हींग जिसे अंग्रेजी में Asafoetida भी कहते हैं, रसोईघर में दैनिक उपयोग में आने वाले खाद्य पदार्थों में स्वाद और सुगंध प्रदान करने तथा उनको सुपाच्य बनाने में विशेष महत्व होता है। हजारों वर्षो से रसोईघर के अलावा हींग का आयुर्वेदिक औषधि में भी कई बिमारियों से राहत पाने के लिए उपयोग किया जा रहा हैं। 

हींग अपचन, पेटदर्द, अजीर्ण, दांत में दर्द, सर्दी, जुकाम, खांसी, सिरदर्द, बिच्छु के जहरीले प्रभाव और जलन को कम करने में काम आती है। हींग के विविध फायदे और विविध रोग से छुटकारा पाने के लिए हींग का घरेलु उपयोग कैसे करे इसकी जानकारी आज इस लेख में दी जा रही हैं। 

हींग के विविध आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खों की जानकारी निचे दी गयी हैं :

health-benefits-hing-asafoetida-hindi

हींग के स्वास्थ्य लाभ और घरेलु नुस्खे Health Benefits and Home remedies of Hing / Asafoetida in Hindi

  • सर्दी-जुखाम / Cold : थोड़ी सी हींग पीस कर पानी में घोल दें और शीशी में भर लें। इसे सूंघने से सर्दी जुकाम, सिर का भारीपन व दर्द में आराम मिलता है। हींग सूंघने से जुकाम से बंद हुई नाक खुल जाती है।
  • निमोनिया / Pneumonia : पीठ, गले और सीने पर हींग के पानी का लेप करने में खांसी, कफ, निमोनिया और अस्थमा के कष्ट में आराम मिलता है। 
  • पेट दर्द / Abdomen pain : पेट पर विशेषकर नाभी के आसपास गोलाई में इस पानी का लेप करने से पेट दर्द, पेट फुलना और पेट का भारीपन दूर होता है। 
  • त्वचा रोग / Skin Problems : त्वचा के कुछ रोगों में हींग बहुत ही प्रभावशाली होती है। यदि दाद हो गया हो तो थोड़ी सी हींग पानी में घिसकर प्रभावित अंग पर लगाए। यदि नासूर हो गया हैं और घाव सड़ने लगा हैं तो हींग को नीम के पत्तों के साथ पीसकर घाव पर लगाने से कुछ ही दिनों में आराम आ जाता है।
  • नशा / Drugs : अफीम का नशा उतारने के लिए थोड़ी सी हींग पानी में घोलकर पिला दे। 
  • कीड़े / Worms : बच्चों के पेट में कीड़े होने पर जरा सी हींग एक चम्मच पानी में घोलकर रुई के फाहे को उस में डुबोकर बच्चे की गुदा में रखे। इस से राहत होगी। 
  • मासिक धर्म / Menstrual Cycle : हींग का नियमित सेवन करने से मासिक धर्म से जुडी परेशानी जैसे पेट दर्द, पेट में जकडन, सफ़ेद पानी जाना में फायदा होता हैं।  
  • निम्न रक्तचाप / Low Blood Pressure : इनके चूर्ण मैं थोड़ा सा नमक मिलाकर पानी के साथ लेने से निम्न रक्तचाप यानी लो ब्लड प्रेशर में आराम मिलता है। 
  • अजीर्ण / Indigestion : छांछ में या भोजन के साथ हींग का सेवन करने से अजीर्ण, वायु, हैजा, पेट दर्द में आराम मिलता है। 
  • जोड़ों में दर्द / Joint Pain : जोड़ों के दर्द में इसका नियमित सेवन बहुत ही लाभदायक रहता है। 
  • काँटा / Thorn : कांटा या कांच चुभने पर हींग का घोल उस जगह लगाने पर कुछ ही समय में आराम आ जाता है। 
  • गर्भाशय / Uterus : प्रसव के उपरांत हींग का सेवन करने से गर्भाशय संकोचन और गर्भाशय की शुद्धि होती है। 
  • दांत में कीड़ा / Cavity : भुनी हुई हींग को रुई के फाहे में लपेटकर दाढ़ पर रखने से राहत मिलती हैं। दांत में कीड़ा लगने पर भी इस से आराम मिलता है। 
  • संग्रहणी / IBS : संग्रहणी, अतिसार में ताजा दही या छाछ में इसका चूर्ण का सेवन करना बहुत ही उपयोगी होता है। 
  • हिचकिया / Hiccough : हींग का धुंआ सूंखने से से हिचकिया बंद हो जाती है। 
इस तरह हींग का महत्व केवल आपके रसोघर तक ही सिमित नहीं हैं। स्वास्थ्य के लिए भी हींग का अपना एक अलग महत्त्व हैं। आशा है आपको हमारा यह Health Benefits of Hing / Asafoetida in Hindi लेख पसंद आया होंगा।
स्वास्थ्य से जुडी अन्य जानकारी सरल हिंदी भाषा में पढ़ने के लिए हमें subscribe अवश्य करे और हमारे फेसबुक पेज को like अवश्य करे।
Image Source - Stylecraze
loading...
Labels:

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.