मधुमेह में जीवन शैली Diabetes Life Style in Hindi

मधुमेह में जीवन शैली Diabetes Life Style in Hindi मधुमेह में जीवन शैली Diabetes Life Style in Hindi
Diabetes me kya khana chahie. Diabetes diet chart in Hindi. Diabetes me kaisi lifestyle honi chahie aur diabetes ko kaise control me rakhna chahie iski puri jaankari is article me di gayi hain.

मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जो काफी हद तक हमारे जीवनशैली से जुडी हुई है। हम क्या खाते है,क्या पीते  है, आहार में क्या और कितना लेते है इन सभी बातो का हमारे स्वास्थ्य पर असर पड़ता है।

अगर हम अपने जीवनशैली में योग्य बदलाव लाते है तो कई बीमारियों से बिना दवा लिए ही  छुटकारा पा सकते है। मधुमेह में सही जीवन शैली और योग्य खान पान का अनुसरण करने पर आपकी दवा की मात्रा कम हो सकती है,मधुमेह से होने वाले अन्य शारीरिक दुष्प्रभावो से आप बच सकते है और अगर आप Pre Diabetic श्रेणी में आते है तो हो सकता है की आप को आगे जाकर मधुमेह से ग्रसित न होना पड़े।

मधुमेह में निचे दि हुए जीवनशैली का अनुसरण करे।
diabetes-diet-chart-hindi
Image Courtesy - www.flickr.com

मधुमेह में जीवन शैली Diabetes Life Style in Hindi

  • नियमित व्यायाम को दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाना चाहिए।
  • आँखों की पर्याप्त देखभाल करनी चाहिए। 
  • तनाव का दूर रखे। 
  • अगर आप का वजन ज्यादा है तो उसे नियंत्रण में करे। 
  • शरीर के अंगो खास कर पर पैरो को चोट लगने से बचाना चाहिए। 
  • ब्लड शुगर पर नियमित रूप से नजर रखनी चाहिए। 
  • डॉक्टर द्वारा बताई गई दवा नियमित रूप से लेनी चाहिए। 
  • हर ३-४ महीनो में डॉक्टर द्वारा जाँच कराए।
Diabetes ko kaise control kare ?

आहार योजना मधुमेह प्रबंधन का पहला चरण है।

डायबिटीज में क्या करे?

  • कच्ची सब्जिया और जड़ी-बूटिया अग्नाशय को स्फूर्ति प्रदान करने और इन्सुलिन उत्पादन को बढाने में एक मुख्य भूमिका निभाती है। 
  • Low Glycemic Index वाली चीजो का सेवन ज्यादा करना चाहिए जैसे की सोया,मुंग दाल,काले चने,राजमा,ब्राउन चावल,अंडे का सफ़ेद हिस्सा,हरी सब्जिया इत्यादी। 
  • पर्याप्त मात्रा में हरी सब्जिया,सोयाबीन इत्यादि लेना चाहिए।
  • आहार में खीरा,प्याज,लहसुन जैसी सब्जियों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।
  • आँवला,जामुन,सेब,मौसंबी,पेरू  जैसे फल लाभदायक होते है। 
  • आहार में चना दाल और उड़द जैसे अन्न को शामिल किया जाना चाहिए।
  • दोपहर और रात के खाने के समय ज्यादा मात्रा में सलाद ले। 
  • सलाद में टमाटर,प्याज,ककड़ी,अंकुरित मुंग और चना इत्यादी ले सकते है।  
  • दही/छाछ बिना मलाई के दूध का बनाए।
  • अगर आप Insulin ले रहे है तो रात में सोने से पहले 1 कप दूध अवश्य ले। 
  • दिनभर में 8 से 10 ग्लास पानी ले। 
डायबिटीज में क्या न करे ?
  • चावल,आलू,केला,चीकू,आम  इत्यादि शर्करा युक्त अनाज और फलो से परहेज करना चाहिए।
  • तली हुई चीजो का सेवन कम न करे,कम से कम Vegetable Oil का प्रयोग करे। 
  • प्रति दिन 6 gm से अधिक नमक का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • मटन,अंडे का पिला भाग न ले। 
  • मख्खन,पनीर,मिट,चीज,मैदे का ब्रेड,पांव,नुडल्स,सफ़ेद चावल  इनका सेवन कम से कम कर ले। 
  • सोडावाले कोल्डड्रिंक्स न ले। 
  • बहुत ज्यादा मीठे फलो और रसो से परहेज करना चाहिए।
  • पूरी,पराठे,पकोड़े कभी न खाए क्योंकि ये वजन भी बढ़ाते है और Cholesterol भी। 
  • धुम्रपान,तंबाखू  और शराब के सेवन से परहेज करना चाहिए। 
मधुमेह के रोगी ऊपर दिए हुए निर्देशों का पालन कर स्वस्थ और खुशहाल जिंदगी जी सकते है और साथ ही मधुमेह से होनेवाले दुष्प्रभावो से बाख सकते है। पाकिस्थान के महान गेंदबाज वसीम अकरम भी मधुमेह के रोगी है पर उन्होंने इस रोग को मात देकर क्रिकेट जगत में अपना नाम बनाया है।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
देखे हमारे उपयोगी हिंदी स्वास्थ्य वीडियो ! Youtube 13k
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
अपनी दवा पर 20% बचत करे !
loading...

Loading

Tuesday, August 06, 2013 2018-01-04T09:55:41Z

4 comments:

  1. diabetes me mungfali kha sakte hai kya ?

    ReplyDelete
    Replies
    1. मूंगफली का Glycemic Index सिर्फ 14 है। मधुमेह में रोगियों को Low Glycemic Index वाले आहार पदार्थ लेना चाहिए। मधुमेह के रोगी मूंगफली खा सकते है।

      Delete
  2. Glycemic index kitna hona chahiye aur iska pata kaise kare

    ReplyDelete
    Replies
    1. योगेश शर्माजी निरोगिकाया ब्लॉग को भेट देने हेतू धन्यवाद !
      डायबिटीज के मरीजों को ऐसा आहार लेना चाहिए जिनका Glycemic Index 60 से कम हो। आहार पदार्थो के Glycemic Index की जानकारी आपको Google पर search कर मिल सकती है। जल्द ही इस पर एक लेख निरोगिकाया ब्लॉग पर प्रकाशित होगा।

      Delete

Follow Us