 
  3. पुरुष के शुक्राणु गर्भाशय में 48 से 72 घंटों तक जीवित रह सकते है इसलिए जरुरी है की इन दिनों में एक दिन छोड़कर पति और पत्नी प्रेग्नेंट होने के लिए सम्बन्ध बनाते रहे।  
  • संबंध कैसे बनाये : पति और पत्नी दोनों Ovulation दिनों में यानि मासिक धर्म के 10 वे दिन से 20 वे दिन के समय संबंध बनाना चाहिए और इस समय के तुरंत पहले पहले और तुरंत बाद संबंध नहीं बनाना चाहिए जिससे की शुक्राणु और अंडाशय का स्वास्थ्य सही रहे और वह गर्भ का निर्माण कर सके। 
  1. Ovulation Phase के 4-5 दिन पहले एक बार संबंध बनाना चाहिए जिससे की पुरुष के semen में मृत शुक्राणु जमा न रहे और नए स्वस्थ युवा शुक्राणु की संख्या अधिक रहे।  
  2. प्रेगनेंसी का मौका बढ़ाने के लिए संबंध बनाते समय स्त्री ने पुरुष के नीचे रहना चाहिए और संबंध बनाने के बाद में स्त्री ने कुछ समय तक अपने नितम्ब (Hip) के नीचे तकिया या अन्य कोई सामान रख अपने कमर और हिप का हिस्सा 10 से 15 मिनिट तक ऊपर रखना चाहिए जिससे शुक्राणु बाहर न निकल जाये।
  3. सम्बंध बनाने के तुरंत बाद महिला ने कोई भारी काम नहीं करना चाहिए।   
  4. सम्बन्ध बनाते समय किसी तरह के क्रीम, जेल या तेल का उपयोग न करे। 
  • स्वस्थ शुक्राणु / Healthy Sperms : गर्भावस्था को प्राप्त करने के लिए पुरुष के Semen में शुक्राणु की संख्या और उनकी गतिशीलता (Motility) अधिक होना जरुरी होता हैं। शुक्राणु को स्वस्थ बनाये रखने के लिए इन बातों का ख्याल रखे :
  1. शराब से दुरी बनाये रखे। शराब पिने से शरीर में टेस्टेस्टेरोन हॉर्मोन में कमी आती है जिससे शुक्राणु की संख्या कम हो जाती हैं। 
  2. तम्बाखू, धूम्रपान और गुटखा इत्यादि का सेवन न करे। इन पदार्थो के सेवन से शुक्राणु की गतिशीलता कम हो जाती हैं। 
  3. अगर आपका वजन ज्यादा है तो अपना मोटापा कम करे। मोटापे से पीड़ित लोगो में शुक्राणु की संख्या कम पायी जाती हैं। 
  4. समतोल पौष्टिक आहार लेना चाहिए जिसमे Zinc, Folic acid, Calcium और Vitamin C पर्याप्त मात्रा में मिलना चाहिए। 
  5. अंडकोष / Testicles को अधिक तापमान से बचाने के लिए अधिक गर्म पानी से स्नान, सॉना बाथ और अधिक गर्म कपडे / जीन्स न पहने। अधिक तापमान से अंडकोष में शुक्राणु समाप्त हो जाते हैं। 
  6. शुक्राणु की संख्या और स्वास्थ्य बढ़ाने के अन्य उपाय पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे - स्वस्थ शुक्राणु की संख्या बढ़ाने के उपाय !
  • अन्य / Others 
  1. समतोल और पौष्टिक आहार लेना चाहिए। हमारे आहार का हमारे DNA और Genes पर भी असर पड़ता है इसलिए जरुरी है की इस समय प्राकृतिक और पौष्टिक आहार लेना चाहिए। अधिक तीखा मसालेदार और फास्टफूड से दुरी बनाकर रखे। 
  2. आहार में दूध, फल और हरी सब्जियों का समावेश करे। 
  3. रोजाना कम से कम 30 मिनिट व्यायाम और योग करे। व्यायाम और योग से शरीर की flexibility बनी रहती है जिससे गर्भावस्था में कोई परेशानी नहीं होती हैं। 
  4. तनाव से दुरी बनाये रखे। हमेशा प्रसन्न रहे। 
  5. सकारात्मक रहे। पॉजिटिव किताबे पढ़े और पॉजिटिव फिल्मे देखे। 
  6. अपने धर्म के अनुरूप धार्मिक किताबे अवश्य पढ़े। 
  7. अगर आपको कोई बीमारी है तो समय-समय पर डॉक्टर को दिखाकर उसे ठीक करे / नियंत्रण में रखे। 
  8. अपने जीवनसाथी को समझे और उसे खुश रखने का प्रयत्न करे। किसी बात पर बहस करने की जगह एक दुसरे की पूरी बात सुनकर किसी नतीजे पर पहुचे। प्रेगनेंसी के लिए दोनों में आपसी समझ भी बेहद जरुरी हैं। 
अगर आपको प्राकृतिक रूप से गर्भावस्था प्राप्त होनी है तो ऊपर दिए हुए उपाय से 6 महीनो के प्रयास में 10 में से 8 दम्पति में गर्भावस्था प्राप्त हो जाती हैं। अगर 6 महीने के प्रयास के बाद भी गर्भावस्था प्राप्त नहीं हो रही है तो आपको स्पेशलिस्ट डॉक्टर से मिलकर जांच और उपचार कराना चाहिए। आप जितना समय बर्बाद करेंगे या जितना अधिक आपकी आयु होंगी उतनी ही ज्यादा मुश्किल आपको प्रेगनेंसी पाने में होंगी। गर्भावस्था में देरी होने पर पुरुष और महिला दोनों की जांच होनी चाहिए। अक्सर पुरुष महिला को इसका दोषी मानते है जो की पूर्णतः गलत हैं।  

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
#गर्भावस्था #आहार #प्रेगनेंसी #टिप्स #हिंदी #Pregnancy #howto #tips #diet #Hindi #Sperm #ovulation #howtogetpregnant 
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 21k
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
अपनी दवा पर 20% बचत करे !

Loading

Tuesday, August 09, 2016 2018-08-24T12:15:36Z

2 comments:

  1. Clear and detailed information mentioned in this article. I know our doctor also performed these tests and suggested same tips to conceive

    ReplyDelete
  2. Very useful tips for pregnancy,is tips ko pdhne ke baad muje bahut sare swalo ke javab mil gye,sabhi jankari bahut hi achchhe tarike se or vistar se di gai he
    Thank you so much for sharing this information

    ReplyDelete

Follow Us