मित्रों, आज हृदयाघात या Heart Attack से सम्बंधित लेख लिखने की एक खास वजह हैं। कल ही हमारे हॉस्पिटल में एक 25 वर्षीय हार्ट अटैक का पेशेंट आया था। आपने सही पढ़ा 25 वर्षीय ! आधुनिक युग में जहां हर काम तेजी से हो रहा हैं वही कई बुढ़ापे में होनेवाली बीमारियाँ भी अब तेजी से कम आयु में होना शुरू हो गयी हैं।

उस रोगी को केवल सिने में भारीपन और पेट में गैस की शिकायत थी पर ECG और अन्य ह्रदय जांच में उस मरीज को हार्ट अटैक की पृष्टि हुई और समय पर ईलाज मिलने से अब मरीज ठीक हैं। हर युवा व्यक्ति इतना भाग्यशाली नहीं होता हैं। अधिकतर ऐसे मामलों में युवा गैस की तकलीफ मानकर स्वयं मेडिकल से कुछ दवा लेते है और फिर समय पर योग्य उपचार न मिलने से रोगी की मृत्यु भी हो जाती हैं।

हार्ट अटैक क्या है और इसके लक्षण क्या है इसकी जानकारी हम पहले ही प्रकाशित कर चुके है। आप यहाँ click कर यह जानकारी पढ़ सकते हैं - हार्ट अटैक के लक्षण ! लोगों में व्यायाम का अभाव और खानपान के बिगड़ते तरीके के कारण युवा आयु में ही लोगों को यह समस्या हो रही हैं। इस समस्या को रोकने के लिए आज इस लेख में हम हार्ट अटैक से स्वयं को बचाने के लिए क्या करना चाहिए इसकी जानकारी दे रहे हैं।

tips-to-prevent-heart-attack-hindi

हार्ट अटैक से बचने के लिए क्या करना चाहिए ?

Tips to prevent Heart attack in Hindi

 हार्ट अटैक से बचने के लिए आपको निचे दी हुई बातों का खास ख्याल रखना चाहिए :
  • समतोल पौष्टिक आहार / Healthy Balanced Diet : हमारा शरीर वैसा ही बनता है जैसा हम आहार लेते हैं। अगर हम पौष्टिक आहार लेते है तो ह्रदय भी स्वस्थ रहता है। अगर हम अधिक तलाहुआ, मसालेदार और फ़ास्ट फ़ूड आहार लेते है तो रक्त नलिका में ब्लॉकेज होकर हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए समतोल आहार लेना बेहद जरुरी हैं। समतोल आहार कैसा होता है और इनमे किन चीजों का समावेश होता है यह पढ़ने के लिए यहाँ click करे - समतोल आहार कैसा होता हैं ?
  • व्यायाम / Exercise : चाहे आप 8 घटे ड्यूटी करते है या 12 घंटे, आपको अपने स्वास्थ्य के लिए दिन की बाकि भागदौड़ को छोड़कर कम से कम आधा घंटा समय जरूर निकालना चाहिए। आप अपने क्षमता के अनुसार कोई भी व्यायाम से शुरू कर सकते है, जैसे की चलना, जॉगिंग, साइकिल चलना, तैराकी, जिम, नाचना, एरोबिक इत्यादि। व्यायाम करते से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन अच्छे से होता है और रक्त के थक्के / clots जमा नहीं होते है। केवल हफ्ते में 5 दिन व्यायाम कर ही आप हार्ट अटैक की संभावना को 50% तक कम कर सकते हैं। 
  • जीवनशैली / Lifestyle : आजकल की आधुनिक जीवनशैली भागदौड़ और तनाव भरी हैं।  स्वास्थ्य के प्रति बेहद लापरवाह बन चुके हैं। कुछ लोग ऐसे है जो अधिक से अधिक पाने के लिए दिन रात तनाव में मेहनत कर रहे है और कुछ लोग ऐसे है जो दिनभर केवल मोबाइल या लैपटॉप पर आराम से बैठकर अपना काम कर रहे है। यह दोनों जीवनशैली आपके ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हैं। आपको आहार, नींद, काम, व्यायाम और आराम में योग्य सामंजस्य बैठाकर अपने स्वास्थ्य के प्रति जवाबदेह बनना चाहिए। रोज अपने दिन को सही तरीके से प्लान करे और हर चीज को महत्व दे। केवल धन प्राप्ति जीवन का उद्देश नहीं हैं। 
  • नशा / Habits : अगर आप तम्बाखू, गुटखा, शराब, सिगरेट या बीड़ी जैसा कोई भी नशा करते है तो हार्ट अटैक को आमंत्रण देते हैं। जो लोग इन नशे के आदि होते है उन्हें हार्ट अटैक का खतरा 75% अधिक होता हैं। स्वयं धुम्रपान न करे और यदि कोई करता है तो या तो उसे मना करे या फिर उस धुए से बचकर रहे। नशा कैसे छोड़े यह जानने के लिए यहाँ click करे - नशा छोड़ने के उपाय !
  • रोग / Disease : अगर आपको डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर या कोलेस्ट्रॉल की अधिकता जैसा कोई रोग है तो डॉक्टर के उचित मार्गदर्शन और दवा से इन्हे नियंत्रित रखना चाहिए। जिन्हे यह बीमारी होती है उन्हें हार्ट अटैक आने की संभावना बेहद ज्यादा होती हैं। इन रोगियों ने कभी भी अपने बीमारी को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और समय पर डॉक्टर को दिखाते रहना चाहिए। कोशिश करे की आपका ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा हमेशा नियंत्रण में रहे। 
  • शारीरिक जांच / Physical Examination : अगर आपको कोई भी शारीरिक तकलीफ हो या हार्ट अटैक का कोई भी लक्षण नजर आता है तो मेडिकल पर दवा लेने की जगह पहले डॉक्टर के पास जाकर अपनी जांच करानी चाहिए। अगर आपके परिवार में किसी को डायबिटीजहाई ब्लड प्रेशर या कोलेस्ट्रॉल की अधिकता का ईतिहास रहा है तो 20 वर्ष आयु के पश्च्यात ही हर वर्ष डॉक्टर के पास जाकर अपनी सम्पूर्ण शारीरिक जांच कराना चाहिए। ऐसा करने से आप आगे जाकर होने वाली किसी बड़ी बीमारी को पहले ही पकड सकते है और उचित उपचार पहले से शुरू कर उस बीमारी के प्रभाव को कम कर सकते हैं।   
  • तनाव / Stress : आज हर किसी को कोई न कोई समस्या या तनाव है पर ऐसी भी कोई समस्या या तनाव नहीं है जिसका कोई समाधान नहीं हैं। समस्या का अपना कोई साइज़ नहीं होता है वह तो हमारे हल करने की क्षमता के अनुसार छोटी या बड़ी रहती हैं। हमेशा तनाव रहित रहने की कोशिश करे। इसके लिए आप योग और लाफ्टर थेरेपी का सहारा भी ले सकते हैं। शरीर मे सभी चीजे ठीक होने पर भी केवल तनाव के कारण भी अचानक हार्ट अटैक आ सकता हैं। 
  • मोटापा / Obesity : डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर की तरह मोटापा भी एक बड़ी समस्या बन चुकी हैं। अगर आपका वजन सामान्य से अधिक है और आपका BMI 25 से ऊपर है तो आपको हार्ट अटैक आने की संभावना दोगुनी हो जाती हैं। व्यायाम, योग और आहार परिवर्तन के साथ वजन को नियंत्रण करने की कोशिश करे। वजन कम करने की पूरी गाइड हमने इस ब्लॉग पर प्रकाशित की हैं। आप वजन कम करने के उपाय यहाँ click कर पढ़ सकते हैं - वजन कम / Weight loss कैसे करे ?  
  • योग / Yoga : शरीर को निरोगी रखने का सबसे बेहतर माध्यम योग है। हार्ट अटैक से बचने के लिए और अपने ह्रदय / हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए आप निचे दिए हुए योग करे। योग की विधि और लाभ की सम्पूर्ण जानकारी पढने के लिए केवल योग के नाम पर click करे। 
  1. अनुलोम विलोम 
  2. कपालभाति 
  3. शीतली प्राणायाम 
  4. उज्जयी प्राणायाम 
  5. त्रिकोणासन 
  6. ताड़ासन 
  7. भुजंगासन
  8. सूर्यनमस्कार 
  9. पश्चिमोत्तानासन 
  10. पवनमुक्तासन 
मित्रों, भगवान ने हमें हाथ, पैर, आँखे, किडनी और फफड़े दो-दो दिए है पर ह्रदय केवल एक ही दिया है, इसलिए हमें अपने लिए और अपने परिवार के लिए इसका अच्छे से ख्याल रखना जरुरी हैं। आशा है आप आज से ही अपने स्वास्थ्य का बेहतर देखभाल करेंगे और निरोगी जीवन की और अग्रेसर होंगे।

#हृदयाघात #हार्ट #अटैक #कैसे #बचे #Howto #prevent #Heart #Attack #Hindi #Kaise #Bache #Healthinhindi 
Image courtesy of stockimages at FreeDigitalPhotos.net
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.