आज भारत में बढ़ते प्रदुषण और लोगों की बिगड़ती जीवनशैली के कारण अस्थमा के रोगियों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही हैं। आज लगभग हर आयुवर्ग के लोगों में अस्थमा के रोगी पाए जाते हैं। अस्थमा को मेडिकल भाषा में Bronchial Asthma कहते हैं। आयुर्वेद में इस रोग का सम्पूर्ण वर्णन श्वास रोग के अंतर्गत किया गया हैं। 

मुख्यतः असथमा की तकलीफ किसी चीज की एलर्जी की वजह से होती हैं। कई लोग केवल अस्थमा बीमारी का नाम सुनकर ही घबरा जाते हैं। अस्थमा रोग की पूरी जानकारी न होने के कारण लोगों में इस बीमारी का डर बैठ चूका हैं। 

आज इस लेख में हम आपको अस्थमा क्या हैं और यह क्यों होता है इसकी अधिक जानकारी दे रहे हैं :

अस्थमा क्या है और अस्थमा क्यों होता हैं ?
Asthma Causes in Hindi

1. अस्थमा क्या होता है ? Asthma in Hindi

  • अस्थमा दमा या हफ्नी को कहते है l इस रोग में सांस लेने में तकलीफ होती है l 
  • यह श्वसन नलिका की एक बीमारी है जो अकसर आजीवन रहती है l

2. अस्थमा क्यों  होता है  ? Causes of Asthma in Hindi 

अस्थमा होने के मुख्य  कारण कुछ इस  प्रकार है l

अ) संवेदनशील  होना (Allergy) 
  • साँस लेते समय बाहरी वातावरण से कण फेफड़े (Lungs)के अंदर पहुच जाते है l 
  • सामान्य स्थिति में हमारा शरीर ऐसे कण को खांसी से बलगम के द्वारा बाहर निकाल देता है l
  • अस्थमा के मरीज में ऐसे बाहरी कण के विरुद्ध अत्याधिक और गाढ़ा बलगम बनता  है l 
  • ऐसे बाहरी कण को एलेर्जन (Allergen)कहते है,क्योंकि उनसे अस्थमा के मरीज को एलेर्जी (Allergy) होती है l 
ब) सुजन होना  (Inflammation)
  • साँस के नली में सुजन आने के कारण अस्थमा के मरीज को साँस लेने में तकलीफ होती है l 

क) संकरा / संकीर्ण होना   (Narrow Airway)
  • श्वसन नलीका के चारो तरफ मांस पेशीया  होती है l 
  • सामान्य स्थिति में मांस पेशीया ढीले पड़े रहती है , लेकिन अस्थमा के रोगी में अस्थमा के हमले के दौरान यह मांसपेशिया श्वसन नलिका को चारो तरफ से कस देते है l 
  • इस कारण साँस की नली संकीर्ण /छोटी हो जाती है l
Asthma-causes-in-Hindi

अभी तक हमने अस्थमा क्या होता है और अस्थमा के कारण क्या होता है यह जाना है l अस्थमा से जुडी हर जानकारी हमने इस ब्लॉग पर दी हैं। अस्थमा संबंधी संपूर्ण जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे - अस्थमा   
अस्थमा को जड़ से मिटाना मुश्किल है पर आप इस काबू में रख सकते हैं। 

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook या Tweeter account पर share करे !

loading...
Labels:

Post a Comment

  1. Nice informative article.
    Keep it up.

    ReplyDelete
  2. Replies
    1. Thanks for the reply.Kindly share the info with others.
      Keep visiting :-)

      Delete

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.