वर्तमान समय में पुरुषों में 'शीघ्रपतन'  या जिसे अंग्रेजी में 'Premature Ejaculation'  कहा जाता है यह समस्या अधिक देखने में आ रही हैं। ऐसे तो मैं सेक्स से जुड़े विषयों पर लिखने से बचता हु पर क्योंकि पिछले कई महीनों से रोजाना बहुत सारे पाठकों के ईमेल और व्हाट्सप्प पर इस समस्या से जुड़े प्रश्न आते हैं मैं इस विषय पर विस्तार में जानकारी लिख रहा हु।

अपेक्षा से पहले वीर्य / Semen  का स्खलन / Ejaculation होने को हीं शीघ्रपतन कहते हैं। पीड़ित व्यक्ति पर इस समस्या का शारीरिक, मानसिक और सामाजिक परिणाम पड़ता हैं। इस समस्या के कारण जहां कुछ परिवार टूट जाते है तो वही कुछ लोग आत्महत्या तक कर लेते हैं। लोगो की इस मज़बूरी का फायदा उठाकर कई निम-हाकिम ऑनलाइन या समाचार पत्रों में विज्ञापन देकर लोगो से हजारों रुपये लूट लेते हैं।

आज इस लेख में हम शीघ्रपतन के कारण और लक्षण की जानकारी दे रहे हैं :

premature ejaculation causes ayurvedic treatment remedies in hindi
शीघ्रपतन का कारण
Causes of Premature Ejaculation in Hindi

शीघ्रपतन का कोई ठोस कारण अभी तक पता नहीं चला हैं। यह समस्या शारीरिक और मानसिक दोनों कारणों से हो सकती हैं। इनकी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :
  1. हस्थमैथन / Masturbation : कई विशेषज्ञों का कहना है की जो पुरुष अधिक हस्थमैथुन के आदि होते हैं उन्हें शीघ्रपतन की समस्या होने की संम्भावना अधिक होती हैं। ऐसे पुरुष को क्लाइमेक्स पर पहुंचने की जल्दी होती है जिससे यह समस्या निर्माण होती हैं। सप्ताह में 5 से अधिक बार हस्थमैथुन करने वाले पुरुषों को यह खतरा अधिक रहता हैं। 
  2. उत्तेजना / Excitation: जो पुरुष सेक्स से बार में अधिक सोचते है या ऐसे किताबें-वीडियो अधिक देखते हैं वे जल्दी उत्तेजित हो जाते है और परिणामतः शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं। 
  3. अज्ञान / Ignorance : सेक्स से जुड़ा अज्ञान शीघ्रपतन का एक और बड़ा कारण हैं। भारत में युवा वर्ग में इस विषय में कई सारे मिथक फैले हुए है और यहि कारण है की अज्ञान और घबराहट के कारण कई युवाओं में यह समस्या उत्पन्न होती हैं।  
  4. नसों पर प्रभाव / Neuropathy : शराब, तम्बाखू, गुटखा, धूम्रपान या डायबिटीज जैसे रोग के कारण शरीर की तंत्रिका प्रणाली पर विपरीत परिणाम होकर लिंग की नसे कमजोर होने से भी शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं। 
  5. हॉर्मोन / Hormone : सामान्यतः उम्र के साथ शरीर में टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में कमी आ जाती है और शीघ्रपतन की समस्या निर्माण होती हैं। आजकल युवावर्ग में भी आलस्य मोटापे के कारण इस हॉर्मोन में कमी जल्द आने से यह समस्या जल्द निर्माण हो रही हैं। 
  6. तनाव / Stress : तनाव या चिंता जैसे मानसिक कारणों से शीघ्रपतन होना आम बात हैं। कुछ लोगों में कोई समस्या न होते हुए भी केवल शीघ्रपतन न हो जाये इस चिंता से भी शीघ्रपतन हो जाता हैं। 
  7. रोग / Disease : थाइरोइड, कमजोर लिंग (Erectile Dysfunction), डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, पेशाब में संक्रमण, हॉर्मोन्स में गड़बड़ी, विटामिन की कमी और मस्तिष्क में तंत्रिका प्रणाली / Nervous system में गड़बड़ी जैसे कारणों से शीघ्रपतन हो सकता हैं। 
  8. सेक्स का तरीका / Sex Technique : शीघ्रपतन कभी-कभी गलत सेक्स की पद्धति से भी हो सकता है जैसे की अत्याधिक मौखिक सम्भोग / Oral Sex, अत्याधिक पूर्वक्रिडा / Foreplay इत्यादि।     
शीघ्रपतन का सफल उपचार करने के लिए जरुरी है की पहले इस समस्या का सही कारण पता किया जाये। इस समस्या से पीड़ित कई व्यक्ति शर्म के कारण बिना डॉक्टर को बताये ऑनलाइन या समाचार पत्र में विज्ञापन देख महंगे उत्पाद खरीदते है और हजारों रूपए खर्च कर बैठते हैं।
शीघ्रपतन का उपचार और घरेलु नुस्खे की जानकारी पढ़ने के लिए यहाँ click करे - शीघ्रपतन / Premature Ejaculation का उपचार और आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे !

Image courtesy of photostock at FreeDigitalPhotos.net
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
loading...
Labels:

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.