रोग योग आयुर्वेद डाइट सलाह सभी लेख परिचय
Home रोग योग आयुर्वेद डाइट सलाह सभी लेख परिचय

पद्मासन : विधि और लाभ

By Dr Paritosh Trivedi On, Tuesday, July 21, 2015


संस्कृत में पद्म का मतलब होता हैं 'कमल' और आसन का मतलब होता हैं 'बैठना'। पद्मासन में बैठने के बाद शरीर का आकार कमल के समान होने के कारण पद्मासन को कमलासन यह नाम भी दिया गया हैं। अंग्रेजी में इसे Lotus Pose कहा जाता हैं। पद्मासन यह सामान्यतः ध्यान में बैठने के लिए सर्वमान्य पद्धति हैं। 

Concentration बढ़ाने के लिए, Meditation करने के लिए या फिर तनाव को दूर करने के लिए यह एक उपयोगी Yoga हैं। कई लोग ध्यान में बैठने के लिए पद्मासन में बैठते हैं। शुरुआत में आपको थोड़ी कठिनाई हो सकती है पर अभ्यास के साथ आप इस आसन में लम्बे समय तक बैठ सकते हैं। 

पद्मासन की विधि और लाभ संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :



Padmasana Yoga benefits in Hindi
पद्मासन : विधि और लाभ

पद्मासन कैसे करते है और पद्मासन के फायदे 

पद्मासन विधि Padmasana step in Hindi

  • एक स्वच्छ और समतल जगह पर दरी या चटाई बिछा दे। 
  • पैरों को सामने की ओर सीधा फैलाकर बैठ जाए। 
  • अब धीरे-धीरे एक पैर को घुटने से मोड़कर पंजे को दुसरे पैर की जांघ (Thigh) पर रखे। 
  • अब दुसरे पैर घुटनों से मोड़कर पहले पैर की जांघ पर रखे। 
  • पैर के तलवों की दिशा पेट की ओर होनी चाहिए। 
  • दोनों पैर के घुटनों का स्पर्श जमीन से होना चाहिए। अभ्यास के साथ आप यह स्तिथि प्राप्त कर सकते हैं। 
  • सिर, मेरुदंड सीधा रखे। 
  • दोनों हाथो को कुंहनियो से मोड़कर घुटनों पर रखे। 
  • आप चाहे तो हाथों से ज्ञानमुद्रा या चिनमुद्रा धारण कर सकते हैं। 
  • कंधो को सीधा रखे 
  • आँखों को बंद करे और सामान्य श्वसन करे। 


पद्मासन में क्या सावधानी बरते ?

निचे दिए हुए रोगों से पीड़ित व्यक्तिओ ने पद्मासन नहीं करना चाहिए :
  1. गृध्रसी (Sciatica)
  2. संधिवात (Osteo Arthritis)
  3. घुटनों में सुजन
  4. घुटनों में अत्याधिक कडापन
  5. कमरदर्द

पद्मासन के फायदे क्या है ? 

  1. मन को शांत करता हैं
  2. तनाव में कमी
  3. एकाग्रता बढाता हैं
  4. मेरुदंड को सीधा, लचीला और मजबूत बनाता हैं
  5. ध्यान (Meditation) करने के लिए श्रेष्ठ स्तिथि
  6. रक्तचाप में नियंत्रण
  7. पद्मासन का नियमित अभ्यास करने से पेट और जांघ पर जमी अतिरिक्त चर्बी कम हो जाती हैं। 
पद्मासन करते समय शरुआत में परेशानी हो सकती हैं इसलिए अभ्यास के साथ इसका समय बढाये। पद्मासन करते समय कोई तकलीफ होने पर योग विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए। 

यह भी पढ़े 

  1. कैसे करे कपालभाति प्राणायाम 
  2. खाने के बाद करे वज्रासन 
  3. योग और प्राणायाम के 21 जरुरी नियम 

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plusFacebook  या Tweeter account पर share जरुर करे !
Keywords : Padmasana Yoga benefits in Hindi. पद्मासन की विधि और लाभ
loading...

No comments:

Post a Comment