मीठा खाना अधिकतर लोगों को पसंद होता हैं। कुछ लोग तो ऐसे होते है जो केवल मीठा / चीनी (Sugar) खाने का बहाना ढूंढते रहते हैं। क्या आप जानते है की जरुरत से ज्यादा मीठा खाना आपके सेहत के लिए कितना नुक्सानदेह हो सकता हैं ? आज इस लेख में हम आवश्यकता से अधिक मीठा / चीनी खाने के कारण शरीर पर क्या विपरीत परिणाम होते हैं इसकी जानकारी देने जा रहे है।

side-effects-of-eating-too-much-sugar-hindi
1) पोषणरहित ऊर्जा : चीनी (Sugar) खाने के बाद शरीर को अधिक प्रमाण में कैलोरीज तो मिलती है पर शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व / nutrients नहीं मिलते हैं। इसमें प्रोटीन, विटामिन या मिनरल जैसे एक भी आवश्यक तत्व नहीं रहता हैं। अधिक चीनी (Sugar) खाने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती हैं।

2) यकृत / Liver पर दबाव : अगर आप ज्यादा प्रमाण में चीनी खाते है तो लिवर तो यह अतिरिक्त चीनी लिवर में ग्लाइकोजन के रूप में संग्रहित की जाती है और अगर व्यक्ति अधिक क्रियाशील नहीं है तो यह फैट के रूप में लिवर पर जमा हो जाती है। लिवर पर फैट जमा होने से लिवर की कार्यक्षमता पर असर पड़ता है। यह शरीर के लिए खतरनाक साबित हो सकता हैं।

3) डायबिटीज : जब हम कुछ मीठा खाते है तब इस आहार से मिलनेवाले ग्लूकोस को हमारे शरीर के हर पेशी / cells तक पहुचाने का काम इन्सुलिन करता हैं। अधिक चीनी खाने से इन्सुलिन पर अधिक भार पड़ने से इन्सुलिन प्रतिरोध निर्माण हो जाता है। शरीर की पेशी इन्सुलिन के प्रतिरोध के कारण ग्लूकोस का पाचन नहीं कर पाती है और परिणामतः रक्त में ग्लूकोस की मात्रा सामान्य से कई ज्यादा बढ़ जाती है और व्यक्ति को डायबिटीज हो जाता हैं।

4) कर्करोग / कैंसर : वैज्ञानिकों का कहना है की शरीर में सामान्य से अधिक इन्सुलिन की मात्रा रहने से भी कैंसर होने का खतरा बढ़ता हैं। अधिक चीनी खाने से उसे पचाने के लिए शरीर में अधिक इन्सुलिन निर्माण होता है। जो लोग अधिक चीनी खाते है उनमे अंडाशय, गर्भाशय और अन्ननलिका का कैंसर होने का खतरा दोगुना होता हैं।

5) लत / Addiction : जिस तरह किसी व्यक्ति शराब या धूम्रपान की लत लगती है ठीक उसी तरह अगर कोई व्यक्ति अधिक चीनी खाता है तो उसे बार-बार चीनी या मीठा खाने की लत लग जाती हैं। यह इसलिए होता है क्योंकि अधिक चीनी खाने से दिमाग से डोपामाइन हॉर्मोन का अधिक स्त्रवण होता हैं जिससे व्यक्ति को लत लग जाती हैं। अधिक चीनी या मीठा खाने से फिर मोटापा, डायबिटीज या ह्रदय रोग जैसे गंभीर दुष्परिणाम का सामना करना पड़ता हैं।

6) मोटापा : चीनी का अधिक सेवन करने से व्यक्ति मोटापे से पीड़ित हो सकता हैं। जैसे की हमने ऊपर पढ़ा है की चीनी से हमें केवल ग्लूकोस मिलता पर पोषक तत्व बिलकुल भी नहीं मिलते हैं। अगर अधिक चीनी सेवन करने वाला व्यक्ति किसी प्रकार का व्यायाम नही करता है या आरामदायक जीवन जीता है तो उनमे मोटापा होना तय होता हैं।

7) ह्रदय रोग : कई शोध में यह निष्कर्ष निकला है की अधिक चीनी खाने से रक्त में कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड और LDL की मात्रा बढ़ जाती हैं जिसके कारण ह्रदय रोग होने का खतरा 60% तक बढ़ जाता हैं।

8) अस्थमा : 2012 में ऑस्ट्रेलिया में हुए एक शोध में यह पता चला है की जो बच्चे अधिक मीठे पेय या चीनी का सेवन करते है उनमे अस्थमा होने का खतरा अन्य बच्चों की तुलना में अधिक होता हैं।

9) पाचन : अधिक मीठा या चीनी (Sugar) का सेवन करने से पाचन कमजोर हो जाता है और शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति कमजोर हो जाती हैं।

10) बुढ़ापा : यह प्रमाणित हो चूका है की डायबिटीज के रोगियों में बुढ़ापा जल्दी आ जाता हैं। जो लोग अधिक चीनी (Sugar) का सेवन करते है उनके शरीर में एमिनो एसिड्स से ग्लूकोस जुड़ने से त्वचा की रंगत जल्द फीकी पड़ जाती है और व्यक्ति कम उम्र में ही बूढ़े लगना शुरू हो जाते हैं।

11) याददाश्त : अमेरिका में हुए संशोधन में यह पता चला है की जो बच्चे अधिक चीनी (Sugar) का सेवन करते है ऐसे बच्चों की आकलन शक्ति और याददाश्त कमजोर रहती हैं।

12) दन्त रोग : जो लोग अधिक चीनी (Sugar) खाते है ऐसे व्यक्तिओ में दन्त रोग होने की संभावना तीन गुना अधिक होती हैं। अधिक ग्लूकोस के कारण दांत में बैक्टीरिया अधिक पैदा होते है जो दांत में कैविटी जैसे दन्त विकार निर्माण करते हैं।

इसके अलावा अधिक मीठा या चीनी (Sugar) खाने के और भी प्रतिकूल परिणाम शरीर पर होते हैं। अपने शरीर को स्वस्थ और सशक्त रखने के लिए हमें चीनी की जगह मीठे फल को प्राधान्य देना चाहिए। अपने बच्चों को भी आप अभी से ही स्वास्थ्यकर आदत डालें जिससे भविष्य में उन्हें कोई तालीफ़ न हो।
अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !
loading...

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.