नंगे पांव चलना जिसे अंगेजी में Barefoot Walking या Earthing भी कहते है, शरीर को स्वस्थ रखने का एक आसान उपाय हैं। आधुनिक होने की होड़ में हम नंगे पाँव चलना भले ही शर्म की बात मानते हो, लेकिन विदेशों में बेयर फुट वाकिंग इन दिनों खासी चलन में हैं। यकीन मानिए सप्ताह में औसतन कुछ घंटे नंगे पाव चलकर कई बिमारियों को दूर किया जा सकता हैं। यदि हम नंगे पाव चलना भूल रहे है तो कई बिमारियों को मानो न्योता दे रहे हैं।

नंगे पाव चलने से होने वाले विविध स्वास्थ्य लाभ की जानकारी निचे दी गयी हैं :

bare-foot-walking-health-benefits-hindi
नंगे पैर चलने के स्वास्थ्य लाभ 
Health benefits of Barefoot Walking in Hindi
  • मानसिक लाभ / Mental : आपको याद है पिछले दिनों आप कब नंगे पाव चले थे या आपने प्रकृति के स्पर्श का अनुभव कब किया था ? शायद अरसा हो गया होगा। थोड़ी देर भी जमीन पर नंगे पाव चलना दिमाग को सुकून देती हैं। घास पर एड़ी, ओस की बून्द और ठंडी रेत पैरों के जरिये सीधे मन को ठंडक देती हैं। इसके जरिये आपका शरीर सीधे प्रकृति के स्पर्श में आता हैं। 
  • शारीरिक लाभ / Physical : जूतों की अपेक्षा नंगे पैर चलने से पैरों पर कम जोर पड़ता हैं और जॉइंट्स भी स्वस्थ / हेल्थी रहते हैं। इससे आपके स्नायु भी तरोताजा रहते हैं जो की अक्सर जुटे पहनने से नहीं होता हैं। इससे आप खुद को तरोताजा महसूस करते है और आपका दिमाग भी तेजी से काम करता हैं। जमीं के स्पर्श से सीधा दिमाग का बैलेंस सिस्टम जाग उठता हैं। इससे दिमाग को ताजगी मिलती हैं वह ज्यादा बेहतर तरीके से शरीर बैलेंस कर पाता हैं। गिरने से लगने वाली चोटों से बचने के लिए बुजुर्गों के लिए यह खासतौर से महत्वपूर्ण हैं। नंगे पाव चलने से जहाँ पैर के पोरों के छिद्र खुल जाते है और अक्सूप्रेशर सिस्टम भी काम करता हैं। 
  • रक्त प्रवाह / Blood Circulation : आप अपने शरीर को जितना ज्यादा इस्तेमाल करेंगे वह उतना ही अच्छा रहेंगा। जब आप नंगे पांव चलना शुरू करते हो तब आपके पैर फिर से ताजगी महसूस करते है और पैरों में रक्त प्रवाह बेहतरीन तरीके से होता हैं। जितना ज्यादा बेहतर रक्तप्रवाह उतना कम दर्द और कई बीमारियां दूर रहेंगी। 
  • तनाव / Stress : कई तरह के शोध और अध्ययन से यह पता चला है की पैरों की सबसे निचली तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करने से हम ब्लड प्रेशर और तनाव को कम कर सकते हैं। नंगे पाव चलने से सुख की अनुभूति होती हैं। 
  • नींद / Sleep : रोजाना केवल 5 मिनिट ही अगर आप नंगे पाव आप जमींन पर चलते है तो आप अनुभव करेंगे की आपको हमेशा की तुलना में एक बेहतर नींद आ रही हैं। जमीन या घास को स्पर्श करने से हमें पृथ्वी से पॉजिटिव एनर्जी मिलती है जिससे तनाव कम होकर बेहतर नींद आती हैं। 
इसके अलावा भी नंगे पैर चलने के कई और भी स्वास्थ्य लाभ हैं। 

नंगे पैर चलते समय क्या एहतियात बरतने चाहिए ?

नंगे पैर चलना भले ही हमें इतना आसान और उपयोगी लग रहा हो पर फिर भी नंगे पैर चलते समय हमें कुछ एहतियात बरतने चाहिए :
  • सुबह घास पर अोस में चलना अधिक फायदेमंद होता हैं। आप अपने शारीरिक क्षमता के अनुसार 5 मिनिट से लेकर 1 घंटे तक भी चल सकते हैं। चलते के गति आप आप अपने स्वास्थ्य के अनुसार रखे। 
  • नंगे पैर चलने के पहले अच्छे से देख ले की वह जगह स्वच्छ और सुरक्षित है की नहीं। 
  • ऐसी जगह नंगे पैर न चले जहां कचरा, जिव-जंतु, नुकीली चीजे, गन्दगी और शरीर के लिए हानिकारक वस्तु हैं। 
  • अगर आपको डायबिटीज है तो नंगे पैर चलने से पहले अच्छे से एहतियात बरते। पैर को लगी छोटी से चोट गम्भीर परिणाम कर सकती हैं। 
  • अगर पैर में कोई खुली चोट हैं तो नंगे पैर न चले। 
  • नंगे पैर चलकर आने के बाद अपना पैर अच्छे से जरूर साफ़ करे। 
बाजार में भले ही महंगे स्पोर्ट शूज की भरमार हो, लेकिन नंगे पैर चलने के अपने ही फायदे हैं, अपना ही सुकून हैं। जब भी मौका मिले नंगे पाव चलकर तो देखिये।
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share करे ! 
loading...
Labels:

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.