सोरायसिस जिसे अंग्रेजी में Psoriasis कहते हैं, एक ऐसा चर्म रोग हैं जिसमे त्वचा के ऊपर मोटी परत (Plaques) जम जाती हैं। यह बीमारी कभी भी किसी को भी हो सकती हैं। यह चमड़ी की बीमारी ठीक करने में बेहद मुश्किल है और कई बार ईलाज के बाद इसे ठीक हुआ समझ लिया जाता हैं जबकि यह रह-रहकर सिर उठा लेता हैं।

भारत के लगभग 1% जनसँख्या यानी की करीब-करीब 1.2 करोड़ लोग इस रोग से पीड़ित हैं। Psoriasis सामान्यतः हमारी त्वचा पर लाल रंग की सतह के रूप में उभरकर आती हैं और सिर के बालों के निचे, हाथ-पाँव, हाथ की हथेलियाँ, पाँव के तलवे, कोंहनी, घुटनों और पीठ पर अधिक होती हैं।

Psoriasis के कारण, लक्षण और उपचार संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

Psoriasis-causes-Diagnosis-Symptoms-Hindi
Psoriasis क्यों होता हैं ?

Psoriasis होना का कोई ठोस कारण अभी तक पता नहीं चला हैं। Psoriasis के 10% मामलों में रोगियों के परिवार में किसी को यह रोग रहता हैं। Psoriasis वंशानुगत (Hereditary) रोगों की श्रेणी में आनेवाली बीमारी हैं। इसके अलावा इसके कई और कारण भी हो सकते हैं जैसे की बिगड़ी हुई रोग प्रतिकार शक्ति, auto immune और असंतुलित आहार।
  • यह बीमारी नवजात शिशु से लेकर वृद्धों को भी हो सकती हैं। 
  • Psoriasis छूत की बीमारी / contagious नहीं है और यह छूने से, हाथ मिलाने से या गले मिलने से नहीं फैलती हैं। 
  • यह बीमारी अक्सर 20 से 30 वर्ष के आयु में प्रकट होती हैं। 
  • एक बार ठीक होने के बाद कुछ समय पश्च्यात यह पुनः उभरकर आ सकता हैं। 
  • ग्रीष्म ऋतू (Summer) की अपेक्षा शीत ऋतू (Winter) में इसका असर / फैलाव अधिक होता हैं।   
  • आयुर्वेद के अनुसार वात और कफ यह दो दोष के दूषित होने से Psoriasis होता हैं। विरुद्ध अन्न खाने की वजह से दोष दूषित होकर Psoriasis होता हैं। 
सामान्यतः हमारे शरीर की त्वचा एक महीने के अंतराल में बदल जाती हैं। हर महीने धीरे-धीरे त्वचा का उपरी स्तर निकल कर नयी त्वचा आती हैं। Psoriasis रोग में यह क्रिया एक महीने की जगह केवल 4 से 5 दिन में होती हैं और इसी कारण अपरिपक्व त्वचा के स्तर तैयार होकर चमड़ी पर मोटी चमकीली परत जम जाती हैं।

कुछ अन्य कारणों के वजह से भी Psoriasis का प्रभाव बढ़ सकता है, जैसे की :
  1. तनाव / Stress : त्वचा विशेषज्ञ अपने अनभुव से यह कहते है की निरंतर तनाव के कारण भी Psoriasis का फैलाव और इसकी तीव्रता में वृद्धि होती हैं। 
  2. संक्रमण / Infection : कई मामलों में विशेष कर बालकों में गले के Streptococcal संक्रमण का समय पर उपचार न करने पर Psoriasis का फैलाव होते हुए दिखाई देता हैं। 
  3. चोट / Injury : कई बार त्वचा पर चोट लगने के कारण चोट की जगह या उसके आस-पास की जगह पर Psoriasis हो सकता हैं। 
  4. दवा / Medicine : कुछ विशेष दवा जैसे की दर्द नाशक दवा, मलेरिया की दवा या रक्तचाप कम करने की Beta blocker दवा लेने से Psoriasis का प्रभाव बढ़ सकता हैं। 
  5. शराब / Alcohol : Alcohol के सेवन करने से Psoriasis का असर बढ़ जाता हैं। 
  6. धुम्रपान / Smoking : नियमित धुम्रपान के कारण Psoriasis हो सकता है या इसके लक्षणों में वृद्धि हो सकती हैं। 
Psoriasis के लक्षण क्या हैं ?

Psoriasis के लक्षण इस प्रकार हैं :
  1. Psoriasis से पीड़ित त्वचा प्राकृतिक चमकविहीन, रुखी-सुखी, फटी हुई और मोटी दिखाई देती हैं। 
  2. खुजली होना। 
  3. सिर में यह रुसी / Dandruff की तरह नजर आते हैं। 
  4. त्वचा की मोटी परत निकालने पर थोडा खून निकलता हैं। 
  5. हाथ और पैर के नाखूनों पर भी Psoriasis हो सकता हैं। Psoriasis के कारण हाथ-पैर के नाख़ून विकृत हो जाते हैं, उनका रंग बदल जाता है और नाख़ून जड़ से निकल भी सकते हैं। 
  6. Psoriasis के पुराने रोगियों में जोड़ो में दर्द और सुजन (Psoriatic Arthritis) जैसे लक्षण नजर आते हैं। 
Psoriasis का निदान / Diagnosis कैसे किया जाता हैं ?

अधिकतर मामलों में Psoriasis का निदान करना बेहद आसान होता हैं। 
  1. शारिरीक जांच / Physical Examination : त्वचा रोग विशेषज्ञ आपके लक्षणों की जानकारी और त्वचा, सिर की चमड़ी या नाख़ून की जांच कर Psoriasis का निदान आसानी से कर सकते हैं। 
  2. Biopsy : कुछ मामलों में Psoriasis के प्रकार का निदान करने के लिए डॉक्टर आपके त्वचा का छोटा सा नमूना लेकर उसे Microscope के निचे परिक्षण करते हैं। 
  3. रक्त परिक्षण / Blood Test : Psoriasis का निदान करने के लिए और Psoriasis के ईलाज में उपयोग की जानेवाली दवा आपको दे सकते हैं या नहीं यह देखने के लिए आपके रक्त की जांच की जाती हैं। 
  4. क्ष-किरण / X-Ray : Psoriasis के कारण होनेवाले Arthritis का निदान करने के लिए आपके पीड़ित joint का X-Ray किया जाता हैं। 
Psoriasis के कितने प्रकार हैं ?

Psoriasis के अधिकतर मामलों में किसी व्यक्ति को एक समय में एक ही प्रकार का Psoriasis होता है। Psoriasis के ठीक होने पर आपको अन्य प्रकार का Psoriasis हो सकता हैं। Psoriasis के विभिन्न प्रकारों की जानकारी निचे दी गयी हैं। 
  1. Plaque Psoriasis - Psoriasis का यह सबसे आम प्रकार हैं।  Psoriasis के इस प्रकार को त्वचा रोग विशेषज्ञ Psoriasis Vulgaris भी कहते हैं। Psoriasis के इस प्रकार में कोहनी, घुटने, सिर की त्वचा और पीठ पर चमड़ी पर लाल, मोटी परत जम जाती हैं जिसमे सूजन और दर्द होता हैं। 
  2. Guttate Psoriasis - गले के संक्रमण, तनाव, चोट या दवा जैसे Psoriasis के triggers के कारण हाथ, जांघ या सिर पर गोल निशान बन जाते हैं। यह अक्सर बिना किसी ईलाज के भी 2 से 4 हफ़्तों में ठीक हो जाते हैं।  
  3. Inverse Psoriasis - ईस प्रकार के Psoriasis में बगल, groin, स्तन के निचले हिस्से या चमड़ी के fold के हिस्सों में लाल, चमकीले चट्टे तैयार हो जाते हैं। अधिक पसीने या घिसने के कारण यह बढ़ जाते हैं। 
  4. Pustular Psoriasis - यह एक प्रकार का गंभीर Psoriasis का प्रकार है जिसमे पुरे शरीर में छाले बन जाते हैं जिसमे मवाद / pus भरा रहता हैं। समय पर ईलाज न करने पर बुखार, जी मचलाना, कमजोरी और बदन दर्द जैसे लक्षण नजर आते हैं। 
  5. Erythrodermic Psoriasis - इस प्रकार के Psoriasis में शरीर के 80% हिस्से तक इसका फैलाव हो जाता हैं। इस प्रकार में शरीर का तापमान बदल जाता है, ह्रदय गति तेज हो जाती है और जलन के साथ त्वचा की परत निकलती हैं। इस गंभीर Psoriasis में तुरंत डॉक्टर से ईलाज न करने पर रोगी की मृत्यु हो सकती हैं। 
  6. Nail Psoriasis - इसमें रोगी के हाथ और पैर के नाखुनो में Psoriasis फैलने से नाख़ून विकृत हो जाते है और अपने जड़ से निकल भी सकते हैं। 
  7. Psoriatic Arthritis - 10 वर्ष से अधिक Psoriasis होने पर इसके दुष्प्रभाव के कारण शरीर के जोड़ / joints में दर्द और सूजन आ जाती हैं जिसके के कारण रोगी व्यक्ति की दैनंदिन गतिविधि में मुश्किल आ जाती हैं। 
Psoriasis के अधिकतर मामलों में लंबे समय तक उपचार कराना होता हैं। Psoriasis के उपचार और एहतियात संबंधी सम्पूर्ण जानकारी पढ़े के लिए यहाँ क्लिक करे - Psoriasis का उपचार और बचने के उपाय

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share जरुर करे !
loading...

Post a Comment

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.