आप सभी को आंतरराष्ट्रीय योग दिवस / International Yoga Day 2016 की हार्दिक शुभकामनाये ! आज का दिवस सभी भारतीय लोगों के लिए विशेष गौरव करने का दिवस है क्योंकि भारत के योग रूपी इस प्राचीन धरोहर का महत्त्व आज सम्पूर्ण विश्व ने माना है और निरोगिकाया के लिए इसे अपनाया भी हैं।

योग और प्राणायाम दिखने में तो सरल लगते है परन्तु इनका सम्पूर्ण लाभ लेने के लिए कुछ विशेष नियमों का पालन करना बेहद जरुरी हैं। कई लोग अज्ञानवश कही से भी पढ़कर गलत तरीके से योग करते है और तकलीफ पाते हैं और उसका सारा दोष योग को दे देते हैं।

योग और प्राणायाम का सम्पूर्ण लाभ लेने के लिए जिन नियमों का पालन करना चाहिए उनकी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

योग और प्राणायाम के नियम

योग और प्राणायाम के 21 विशेष नियम 

Do's and Don'ts for Yoga and Pranayama in Hindi 
  1. शुरुआत में योग करते समय हमेशा योग विशेषज्ञ के देखरेख में ही योग करे और पूर्णतः प्रशिक्षित होने के बाद ही अकेले योग करे। 
  2. योग से जुड़ा कोई भी प्रश्न मन में हो तो विशेषज्ञ से जरूर पूछे। 
  3. योग करना का सबसे बेहतर समय सुबह का होता हैं। सुबह सूर्योदय होने के आधा घंटे पहले से लेकर सूर्योदय होने के 1 घंटे बाद तक का समय विशेष लाभदायक होता हैं। 
  4. सुबह योग करने से पहले आपका पेट साफ होना आवश्यक हैं।  
  5. नहाने के 20 मिनिट पहले या बाद में योग नहीं करना चाहिए। 
  6. योग का सम्पूर्ण लाभ लेने के लिए रोजाना नियमित अभ्यास करना जरुरी हैं। केवल हफ्ते में एक या दो दिन योग करने से आपको कोई विशेष लाभ नहीं होंगा। 
  7. योग करने के लिए हमेशा साफ, स्वच्छ हवादार और समतल जमीन हो ऐसी जगह ही योग करे। 
  8. योग करते समय जमीन या फर्श पर दरी, चटाई या योगा मैट अवश्य बिछाना चाहिए। 
  9. योग और प्राणायाम खाली पेट करना चाहिए। 
  10. अगर खाना खाने के बाद योग और प्राणायाम करना है तो आहार लेने के 2 घंटे बाद ही करे। केवल वज्रासन योग ही खाने के तुरंत पश्च्यात किया जा सकता हैं। 
  11. योग करने के 30 मिनिट बाद ही कुछ आहार लेना चाहिए। 
  12. योग करते समय अगर आपको छींक आती है या पेशाब लगती है तो इन वेग को रोककर नहीं रखना चाहिए। 
  13. हमेशा पहले प्राणायाम करे और बाद में योग आसन करे। 
  14. हर दो अलग प्राणायाम या योग आसन के बीच 1 से 2 मिनिट का अंतराल रखे। 
  15. सभी आसन समाप्त होने के बाद 5 मिनिट तक शवासन अवश्य करे। 
  16. अगर आप बीमार है या अन्य कोई तकलीफ है तो अपने डॉक्टर की सलाह लेकर ही योग करे। 
  17. महिलाओं ने मासिक / Menstrual Periods के समय योग और प्राणायाम नहीं करना चाहिए। 
  18. गर्भावस्था के समय महिलाओं से योग विशेषज्ञ और अपने डॉक्टर की सलाह से ही योग करना चाहिए। गर्भावस्था में केवल कुछ ही योग किया जा सकते है। 
  19. योग करते समय कोई जल्दबाजी न करे और शांत मन से योग पर ध्यान केंद्रित कर योग करना चाहिए।
  20. कोई भी योग करते समय अगर आपको चक्कर आना, जी मचलाना, सिरदर्द, जकदाहट या अन्य कोई समस्या होती है तो योग को रोक कर अपने डॉक्टर या योग विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए। 
  21. योग करते समय योग की समय अवधि अभ्यास के साथ धीरे-धीरे बढ़ानी चाहिए। प्रथम दिवस से ही अपेक्षा से अधिक करने से हानी हो सकती हैं।   
मित्रों, योग और प्राणायाम यह शरीर को शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ और निरोगी रखने का सबसे सरल और उपयुक्त माध्यम हैं। योग और प्राणायाम से जुड़े 40 लेख सरल हिंदी भाषा में हम अब तक प्रकाशित कर चुके है जिन्हे आप यहाँ click कर पढ़ सकते हैं - योग और प्राणायाम !

आशा है आप सभी आज से ही योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाएंगे और हमारे ऋषि-मुनियों के इस अदभुत ज्ञान का लाभ लेंगे।

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

  1. बहुत ही बढ़ीया मैं ऐसे ही लेख की ख़ोज कर रहा था जो योग के बुनियादी नियम से अवगत कराएं और आपका लेख पढ़कर बहुत संतुष्ट हुआ.
    धन्यवाद. :)

    ReplyDelete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.